Home /News /lifestyle /

Work place issue : ऑफिस में बॉस से मधुर संबंध बनाने हो तो अपनाएं ये 5 तरीके

Work place issue : ऑफिस में बॉस से मधुर संबंध बनाने हो तो अपनाएं ये 5 तरीके

अपने बॉस के साथ एक गुणवत्तापूर्ण बातचीत करना स्पष्ट रूप से एक बेहतरीन विकल्प होता है.

अपने बॉस के साथ एक गुणवत्तापूर्ण बातचीत करना स्पष्ट रूप से एक बेहतरीन विकल्प होता है.

अपने बॉस के साथ एक गुणवत्तापूर्ण बातचीत करना स्पष्ट रूप से एक अच्छा तरीका है. जिससे आप बेहतर रिश्ते को बढ़ावा दे सकते हैं. हालांकि, इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि जब वे आपसे उम्मीद नहीं कर रहे हों किसी तरह के सुझाव की तब भी आप उन्हें सलाह दें. वास्तव में, लगातार आपके सुझाव देने का नकारात्मक प्रभाव भी देखने को मिल सकता है. बेहतर विकल्प यह है कि निर्धारित समय सीमा में उनके साथ उचित रूप से निर्धारित मीटिंग करें.

अधिक पढ़ें ...

    Work place issue : ऑफिस में कर्मचारी और बॉस (Employee and Boss) के बीच मधुर संबंध होना सभी पक्षों के लिए एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. अगर आप अपने बॉस से अच्छे कामकाजी रिश्ते बनाकर रखते हैं तो इसका सकारात्मक प्रभाव आपके करियर (Career) ग्रोथ पर पड़ता है. बॉस से हेल्दी रिलेशन बनाने का यह मतलब कतई नहीं है कि आप इस बात का फायदा उठाएं. हमेशा ध्यान रखें कि आप अच्छे कर्मचारी तभी कहलाएंगे जब आप अपनी सीमा में रहकर काम करेंगे, काम के प्रति सजग रहेंगे. वहीं बॉस के लिए भी ये जरूरी है कि वो भी अपने कर्मचारी के साथ अपने रिश्ते (Relation) को हेल्दी रखें. दोनों के बीच मधुर संबंध आपके वर्क प्लेस के लिए फायदेमंद सिद्ध होगा साथ ही इसके सकारात्मक प्रभाव पड़ेंगे. आइए जानते हैं कैसे बनाएं बॉस से मधुर संबंध.

    1. पहल करें
    ऊपरी प्रबंधन हमेशा ऐसे कर्मचारियों की तलाश में रहता है और उन्हें पुरस्कृत करता है जो प्रोजेक्ट मिलने पर इनोवेटिव और प्रोएक्टिव होते हैं. अपने उत्साह और नए विचारों को प्रदर्शित करें इससे पता चलता है कि आप ऐसे व्यक्ति नहीं हैं जो सिर्फ इसलिए आए क्योंकि आप उनकी कंपनी में हैं. बल्कि इसलिए क्योंकि कंपनी को आपके कारण फायदा होगा.

    2. बॉस से चर्चा करें
    अपने बॉस के साथ एक गुणवत्तापूर्ण बातचीत करना स्पष्ट रूप से एक अच्छा तरीका है. जिससे आप बेहतर रिश्ते को बढ़ावा दे सकते हैं. हालांकि, इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि जब वे आपसे उम्मीद नहीं कर रहे हों किसी तरह के सुझाव की तब भी आप उन्हें सलह दें. वास्तव में, लगातार आपके सुझाव देने का नकारात्मक प्रभाव भी देखने को मिल सकता है. बेहतर विकल्प यह है कि निर्धारित समय सीमा में उनके साथ उचित रूप से निर्धारित मीटिंग करें. इससे पता चलता है कि आप उनके शेड्यूल का सम्मान करते हैं. इस मीटिंग में मुद्दे पर चर्चा करें और अपने काम पर लग जाएं.

    3. व्यक्तिगत संपर्क करें
    व्यक्तिगत संपर्क का उपयोग करना एक कठिन कार्य हो सकता है. हालांकि, अगर सही तरीके से उपयोग किया जाता है तो यह आपको अपने बॉस के सामने प्रदर्शित करेगा कि व्यवसाय के बारे में बात करना आसान नहीं है. इसका मतलब यह नहीं है कि आप अधिक परिचित हैं. उनके जीवन के बारे में कुछ पूछताछ और अनुचित टिप्पणी करने के बीच एक महीन रेखा है. जो आपके बॉस को असहज महसूस करा सकती है. यहां आपको ध्यान रखना होगा कि आप उनके सप्ताहांत के बारे में या उनके शौक के बारे में न पूछें.

    4. सकारात्मक कार्य नीति बनाए रखें
    यदि आप सबसे अधिक आत्मविश्वासी संचारक नहीं हैं, तो अपने बॉस के साथ अपने संबंधों को बेहतर बनाने के सबसे अच्छे तरीकों में से एक कड़ी मेहनत करना है. यहां तक ​​​​कि अगर आपके बॉस नियमित रूप से ऑफिस नहीं आते हों और वो आपकी टीम का दौरा नहीं करते हों या फिर सीधे आपसे किसी तरह की बात नहीं करते हों तो चिंता न करें. उन तक आपके बारे में जानकारी किसी न किसी के जरिए पहुंच जाएगी. कहावत है न “शब्दों से अधिक आपका काम बोलता है”.

    5. प्रतिक्रिया लें, गोल सेट करें
    अपने बॉस से फीडबैक मांगना कई काम करता है. बॉस के दृष्टिकोण से, यह दर्शाता है कि आप प्रोजेक्ट और अपने भविष्य के प्रदर्शन के बारे में ध्यान रखते हैं, यह जानना चाहते हैं कि कैसे सुधार किया जाए. यह दर्शाता है कि आप को सौंपे गए प्रोजेक्ट्स को नहीं कर रहे हैं क्योंकि यह आपका काम है, बल्कि इसलिए कि आप वास्तव में अपने काम में इन्वॉल्व हैं, और काम को सफल होने में मदद कर सकते हैं. बॉस और कर्मचारी दोनों के पास ऐसी चीजें हैं जो वे हासिल करना चाहते हैं, दोनों व्यक्तिगत रूप से अपने करियर के संबंध में और आमतौर पर कंपनी के लक्ष्यों के संदर्भ में. यह सुनिश्चित करना कि आप अपने बॉस के लक्ष्यों से अवगत हैं और वे आपके बारे में जानते हैं, आपके रिश्ते की प्रभावशीलता और आपके करियर की उन्नति में भारी अंतर ला सकता है. अपने बॉस को यह बताना कि आपकी योजनाएँ क्या हैं और आप कितनी तेज़ी से इन लक्ष्यों को प्राप्त होते हुए देखते हैं. कंपनी या आपके बॉस से आप जो चाहते हैं, उसके बारे में खुल कर बात करें. उन्हें उम्मीद होना चाहिए कि आप महत्वाकांक्षी, ईमानदार और आगे की सोच वाले हैं.

    Tags: Lifestyle, Relationship

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर