लाइव टीवी

World Diabetes Day 2019: डायबिटीज की दवा है इस जानवर का दूध, जानें फायदे

News18Hindi
Updated: November 9, 2019, 6:44 PM IST
World Diabetes Day 2019: डायबिटीज की दवा है इस जानवर का दूध, जानें फायदे
भारत में कई लोगों ने दावा किया है कि केवल एक महीने लगातार ऊंटनी का दूध पीने से शुगर कंट्रोल हो गया है.

ऊंटनी के दूध में विटामिन सी गाय के दूध की तुलना में तीन गुना ज्यादा और आयरन की मात्रा 10 गुना ज्यादा होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2019, 6:44 PM IST
  • Share this:
डायबिटीज को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए हर साल 14 नवंबर को वर्ल्ड डायबिटीज डे मनाया जाता है. ऐसे में इस बीमारी, इसके लक्षण और रोकथाम के उपाय के बारे में जानना बेहद जरूरी है. डायबिटीज यानी मधुमेह एक ऐसी समस्या है जिसमें शरीर में इंसुलिन नाम का हॉर्मोन ज्यादा मात्रा में बनने लगता है या फिर ये हॉर्मोन नियंत्रित नहीं रहता. इसके परिणाम स्वरूप शरीर का मेटाबॉलिज्म असमान्य रहने लगता है और खून में शुगर का लेवल बढ़ जाता है. कहा जाता है कि इस बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए कोई उपाय नहीं है लेकिन यदि हम खून में शुगर के मात्रा को कंट्रोल कर लें तो आराम से सामान्य जीवन जिया जा सकता है.

इसे भी पढ़ेंः क्या आप अपने मोटापे से परेशान हैं? अब बैंगन वजन घटाने में करेगा मदद

ऊंटनी का दूध सुपर फूड

शरीर में शुगर के लेवल को कंट्रोल करने के लिए कुछ खास चीजों का सेवन करना बहुत जरूरी होता है. क्या आपको पता है कि डायबिटीज में ऊंटनी का दूध पीना बहुत लाभदायक होता है. आइए आपको बताते हैं इस दूध के गुणों के बारे में. ऊंटनी के दूध में विटामिन सी गाय के दूध की तुलना में तीन गुना ज्यादा और आयरन की मात्रा 10 गुना ज्यादा होती है. इसमें विटामिन ए, विटामिन बी2 और लैक्टज कम मात्रा में होता है लेकिन पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन, तांबा, मैगनीज, सोडियम और जस्ता बड़ी मात्रा में होता है. विदेशों में ऊंटनी के दूध पर कई प्रमाणिक शोध हो चुके हैं जिसके बाद इसे सुपर फूड माना जाने लगा है.

ऊंटनी के दूध में 52 यूनिट इंसुलिन की मात्रा

यूनाइटेड अरब एमीरेट्स यूनिवर्सिटी में ऊंटनी के दूध पर हुआ शोध बताता है कि ये डायबिटीज से लेकर कैंसर जैसी बीमारियों को रोकने में बेहद कारगर है. उसमें जबरदस्त न्यूट्रीशियन और चिकित्सीय गुण पाए गए हैं. सऊदी अरब, अफ्रीका और खाड़ी के देशों में ऊंटनी का दूध काफी पीया जाता है. वहां डायबिटीज दुनियाभर में सबसे कम होता है. भारत में भी कई लोगों ने दावा किया है कि केवल एक महीने लगातार इस दूध का सेवन करने से शुगर कंट्रोल हो गया. एक लीटर ऊंटनी के दूध में 52 यूनिट इंसुलिन की मात्रा होती है, लिहाजा ये डायबिटीज को दूर करने में प्राकृतिक तौर पर काफी कारगर पाया गया.

मंद बुद्धि बच्चों के लिए अमृत के समान
Loading...

इंसुलिन शरीर में प्रतिरोधक क्षमता तैयार करता है और डायबिटीज जैसी बीमारियां ठीक करता है. टाइप-1 और टाइप-2 डायबिटीज में ऊंटनी के दूध का लगातार सेवन करने से डायबिटीज को काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है. वहीं बीकानेर के राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केंद्र ने एक स्टडी कराई थी जिसमें इस बात की पुष्टि की गई कि ऊंटनी का दूध मंद बुद्धि बच्चों के लिए अमृत के समान होता है. जिस कारण ऑटिज्म जैसी बीमारियां और मानसिक विकार ठीक हो जाते हैं. इस कारण राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केंद्र ने ऊंटनी के दूध से बने कई तरह के उत्पाद भी बाजार में उतार दिए हैं.

इसे भी पढ़ेंः वजन घटाने से लेकर झुर्रियां भगाने तक सर्दियों के इन 5 साग के हैं ये खास फायदे

क्यों है बेहतर

  • ऊंटनी के दूध में फैट की मात्रा गाय के दूध की तुलना में लगभग आधी होती है.

  • कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी कम होती है जिस वजह से यह दिल के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद है.

  • ऊंटनी के दूध में लैक्टोज की मात्रा काफी कम होती है जिस वजह से ये काफी आसानी से पच जाता है. अगर आप लैक्टोज इनटोलरेंट हैं तो आप गाय के दूध की बजाय ऊंट का दूध पी सकते हैं.

  • ऊंटनी के दूध में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा काफी ज्यादा होती है. अगर गाय के दूध से इसकी तुलना की जाए तो इसमें विटामिन सी की मात्रा लगभग तीन गुना ज्यादा होती है.

  • ऊंटनी के दूध में गाय के दूध की तुलना में प्रोटीन की मात्रा बहुत ज्यादा होती है. इसलिए अगर आप खासतौर पर प्रोटीन का सेवन करना चाहते हैं तो इस लिहाज से ऊंट का दूध ज्यादा फायदेमंद है.

  • ये आपके इम्युनिटी पॉवर को मजबूत करता है और कई तरह की बीमारियों और संक्रमण से बचाता है.ये कैंसर, स्किन से जुड़ी बीमारियां, एलर्जी और डायबिटीज जैसी बीमारियों से भी बचाता है.

  • ऊंटनी के दूध में कैल्शियम काफी मात्रा में होता है, ये हड्डियां मजबूत बनाने में सहायक है. यह खून से सारे टॉक्सिन्स दूर कर लिवर को साफ करता है.


Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 6:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...