लाइव टीवी
Elec-widget

World Disability Day 2019: क्यों मनाया जाता है विश्व विकलांगता दिवस, जानें कारण

News18Hindi
Updated: December 3, 2019, 12:13 PM IST
World Disability Day 2019: क्यों मनाया जाता है विश्व विकलांगता दिवस, जानें कारण
संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 1981 को 'विकलांग व्यक्तियों का अंतर्राष्ट्रीय वर्ष' घोषित किया था.

विकलांगता दिवस, विकलांग व्यक्तियों के प्रति संवेदना, आत्म-सम्मान और उनके जीवन को बेहतर बनाने के समर्थन के उद्देश्य से मनाया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2019, 12:13 PM IST
  • Share this:
हर साल 3 दिसंबर को दुनियाभर में विश्व विकलांगता दिवस (World Disability Day 2019) मनाया जाता है. इस दिन को मुख्य रूप से दिव्यांगों के प्रति लोगों के व्यवहार में बदलाव लाने और उन्हें उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए मनाया जाता है. दुनियाभर में विश्व विकलांग दिवस की शुरुआत 1992 में हुई थी. विकलांग दिवस, विकलांग व्यक्तियों के प्रति संवेदना, आत्म-सम्मान और उनके जीवन को बेहतर बनाने के समर्थन के उद्देश्य से मनाया जाता है.

इसे भी पढ़ेंः जोड़ों के दर्द में इन 5 चीजों से मिलेगा आराम, आप भी जान लें नाम

विश्व विकलांगता दिवस का इतिहास
संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 1981 को 'विकलांग व्यक्तियों का अंतर्राष्ट्रीय वर्ष' घोषित किया था. इसके बाद राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विकलांग लोगों के लिए पुनरुद्धार, रोकथाम, प्रचार और बराबरी के मौकों पर जोर देने के लिए एक योजना की शुरुआत की गई. विकलांग व्यक्तियों के अंतरराष्ट्रीय उत्सव के लिए पूर्ण सहभागिता और समानता की थीम का चुनाव किया गया था.

इस थीम के तहत समाज में दिव्यांगों को बराबरी के अवसर, उनके अधिकारों के बारे में लोगों को जागरूक करने और सामान्य नागरिकों की तरह उनकी सेहत पर भी ध्यान देने के साथ साथ सामाजिक-आर्थिक स्थिति को सुधारने पर ध्यान केंद्रित किया गया था.

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 1983 से 1992 को विकलांगों के लिए संयुक्त राष्ट्र के दशक की घोषणा की थी ताकि वो सरकार और संगठनों को विश्व कार्यक्रम में अनुशंसित गतिविधियों को लागू करने के लिए एक लक्ष्य प्रदान कर सकें. इसके बाद से ही 1992 से 3 दिसंबर, विश्व दिव्यांग दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.

विश्व विकलांगता दिवस 2019 की थीम
Loading...

यूनाइटेड नेशन्स की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक इस साल दिव्यांग दिवस की थीम 'विकलांग व्यक्तियों के नेतृत्व और उनकी भागीदारी को बढ़ावा देना: 2030 के विकास के एजेंडे में एक्शन लेना' है. यह विषय 2030 एजेंडा में समावेशी, समान और सतत विकास के लिए विकलांग व्यक्तियों के सशक्तीकरण पर केंद्रित है, जो किसी को पीछे नहीं छोड़ने का संकल्प करता है और दिव्यांग लोगों को क्रॉस-कटिंग के मुद्दों के रूप में मान्यता देता है.

इसे भी पढ़ेंः ठंड के मौसम में क्यों खानी चाहिए किशमिश, आज ही जान लें इसके पीछे का कारण

विश्व विकलांगता दिवस मनाने की जरूरत
अधिकतर लोग यह नहीं जानते हैं कि उनके आसपास में कितने दिव्यांग लोग हैं. समाज में उन्हें उनके अधिकार मिल रहे हैं या नहीं. अच्छी सेहत और आत्म सम्मान पाने के लिए उन्हें समाज में मौजूद अन्य लोगों की मदद की जरूरत है लेकिन आमतौर पर लोग ऐसा करते नहीं है. इसलिए उनकी वास्तविक स्थिति के बारे में सामान्य लोगों को बताने और जागरूक करने के लिए विश्व विकलांग दिवस मनाया जाता है.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 12:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...