World Vision Day 2020: 5 आदतें जो आंखों की सेहत रखेंगी बरकरार

स्वस्थ जीवन शैली आंखों की समस्याओं के जोखिम को कम कर सकती है.
स्वस्थ जीवन शैली आंखों की समस्याओं के जोखिम को कम कर सकती है.

World Vision Day 2020: 8 अक्टूबर को दुनिया भर में वर्ल्ड विजन डे (World Vision Day) मनाया जाएगा. यह एक वैश्विक कार्यक्रम है, जिसका उद्देश्य दृष्टि दोष पर ध्यान आकर्षित करना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2020, 5:37 PM IST
  • Share this:
8 अक्टूबर को दुनिया भर में वर्ल्ड विजन डे (World Vision Day 2020) मनाया जाएगा. यह एक वैश्विक कार्यक्रम है, जिसका उद्देश्य दृष्टि दोष पर ध्यान आकर्षित करना है. आंखें (Eyes) इंसान के जिस्‍म का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा हैं. आंखों के जरिए इंसान दुनिया की खूबसूरती को देख पाता है. हालांकि आज के बदलते लाइफस्‍टाइल का असर आंखों पर भी पड़ने लगा है और कई तरह की समस्याएं होने लगी हैं. एक स्वस्थ जीवन शैली आंखों की समस्याओं के जोखिम को कम कर सकती है. आंखों की रौशनी बरकरार रखने के लिए जहां कुछ पोषक तत्व बेहद जरूरी हैं, वहीं कुछ एहतियात भी बरतनी बेहद जरूरी हैं. ऐसे में आप भी अपनी आंखों को सेहतमंद रखने और इनकी रौशनी बरकरार रखने के लिए इन टिप्‍स को फॉलो कर सकते हैं.

पौष्टिक आहार करें डाइट में शामिल
आज खासतौर पर शहरों में भाग दौड़ भरी जिंदगी में लाइफस्‍टाइल पूरी तरह बदल गया है. यही वजह है कि कई तरह की बीमारियां होने लगी हैं और इसका असर आंखों पर भी पड़ने लगा है. ऐसे में पौष्टिक और संतुलित आहार बेहद जरूरी है. आंखों के स्वास्थ्य के लिए हरी पत्तेदार सब्जियों, मछली, अंडे, घी, नट्स, दाल, बीन्स संतरे और अन्य खट्टे फलों को अपनी डाइट में शामिल करें.

ये भी पढ़ें - 5 पोषक तत्व जो आंखों की सेहत के लिए हैं बहुत जरूरी
आंखों की करें हिफाजत


सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणे आंखों पर बुरा असर डालती हैं. इसलिए जब भी तेज धूप में बाहर निकलें तो इनसे आंखों का बचाव रखें और यूवी प्रोटेक्टर चश्मे का इस्‍तेमाल करें, क्‍योंकि इन हानिकारक किरणों के संपर्क में आने से मोतियाबिंद आदि की समस्‍या हो सकती है.

स्‍क्रीन से बनाएं दूरी
अगर आपका ज्‍यादातर समय फोन की स्क्रीन पर बीतता है, तो इसे कम कर दें. बहुत देर तक मोबाइल की स्क्रीन देखने के कारण नजर धुंधली हो सकती है. वहीं अगर आप लैपटॉप पर ज्यादा देर तक काम करते हैं, तो इसके लिए एंटी-ग्लेयर स्क्रीन का इस्तेमाल करें. वहीं बीच बीच में कुछ मिनट का ब्रेक भी लेते रहें.

धूम्रपान से हो सकता है नुकसान
धूम्रपान फेफड़े के अलावा आंखों की रौशनी को भी प्रभावित करता है. अगर आप नियमित तौर पर धूम्रपान करते हैं तो यह आपकी आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है. इसलिए आंखों को स्‍वस्‍थ रखना है तो धूम्रपान से दूरी बनाए रखें.

आंखों की जांच कराते रहें
जो लोग लैपटॉप आदि पर काम करते हैं, उन्‍हें आंखों की सुरक्षा का खास ख्‍याल रखना चाहिए. अपनी आंखों की नियमित तौर पर जांच करवाते रहना चाहिए. इससे आंखों में आ रही समस्‍याओं के बारे में आप पहले से जान जाएंगे और इनका उपचार करना आसान होगा. (Dclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज