Home /News /lifestyle /

ये पांच सब्जियां दुनियाभर में मानी जाती हैं सबसे ज्यादा हेल्दी, इनको खाने से बीमारियों से रहेंगे दूर

ये पांच सब्जियां दुनियाभर में मानी जाती हैं सबसे ज्यादा हेल्दी, इनको खाने से बीमारियों से रहेंगे दूर

इन सब्जियों को रोजाना के खानपान में शामिल करके गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है.

इन सब्जियों को रोजाना के खानपान में शामिल करके गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है.

आज हम आपको पांच ऐसी सब्जियों (Vegetables) के बारे में बता रहे हैं, जिनको दुनिया भर में उगाया और खाया जाता है. दुनिया भर के न्यूट्रीशनिस्ट और हेल्थ एक्सपर्ट्स हेल्दी इनको (Healthy Vegetables) मानते हैं.

    सब्जियां(vegetables) और उसमें प्रयोग किये जाने वाले सब्जी मसाले के इंसान केवल स्वाद के लिए नहीं खाता है. ये सब्जियां औषधि की तरह हैं. इनको खाने से इंसान के अंदर कई तरह के विटामिन(Vitamin) के साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है. दुनियाभर में कई तरह की सब्जियां (Vegetables) खाई जाती हैं, जिनको गिगना भी मुश्किल काम है. विभिन्न देशों में अलग-अलग समुदाय के बीच और अलग-अलग मौसम में कई तरह की सब्जियों को खाया जाता है. लेकिन आज हम आपको पांच ऐसी सब्जियों के बारे में बता रहे हैं, जिनको दुनिया भर के सभी देशों में उगाया और खाया जाता है. इस सब्जियों को पूरी दुनिया के न्यूट्रीशनिस्ट और हेल्थ एक्सपर्ट्स हेल्दी (Healthy Vegetables) मानते हैं.

    ऑनली माई हेल्थ डॉटकाम की खबर के अनुसार इन सब्जियों में विशेष पोषक तत्वों (Nutrients), एंटीऑक्सीडेंट्स (Antioxidents) और मिनरल्स (Minerals) काफी मात्रा में पाया जाता है. इससे इंसान का शरीर स्वस्थ रहता है और रोध प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. इन 5 सब्जियों को रोजाना के खानपान (Daily Diet) में शामिल करके गंभीर बीमारियों (Chronic Diseases) से बचा जा सकता है. आइए इनके बारे में जानते हैं.
    लहसुन (Garlic)
    लहसुन को हम सब्जी मसाले के रूप में खाते हैं.इसके अलावा इसके भूल कर ठंड के मौसम में खाया जाता है. लहसुन की खोज हजारों साल पहले ही चीन और मिश्र में की गई थी. भारतीय आयुर्वेद में लहसुन को बहुत ही महत्वपूर्ण औषधि माना गया है. लहसुन में सबसे पावरफुल और सबसे खास कंपाउंड है एलिसिन (Allicin) पाया जाता है. लहसुन में मौजूद एलिसिन के कारण दुनिया भर के सभी देशों में लहसुन खाया जाता है. शोद में पता चला है कि लहसुन खाने से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है, हार्ट अटैक का खतरा कम होता है, LDL कोलेस्ट्रॉल की सफाई हो जाती है. खून में हानिकारक ट्राईग्लिसराइड्स की मात्रा कम होती है और यहां तक कि कैंसर से भी बचाव रहता है.

    पालक (Spinach)
    पालक पदुनिया की सबसे हेल्दी सब्जियों में शामिल है. पालक की गहरे हरे रंग की पत्तियों में बीटा-कैरोटीन और ल्यूटिन जैसे पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं. इन दोनों एंटीऑक्सीडेंट्स से कैंसर का खतरा कम होता है. इसके अलावा पालक विटामिन ए का सबसे अच्छा स्रोत है, जिसके कारण पालक खाने से आंखें लंबी उम्र तक स्वस्थ रहती हैं. सिर्फ 30 ग्राम पालक खाकर ही आप अपने डेली विटामिन A की डोज का 56% हिस्सा पा सकते हैं. इसके अलावा पालक में विटामिन K भी होता है और कैलोरीज बहुत कम होती हैं. पालक खाने से भी हार्ट की बीमारियां और ब्लड प्रेशर का खतरा कम होता है.

    ये भी पढ़ें- सिर दर्द की समस्या से है परेशान? अपनाएं ये पांच घरेलू उपाय

    ब्रोकली (Broccoli)
    ब्रोकली को हेल्दी सब्जियों की लिस्ट में गिना जाता है. इसका कारण यह है कि ब्रोकली में 2 सबसे खास कंपाउंड होते हैं, जिन्हें ग्लूकोसाइनोलेट (Glucosinolate) और सल्फोराफेन (Sulforaphane) कहते हैं. दोनों कंपाउंड्स कैंसर को रोकने में मदद करते हैं. ब्रोकली खाने से क्रॉनिक बीमारियों का खतरा भी कम होता है. ब्रोकली में ढेर सारे पोषक तत्वों के साथ फाइबर खासी मात्रा में होता है. एक कप ब्रोकली खाने से आपको अपनी दैनिक जरूरत का 116% विटामिन K मिलता है और 135% विटामिन C मिलता है. इसके अलावा ब्रोकली में फॉलेट, पोटैशियम, मैंग्नीज आदि मिनरल्स होते हैं, जो दिल की बीमारियों से आपको बचाते हैं.

    हरा मटर (Green Peas)
    मटर एक सीजनल सब्जी है, इसलिए लोग इसको सीजन में ही खाते हैं. इसके पोषक तत्वों और फायदों के बारे में लोग कम ही जानते हैं. हरे मटर में स्टार्च ज्यादा होता है इसलिए इसमें कार्ब्स और कैलोरीज थोड़ी ज्यादा होती हैं. एक कप मटर खाने से आपको लगभग 9 ग्राम फाइबर और 9 ग्राम ही प्रोटीन मिलता है. इसके अलावा मटर में विटामिन A, विटामिन K, विटामिन C, नियासिन, फॉलेट, थायमिन, राइबोफ्लेविन जैसे तत्व होते हैं. रिसर्च में यह बात सामने आई है कि मटर के सेवन से कैंसर सेल्स का बढ़ना न सिर्फ कम हो जाता है बल्कि ये कैंसर सेल्स को मार भी सकती है.

    स्वीट पोटैटो (शकरकंद)
    शकरकंद के नाम में ही कंद है. हमारे यहां आने वाली सफेद शकरकंद से कहीं ज्यादा ऑरेंज कलर वाली शकरकंद हेल्दी होती है. इसे दुनियाभर में स्वीट पोटैटो के नाम से जाना जाता है. ये स्वीट पोटैटो भी विटामिन ए और बीटा-कैरोटीन का बहुत अच्छा स्रोत माना जाता है. बीटा-कैरोटीन को फेफड़ों और ब्रेस्ट कैंसर से बचाने में बड़ा महत्वपूर्ण माना जाता है. एक मीडियम साइज के शकरकंद को खाने से आपको 4 ग्राम फाइबर, 2 ग्राम प्रोटीन, विटामिन B6, मैंग्नीज, पोटैशियम, विटामिन C आदि मिलता है.

    Tags: Corona, Health, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर