ज़रूरत से ज्यादा ज्महाई आती है तो हो जाएं सावधान!

कुछ लोगों को जरूरत से ज्यादा जम्हाई आने लगती हैं. अगर आप इन्हीं कुछ लोगों में हैं तो थोड़ा सोचने की जरूरत है

News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 5:22 PM IST
ज़रूरत से ज्यादा ज्महाई आती है तो हो जाएं सावधान!
कुछ लोगों को जरूरत से ज्यादा जम्हाई आने लगती हैं. अगर आप इन्हीं कुछ लोगों में हैं तो थोड़ा सोचने की जरूरत है
News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 5:22 PM IST
नींद आने पर या ज्यादा थक जाने पर जम्हाई आना आम बात है लेकिन कुछ लोगों को जरूरत से ज्यादा जम्हाई आने लगती हैं. अगर आप इन्हीं कुछ लोगों में हैं तो थोड़ा सोचने की जरूरत है.  जम्हाई का कनेक्शन हमारी हेल्थ से होता है. कई बार स्वास्थ्य से संबंधित समस्या होने के चलते जम्हाई ज्यादा आने लगती है. इसलिए आइए जानते हैं कि जम्हाई किस तरह की बीमारियों का संकेत देता है.

  • ये लीवर खराब होने के संकेत हो सकते हैं-  इस स्थिति में शरीर को बहुत ज्यादा थकावट होने लगती है. थकान महसूस होने पर जम्हाई आती है. ऐसे में जब भी आपको ज्यादा जम्हाई आने लगे तो अपने लीवर का चेकअप जरूर करवाएं. इसके अलावा बार-बार जम्हाई आना हाईपोथाइरॉयड होने का संकेत भी हो सकता है. शरीर में थाइरॉयड हॉर्मोन कम बनने पर ऐसा होता है.

  • ब्रेन स्टेम जख्म हो सकती है एक वजह- कुछ रिसर्च में यह भी पता चला है कि ब्रेन स्टेम जख्म की वजह से ज्यादा जम्हाई आने लगती हैं. पिट्यूटरी ग्लैंड दब जाने के कारण भी उबासी आती है. ऐसे में डॉक्टर से जरूर सलाह लें. इसके अलावा तनाव के कारण बीपी बढ़ जाता है और धड़कनों की गति कम हो जाती हैं. ऐसा होने पर ऑक्सीजन ब्रेन तक नहीं पहुंच पाता. इस स्थिति में उबासी के जरिए शरीर में ऑक्सीजन पहुंचती है. ऐसी हालत में ज्यादा जम्हाई आने पर डॉक्टर से सलाह जरूर लें.


  • डायबिटिज में हाइपोग्लाइसीमिया के शुरुआत का संकेत - ज्यादा जम्हाई आना डायबिटिज में हाइपोग्लाइसीमिया के शुरुआत का संकेत होता है. जब शरीर में ब्लड ग्लूकोस का स्तर कम हो जाता है तो जम्हाई आनी शुरू हो जाती है. ऐसे में अगर आप डायबिटीज के पेशेंट हैं और आपको जम्हाई आ रही है तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें.


चिकित्सकों का मानना है कि दिल और फेफड़ों की बीमारियों के कारण भी ज्यादा जम्हाई आती है. जब दिल और फेफड़े सही काम नहीं करते हैं तो अस्थमा की परेशानी होने लगती है.
Loading...

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.
First published: July 17, 2019, 5:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...