Home /News /lifestyle /

Yoga Session: पेट की सभी बीमारियों को दूर करेगा कपालभाति योग

Yoga Session: पेट की सभी बीमारियों को दूर करेगा कपालभाति योग

Savita Yadav

Savita Yadav

Yoga Session With Savita Yadav: अपने खान पान पर विशेष ध्यान देना उतना ही जरूरी है जितना नियमित योगासन (Yogasana) करना, क्योंकि आपके खान-पान से ही आपका स्वास्थ जुड़ा है. आज के Live सेशन में योग प्रशिक्षिका सविता यादव (Savita Yadav) ने कपालभाति कैसे करें, उसके लाभ और किसे करना चाहिए किसे नहीं इन सबके बारे में बताया है, आइए जानते हैं.

अधिक पढ़ें ...

(सविता यादव)

Yoga Session With Savita Yadav: शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यक्ति को सबसे पहले अपनी दिनचर्या अनुशासित रखना चाहिए. साथ ही नियमित रूप से योगासन भी करना चाहिए. जिससे आपका शरीर हर मौसम में एक्टिव (Active) रहे और हर बीमारी से लड़ने के लिए तैयार रहे. योगाभ्यस करने से न सिर्फ आप स्वस्थ रहते हैं बल्कि आपके चेहरे पर भी एक अलग ऊर्जा दिखाई देती है. अपने खान पान पर विशेष ध्यान देना भी उतना ही जरुरी है जितना नियमित योगासन (Yogasana) करना, क्योंकि आपके खान-पान से ही आपका स्वास्थ जुड़ा है. आज के Live सेशन में योग प्रशिक्षिका सविता यादव (Savita Yadav) ने कपालभाति कैसे करें उसके लाभ और किसे करना चाहिए किसे नहीं इन सबके बारे में बताया है, आइए जानते हैं.

सबसे पहले मेट लगाकर सीधे बैठ जाइए. कमर और गर्दन सीधी कर लीजिए. अब अपने दोनों हाथों को आपस में जोड़ते हुए हथेली को सामने की तरफ घुमाकर सिर के ऊपर लेकर जाएं. 10 गिनने तक रुके और धीरे-धीरे नीचे लेकर आएं. अब अपनी आंखों को बंद करें और सहज होते हुए अपनी आती जाती सांसों को देखें.

अब दायां पैर बाईं थाई के ऊपर और बायां पैर दाईं थाई के नीचे रखना है. इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़िया बना रहता है. घुटने में दर्द हो तो न करें. यह प्रक्रिया बारी बारी से दोहराना है.

ध्यान लगाइए
किसी भी योगासन की शुरुआत ध्यान के साथ करना चाहिए. इससे मन एकाग्र होता है और योगसन के अच्छे परिणाम देखने को मिलते हैं. अपनी आती जाती सांसों पर ध्यान केंद्रित करें. उसके बाद ओम के साथ किसी भी मंत्र का उच्चारण करें.

कपालभाति
योगा मैट पर बैठ कर अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें. इसके बाद अपने हाथों को घुटनों पर रखें और गहरी लंबी सांस लें. अब सांस छोड़ते हुए धीमी गति से पेट को अंदर की ओर खींचे. इसे अपनी क्षमता अनुसार ही करें. अपनी नाभि को अंदर की ओर खींचे और कुछ सेकेंड में सांस छोड़ दें. एक राउंड खत्म होने के बाद, आराम करें और अपनी आंखों को बंद कर लें. धीरे धीरे करके इस आसान की समयावधि बढ़ाएं. ध्यान रहे कि शुरुआती दौर में आपको ज्यादा फोर्सके साथ नहीं करना है.

यह भी पढ़ें – Yoga Session: सर्दियों में शरीर में होती है जकड़न महसूस? सरल योगाभ्यास कर आराम पाएं

किसे करना चाहिए
कपालभाति अभ्यास को खाली पेट करना है. अगर पेट से जुड़ी कोई समस्या है, तो यह अभ्यास नहीं करना है. हार्ट पेशेंट वाले लोग डॉक्टर की राय से ही कपालभाति करें. एसिडिटी की प्रॉब्लम वाले भी न करें. कपालभाति डाइजेस्टिव सिस्टम ठीक करती है. इससे ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है. बच्चों को भूख लगने की समस्या है, तो यह इससे ठीक हो जाएगा. इस अभ्यास के बेनिफिट बहुत ज्यादा है लेकिन इसमें सावधानियां भी बरते. कपालभाति जरूरी अभ्यास है. इसे रोजाना करना चाहिए. कपालभाति के कई फायदे हैं. यह मस्तिष्क पर शाइन लेकर आती है.

उड्डीयान बंध
उड्डीयान बंध को सांस छोड़ कर और श्वास भर कर भी किया जा सकता है. इसके लिए Padmasana में बैठ जाएं. अब अपनी हथेलियों को घुटनों पर रखें. इसके बाद पेट को अंदर की ओर खींचें. अपनी सांस को धीरे-धीरे अंदर की और लेते हुए अपनी पसलियों को ऊपर की ओर उठाएं. अब अपनी सांस को रोक कर रखें. इसके लिए अपनी क्षमता अनुसार अपनी सांस को होल्ड करें. फिर धीरे से सांस छोड़ दें.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle, Yoga

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर