लाइव टीवी

कामयाब शादी के पीछे आपके जीन्स का भी होता है बड़ा हाथ, जानें कैसे?

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 11:00 AM IST
कामयाब शादी के पीछे आपके जीन्स का भी होता है बड़ा हाथ, जानें कैसे?
एक रिश्ते में रहने वाले दो लोगों के जीन्स, उनके रिश्ते को कामयाब करने और न करने में एक अहम रोल निभाते हैं.

साइंस की मानें तो शादी का रिश्ता भी कुछ अलग संकेत देता है. इसके पीछे कई वैज्ञानिक कारण हैं जिसमें एक है प्यार या शादी करने वाले दो लोगों के जीन्स.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 11:00 AM IST
  • Share this:
शादी के बंधन के बंधना दो लोगों के लिए एक बहुत बड़ी बात होती है. यह एक ऐसा रिश्ता होता है जहां किसी भी इंसान की लॉजिकल बुद्धि काम करना बंद कर देती है. यही कारण है कि अक्सर कहा जाता है कि प्यार अंधा होता है. लेकिन ये तो कहने वाली बातें है. दरअसल साइंस की मानें तो शादी का रिश्ता भी कुछ अलग संकेत देता है.

इसके पीछे कई वैज्ञानिक कारण हैं जिसमें एक है प्यार या शादी करने वाले दो लोगों के जीन्स. ये सुनने में भले ही अजीब लग रहा होगा लेकिन ऐसा ही है. साइंस डेली की रिपोर्ट के मुताबिक एक रिश्ते में रहने वाले दो लोगों के जीन्स, उनके रिश्ते को कामयाब करने और न करने में एक अहम रोल निभाते हैं. आइए आपको बताते हैं कि कैसे कामयाब शादी के पीछे आपके जीन्स का भी हाथ हो सकता है.



इसे भी पढ़ेंः नई शादी में करने पड़ते हैं कई एडजस्टमेंट, जानें लाइफ को बैलेंस करने के 4 आसान तरीके

फैमिली जीनोटाइप से प्रभावित हो सकती है शादी
जीन डीएनए के ऐसे सेगमेंट होते हैं, जो किसी विशेष लक्षण को एनकोड करते हैं. एक बच्चा अपने माता-पिता दोनों से विरासत में एक जीनोटाइप लेता है और उनका प्रतिनिधित्व करता है. जीनोटाइप में अंतर व्यक्तियों में उस विशेषता के भीतर आपको अक्सर नजर आ जाएगा. जैसे एक ही मां-बाप के दो बच्चे हैं, जिसमें से एक एक खुशहाल शादीशुदा जिंदगी जी रहा है और दूसरा नहीं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अगर आपको माता-पिता या दादा-दादी में से जिसके जीन आपके साथ ज्यादा एक जैसे कैरेक्टर शो करते हैं, वह लगभग वैसी ही चीजें करते हैं. आपको लग सकता है कि आपके परिवार में ऐसा तो कोई नहीं था, जिसकी शादी नहीं चल पाई और आपका बच्चा ही पहला है, तो ये पूरी तरह से गलत हो सकता है.

ऑक्सीटोसिन रिसेप्टर (ओएक्सटीआर) जीन के कारणजीन की एक विस्तृत श्रृंखला में अलग-अलग अंतर होते हैं, जो माना जाता है कि शादी के लिए प्रासंगिक हैं. विशेष रूप से ऑक्सीटोसिन रिसेप्टर (ओएक्सटीआर) जीन. ऑक्सीटोसिन, जिसे कभी-कभी लव हॉर्मोन के रूप में भी जाना जाता है, ये एक भावनात्मक जुड़ाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. जीन जो ऑक्सीटोसिन, ओएक्सटीआर को नियंत्रित करता है, वह शादी के खुशहाल होने या न होने पर प्रभाव डाल सकता है. इसके अलावा ऑक्सीटोसिन रिसेप्ट मानव सामाजिक व्यवहार से जुड़ी घटनाओं में आपकी भूमिका तय करने में भी मदद करता है.

अनुवांशिक भिन्नता और वैवाहिक गुणवत्ता
ओएक्सटीआर जीन पर दो विशिष्ट स्थानों पर अपना ध्यान केंद्रित करता है. ये जीन आपकी समझ को बढ़ावा देने में मदद करता है. पति और पत्नी दोनों के लिए प्रत्येक ओएक्सटीआर साइट पर आनुवांशिक भिन्नता इस बात को तय करती है कि वह दोनों एक दूसरे की भिन्नता को किस तरह से लेंगे. इसी तरह से जीन के कई लक्षण व्यक्तियों के सकारात्मक कौशल को भी बढ़ावा देते हैं और ओएक्सटीआर में भिन्नता और कमी एक शादी में कई मुश्किलों का कारण हो सकती है. जैसे हमेशा अपने पार्टनर की बात को गलत समझना और नकारात्मक तरीके से हर चीज को लेना.



इसे भी पढ़ेंः एक अच्‍छे रिलेशनशिप में महिलाओं से क्या चाहते हैं पुरुष, रिश्ते में ये जानना जरूरी

टीटी जीनोटाइप वैवाहिक संबंध को सफल बनाता है
एक जीन एक शादी को बना या तोड़ सकता है. यह शादी की परेशानियों को कम भी करता है और बढ़ाता भी है. यह संभव है कि किसी साथी के आनुवंशिक प्रोफाइल के बाकी हिस्सों के आधार पर कुछ जीन कम या अधिक हानिकारक हो सकते हैं. शोधकर्ताओं की मानें को एक कामयाब शादी में दोनों के इंटिमेट रिलेशनशिप का बहुत बड़ा हाथ होता है. ये मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर तनाव के घातक प्रभावों को दूर कर सकता है. इस हद तक कि विशेष टीटी जीनोटाइप किसी व्यक्ति की समर्थित महसूस करने की क्षमता को बिगाड़ सकता है. वह व्यक्ति तनाव के प्रभावों के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रिश्ते से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 4:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर