Home /News /literature /

वाणी प्रकाशन ग्रुप की विशेष पहल 'Diwali' को करें किताबों से रोशन'

वाणी प्रकाशन ग्रुप की विशेष पहल 'Diwali' को करें किताबों से रोशन'

Vani Prakashan की अपील है कि इस दीपावली घर में पटाखे नहीं बल्कि किताबें खरीद कर लाएं और बच्चों में पढ़ने की आदत विकसित करें.

Vani Prakashan की अपील है कि इस दीपावली घर में पटाखे नहीं बल्कि किताबें खरीद कर लाएं और बच्चों में पढ़ने की आदत विकसित करें.

वाणी प्रकाशन ग्रुप (Vani Prakashan Group) ने भी दीपावली के अवसर पर पाठकों के लिए विशेष ऑफर शुरू किए हैं. अमेजॉन पर उपलब्ध वाणी प्रकाशन ग्रुप की सभी पुस्तकों पर 25 प्रतिशत की छूट दी जा रही है. वाणी प्रकाशन समूह की सेल्स एंड मार्केटिंग प्रमुख दामिनी माहेश्वरी ने बताया कि वाणी प्रकाशन प्रदूषण के प्रति लोगों को जागरूक कर रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    Book Publication: सही मायनों में किताब ऐसा उपहार हैं जो हमेशा आपके साथ रहता है. हमारे दुख-सुख और एकांकी का साथी होती हैं पुस्तकें. जिन सवालों का जवाब में बाहरी दुनिया में खोजते फिरते हैं वे जवाब किताबों में छिपे रहते हैं. किसी ने कहा भी खूब है कि किताब पड़ने की आदत आपको विद्वान बनाती है. इसलिए जब मौका खुशी बांटने का है तो फिर किताबों से अच्छा उपहार और क्या हो सकता है.

    दीपावली (Diwali 2021) के अवसर पर प्रकाशन समूहों ने भी नई मुहीम शुरू की हैं. नई पहलों के तहत लोगों को किताबों से जोड़ने, किताबों को उपहार में देने और किताबों पर विशेष छूट जैसे ऑफर दिए जा रहे हैं.

    देश के प्रतिष्ठित प्रकाशन समूह वाणी प्रकाशन ग्रुप (Vani Prakashan Group) ने भी दीपावली के अवसर पर पाठकों के लिए विशेष ऑफर शुरू किए हैं. अमेजॉन (amazon) पर उपलब्ध वाणी प्रकाशन ग्रुप की सभी पुस्तकों पर 25 प्रतिशत की छूट दी जा रही है. यह ऑफ़र दीपावली के दिन 4 नवम्बर तक लागू है.

    वाणी प्रकाशन समूह की सेल्स एंड मार्केटिंग प्रमुख दामिनी माहेश्वरी ने बताया कि वाणी प्रकाशन प्रदूषण के प्रति लोगों को जागरूक कर रहा है. उन्होंने बताया कि चूंकि दीपावली पर वायु प्रदूषण (Air pollution) की मात्रा और बढ़ जाती है, इसलिए वाणी प्रकाशन लोगों से प्रदूषण रहित दिवाली मनाने की अपील कर रहा है.

    दामिनी माहेश्वरी (Damini Maheshwari) ने बताया कि ऐसे समय में जब वायु प्रदूषण घातक स्थिति में लगातार मनुष्यों की जीवन प्रत्याशा दर पर प्रहार कर रहा है, जब वायु प्रदूषण से विश्व के सभी देश ख़ासकर दक्षिण पूर्वी एशिया के देश बुरी तरह से जूझ रहे हैं तो हम एक छोटे-से प्रयास से अपने देश को प्रदूषित रहित बनाने में सहयोग कर सकते हैं.

    दुष्यंत कुमार, पाश और अदम गोंडवी की रचनाओं ने प्रभावित किया है- मनीष सिसोदिया

    दामिनी ने ग्लास्गो (Glasgow) में चल रहे अंतरराष्ट्रीय जलवायु शिखर सम्मेलन ‘कॉप-26’ (COP 26) में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) के भाषण का उल्लेख किया जिसमें उन्होंने कहा था कि दुनिया विनाश की कगार पर खड़ी है. जॉनसन ने धरती की स्थिति की तुलना काल्पनिक किरदार ‘जेम्स बांड’ से की जिस पर एक ऐसा बम चिपका है जो दुनिया का विनाश कर सकता है तथा बांड उसे निष्क्रिय करने का प्रयास कर रहा है. जॉनसन ने वैश्विक नेताओं के सामने कहा, ‘हम लगभग वैसी ही स्थिति में हैं और दुनिया को समाप्त कर देने वाला बम काल्पनिक नहीं बल्कि वास्तविक है.’

    Vani Prakashan

    दामिनी माहेश्वरी ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (world health organisation) का हवाला देते हुए बताया कि डब्ल्यूएचओ ने हवा की गुणवत्ता के कई मानक तय किये हैं पर इस कसौटी पर विशेषकर दक्षिण पूर्वी एशिया के देश जिसमें एक भारत भी है, इसके ज़्यादातर इलाके हवा की सुरक्षित मानी जाने वाली गुणवत्ता के दायरे से बाहर चले गये हैं.

    यह भी पढ़ें- लीक से हट कर लिखी रचनाएं समाज को विकासोन्मुख बनाती हैं

    दामिनी ने कहा कि जब हालात इतने बिगड़ चुके हैं तो हम सभी को अपने-अपने स्तर पर पहल करनी होगी. उन्होंने बताया कि इस कड़ी में वाणी प्रकाशन से धूआं रहित दीपावली मनाने की अपील की है. उन्होंने कहा कि इस दिवाली पटाखे फोड़ें नहीं, बल्कि लम्बे समय तक बौद्धिक पटाखा बने रहें. उस पटाखे की रेसिपी में किताबों का 100 परसेंट योगदान है और इस बात की गवाही इतिहास देता रहा है.

    उन्होंने कहा कि इस दीपावली घर में पटाखे नहीं बल्कि किताबें खरीद कर लाएं और बच्चों में पढ़ने की आदत विकसित करें.

    वाणी प्रकाशन ग्रुप (Vani Prakashan Group)
    वाणी प्रकाशन ग्रुप पिछले 59 वर्षों से साहित्य की 32 से भी अधिक नवीनतम विधाओं में, बेहतरीन हिन्दी साहित्य का प्रकाशन कर रहा है. वाणी प्रकाशन ग्रुप ने प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और ऑडियो प्रारूप में 6,000 से अधिक पुस्तकें प्रकाशित की हैं तथा देश के 3,00,000 से भी अधिक गांव, 2,800 क़स्बे, 54 मुख्य नगर और 12 मुख्य ऑनलाइन बुक स्टोर में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है.

    अब वाणी प्रकाशन ग्रुप वाणी डिजिटल, वाणी बिजनेस, वाणी बुक कम्पनी, वाणी पृथ्वी, नाइन बुक्स, वाणी प्रतियोगिता, युवा वाणी और गैर-लाभकारी संस्था वाणी फ़ाउण्डेशन के साथ प्रकाशन उद्योग में लगातार अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहा है.

    Tags: Books, Hindi Literature

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर