Home /News /literature /

हायकू पर थिरकते फोटोग्राफ्स की खूबसूरत कॉफी टेबल बुक

हायकू पर थिरकते फोटोग्राफ्स की खूबसूरत कॉफी टेबल बुक

खूबसूरत हायकू और फोटोग्राफ्स के साथ एक किताब लांच हुई है, जिसका नाम है हायकू-साउंड ऑफ वन हैंड क्लैपिंग. हायकू जापानी कविताओं के उस फार्मेट को कहा जाता है, जिसमें बहुत कम शब्दों या तीन लाइनों में एक कविता पूरी हो जाती है लेकिन गहरा असर छोड़ जाती है. हायकू की ऐसी खूबसूरत किताब कॉफी टेबल बुक के तौर पर पहली बार देश में आई है.

खूबसूरत हायकू और फोटोग्राफ्स के साथ एक किताब लांच हुई है, जिसका नाम है हायकू-साउंड ऑफ वन हैंड क्लैपिंग. हायकू जापानी कविताओं के उस फार्मेट को कहा जाता है, जिसमें बहुत कम शब्दों या तीन लाइनों में एक कविता पूरी हो जाती है लेकिन गहरा असर छोड़ जाती है. हायकू की ऐसी खूबसूरत किताब कॉफी टेबल बुक के तौर पर पहली बार देश में आई है.

खूबसूरत हायकू और फोटोग्राफ्स के साथ एक किताब लांच हुई है, जिसका नाम है हायकू-साउंड ऑफ वन हैंड क्लैपिंग. हायकू जापानी कविताओं के उस फार्मेट को कहा जाता है, जिसमें बहुत कम शब्दों या तीन लाइनों में एक कविता पूरी हो जाती है लेकिन गहरा असर छोड़ जाती है. हायकू की ऐसी खूबसूरत किताब कॉफी टेबल बुक के तौर पर पहली बार देश में आई है.

अधिक पढ़ें ...

    हायकू कविताओं और कवितामय फोटोग्राफ्स पर थिरकती एक खूबसूरत किताब का नाम है “हायकू : साउंड ऑफ वन हैंड क्लैपिंग”.हायकू जापानी कविताओं की एक खास शैली है. जिसमें चंद शब्दों या तीन लाइनों में एक कविता आकार लेती है. हायकू की लोकप्रियता अब हमारे देश में खूब है. उसे लेकर देश में कई भाषाओं में कई किताबें आ चुकी हैं लेकिन ये कॉफी टेबल बुक इसलिए अलग है क्योंकि इसमें हायकू और पोएटिक फोटोग्राफ्स का बहुत आकर्षक और संगीतमय संगम है.

    इस बुक के लेखक, फोटोग्राफर और संयोजक शशिधर शर्मा हैं, जो लंबे समय से हायकू लिखते रहे हैं. धर्म पर ब्लॉग चलाते रहे हैं. सांग्स ऑफ मिस्ट जैसी चर्चित किताब लिख चुके हैं. घुमक्कड़ी करते हैं, कैमरा हमेशा साथ होता है.वह कारपोरेट हाउस में प्रोफेशनल हैं.

    उनके फोटोग्राफ्स बोलते हुए लगते हैं. उसमें नदी, पहाड़, समुद्र और लोगों के तमाम रंग और चित्र उभरते हैं.दरअसल जब शब्द खूबसूरत पेंटिंग की तरह लगने लगें और चित्र कविता लगने लगें तो ये एक अलग ही फीलिंग होती है.

    हायकू के साथ पिरोए हुए बोलते हुए फोटोग्राफ्स

    पूरी दुनिया में पसंद की जाती हैं हायकू
    हाइकु अब पूरी दुनिया में पसंद किया जाता है. हालांकि इसे तकनीक तौर पर शब्दों और पंक्तियों में जरूर बांधा गया है लेकिन इसे लेकर बहुत से प्रयोग भी होते रहे हैं.

    हायकू कविताओं और खूबसूरत तस्वीरों का परफेक्ट संगम
    ये कॉफी टेबल बुक शशिधर की दो दशक की हायकू का संकलन है. सबसे अच्छी बात इस किताब की यही है कि इसमें हायकू के मूड और फोटोग्राफ्स साथ मिलकर खास अहसास कराते लगते हैं. किताब का मूड बहुत संगीतमय सा लगता है. इसमें जीवन के तमाम रंग, उत्सव, भाव भी हैं. कॉफी टेबल बुक तीन हिस्सों में बंटी है – प्यार, जीवन और जीवन जीना.

    इस किताब में हर तस्वीर ऐसी है, जो कलात्मक और संगीतमय लगती है.

    जीवन का आनंद देती हैं ये हायकू कविताएं
    इन हायकू में समुद्र की लहरों का संगीत है तो प्रकृति के गोद में बैठे रहने का सुकून और पहाड़ों की ताजी हवाओं सा आनंद. हायकू का लुत्फ लेने का अंदाज वाकई अलग है. इसका मतलब ही कम शब्दों या तीन लाइनों में शांत तरीके से अपनी बात कहते हुए निकल जाना लेकिन इसका ऐसा प्रभाव छोड़ना जो देर तक महसूस होता रहे.

    संग्रह की जाने वाली कॉफी टेबल बुक
    किताब में अगर हायकू अपनी लय और लहरें बनकर संगीतमय तरीके से बहते हैं और एक अलग सुकून सा देते हैं तो उससे जुगलबंदी करते हुए फोटोग्राफ अलग संगीत और सुर पैदा करते हैं. कुल मिलाकर ये बेहतरीन कॉफी टेबल बुक है. जिसे हर कोई संग्रहीत करना चाहेगा.

    इस किताब की खासियत अगर इसकी असरदार छोटी कविताओं की जापानी शैली है तो इसके हर फोटोग्राफ्स में भी खास बात है. किताब का प्रोडक्शन उम्दा है. 

    किताब को प्रोडक्शन बहुत अच्छा है. उम्दा कागज और शानदार प्रिटिंग इस किताब की खासियत है. इस किताब का प्रकाशन TWAGGA International ने किया है. ये किताब अमेजन पर उपलब्ध है. किताब के संबंध में इसके लेखक शशिधर शर्मा से उनके मेल  shashidhar.sharma@gmail.com पर भी संपर्क किया जा सकता है.
    किताब हायकू – साउंड ऑफ वन हैंड क्लैपिंग
    लेखक – शशिधर शर्मा
    प्रकाशक – TWAGGA International
    मूल्य 7200

    Tags: Literature, Literature and Art, Poem

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर