होम /न्यूज /साहित्य /Nobel prize 2022: फ्रांसीसी लेखक एनी एरनॉक्स ने जीता साहित्य का नोबेल पुरस्कार

Nobel prize 2022: फ्रांसीसी लेखक एनी एरनॉक्स ने जीता साहित्य का नोबेल पुरस्कार

इस वर्ष के साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार लिए फ्रांसीसी लेखक एनी एरनॉक्स के नाम की घोषणा हुई है.

इस वर्ष के साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार लिए फ्रांसीसी लेखक एनी एरनॉक्स के नाम की घोषणा हुई है.

साहित्य में इस वर्ष का नोबेल पुरस्कार विजेता एनी एरनॉक्स का कहना है कि लेखन एक राजनीतिक कार्य है, जो सामाजिक असमानता के ...अधिक पढ़ें

इस वर्ष का साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार फ्रांसीसी लेखक एनी एरनॉक्स  (French author Annie Ernaux) को प्रदान किया जाएगा. नोबेल पुरस्कार कमेटी ने एनी एनरॉक्स के नाम की घोषणा कर दी है.

एनी एरनॉक्स ने फ्रेंच सहित अंग्रेजी में कई उपन्यास, नाटक और लेख लिखे हैं. उन्होंने कई फिल्मों की कहानी भी लिखी है. एनी का जन्म सन् 1940 में हुआ था. एनी एरनॉक्स की चर्चित कृतियों में जर्नल डू डेहोर्स (Journal du dehors), ला वी एक्सटीरियर (La vie extérieure) किताबें शामिल हैं. इन पुस्तकों में एनी ने अपने बचपन के लेखों को शामिल किया है.

एनी एरनॉक्स ने अपने लेखन की शुरुआत 1974 में एक आत्मकथात्मक उपन्यास लेस आर्मोइरेस वाइड्स (Les Armoires vides) यानी क्लीन्ड आउट (Cleaned Out) से की थी. 1984 में उन्होंने अपनी एक अन्य रचना ला प्लेस (ए मैन्स प्लेस) के लिए रेनाडॉट पुरस्कार (Renaudot Prize) जीता था. एक पुस्तक उनके पिता के साथ उनके संबंधों और फ्रांस के एक छोटे से शहर में बड़े होने के उनके अनुभवों और आगे बढ़ने की उनकी प्रक्रिया पर केंद्रित थी.

Nobel prize in literature 2022, French author Annie Ernaux, Nobel prize 2022, Nobel prize News, Salman Rushdie News, Salman Rushdie Books, Nobel prize List 2022, literature News, Hindi Sahitya News, Sahitya News, साहित्य का नोबेल पुरस्कार, Nobel literature prize 2022, नोबेल प्राइज 2022, लिटरेचर का नोबेल पुरस्कार, French author Annie Ernaux, Annie Ernaux Books, Author Annie Ernaux

8 करोड़ रुपये से अधिक मिलेंगे एनी एरनॉक्स को
नोबेल पुरस्कार स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल के नाम पर दिया जाता है. इस पुरस्कार के विजेता को एक स्वर्ण पदक और एक करोड़ स्वीडिश क्रोनर (लगभग 8.20 करोड़ रुपये) प्रदान किए जाते हैं. साहित्य के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 1901 से दिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें- अमृता प्रीतम की कहानी ‘शाह की कंजरी’

बता दें कि वर्ष 2021 का साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार ब्रिटिश उपन्यासकार अब्दुलराजाक गुरनाह (Abdulrazak Gurnah) ने जीता था. गुरनाह का उपन्यास पैराडाइज (Paradise) बहुत ही मशहूर हुआ है. इस उपन्यास को बुकर और व्हाइटब्रेड पुरस्कार, दोनों के लिए चुना गया था.

सलमान रुश्दी के नाम की चर्चा
बता दें कि पुरस्कार की घोषणा से पहले तक भारतीय मूल के लेखक सलमान रुश्दी को इस वर्ष साहित्य का नोबेल पुरस्कार मिलने की संभावनाएं जोरों पर थीं. इस वर्ष अगस्त में न्यूयार्क में सलमान रुश्दी पर चाकू से हमला किया गया था. यह घटना उस समय हुई जब वे एक कार्यक्रम में व्याख्यान देने गए हुए थे. सलमान रुश्दी 1988 में लिखे उपन्यास द सैटेनिक वर्सेस के कारण चर्चा में आए थे. आरोप है कि रुश्दी ने इस उपन्यास में इस्लाम विरोधी टिप्पणियां की हैं. भारत सहित कई देशों में यह उपन्यास प्रतिबंधित है.

कैसे होता है नोबेल पुरस्कार के लिए नामांकन
स्टॉकहोम स्थित स्वीडिश अकादमी, साहित्य में नोबेल पुरस्कार प्रदान करने के लिए उम्मीदवारों के नामांकन प्रक्रिया शुरू करती है. अकादमी के सदस्य, साहित्य अकादमियों के सदस्य, सामाजिक कार्यकर्ता, साहित्य और भाषा के प्रोफेसरों, पूर्व नोबेल साहित्य पुरस्कार विजेता और लेखक संगठनों के अध्यक्षों को उम्मीदवारों का नामांकन करने की अनुमति होती है. कोई भी लेखक इस पुरस्कार के लिए खुद को नामांकित नहीं कर सकता है.

यह भी पढ़ें- कबीर यात्रा: भक्ति और सूफी संगीत में सराबोर हुआ राजस्थान, देखें झलकियां

पूरी दुनिया से प्रस्ताव भेजे जाते हैं और ये प्रस्ताव एक फरवरी से पहले स्वीडिश अकादमी को मिल जाने चाहिए. इनमें से लगभग 50 प्रस्तावों को चुना जाता है और इन 50 प्रस्तावों पर नोबेल समिति जांच-पड़ताल करती है. अप्रैल तक समिति इन में से लगभग बीस उम्मीदवार छांट लेती है. और अंत तक केवल पांच नाम शेष रह जाते हैं. इसके बाद योग्य उम्मीदवार लेखकों के कार्यों की समीक्षा की जाती है. अक्टूबर में अकादमी के सदस्य मतदान करते हैं और जिस उम्मीदवार को आधे से अधिक वोट मिलते हैं उसे साहित्य के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना जाता है.

केमिस्ट्री के लिए तीन वैज्ञानिकों मिला नोबेल पुरस्कार
रसायन विज्ञान यानी केमिस्ट्री के लिए इस वर्ष का नोबेल पुरस्कार कैरोलिन आर. बर्टोजज़ी, मोर्टन मेल्डल और के. बैरी शार्पलेस को प्रदान करने का निर्णय लिया है. इन तीनों वैज्ञानिकों को पदार्थों के निर्माण के लिए ‘अणुओं के एक साथ विखंडन’ के लिए रसायन का नोबेल पुरस्कार मिला है.

Tags: Hindi Literature, Literature, Nobel Prize

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें