Home /News /literature /

hindi female writer geetanjali shree ret samadhi gets international booker prize nodaa

हिंदी की लेखिका गीतांजलि श्री के उपन्यास 'रेत समाधि' को मिला बुकर पुरस्कार

हिंदी की किसी कृति को पहली बार मिला बुकर पुरस्कार. गीतांजलि श्री (दाएं) के उपन्यास 'रेत समाधि' को मिला यह सम्मान

हिंदी की किसी कृति को पहली बार मिला बुकर पुरस्कार. गीतांजलि श्री (दाएं) के उपन्यास 'रेत समाधि' को मिला यह सम्मान

First Time in Hindi: हिंदी में पहली बार किसी कृति को बुकर पुरस्कार मिला है. हिंदी की महिला लेखिका गीतांजलि श्री के उपन्यास 'रेत समाधि' को यह सम्मान दिलाया है. उपन्यास 'रेत समाधि' का अंग्रेजी अनुवाद डेजी रॉकवेल ने 'टूंब ऑफ सैंड' के नाम से किया है, जिसे 2022 का अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीत लिया है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. गीतांजलि श्री के हिंदी उपन्यास ‘रेत समाधि’ को अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार मिला. अब तक के इतिहास में हिंदी का यह पहला उपन्यास है जिसे यह सम्मान मिला है. सबसे खास बात यह कि यह सम्मान हिंदी की महिला लेखिका को मिला है. गीतांजलि श्री के उपन्यास ‘रेत समाधि’ का अंग्रेजी अनुवाद डेजी रॉकवेल ने ‘टूंब ऑफ सैंड’ के नाम से किया है, जिसे 2022 का अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीत लिया है.

हिंदी में यह उपन्यास राजकमल प्रकाशन से छापा है. ‘रेत समाधि’ हिंदी की पहली ऐसी कृति है जो अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार की लॉन्ग लिस्ट और शॉर्ट लिस्ट तक पहुंची और आखिरकार बुकर पुरस्कार जीत भी ली. बता दें कि बुकर पुरस्कार की लॉन्ग लिस्ट में गीतांजलि श्री की ‘रेत समाधि’ के अलावा 13 अन्य कृतियां भी थीं.

International Booker Prize, Booker Prize, Booker Prize for Hindi, Gitanjali Shree, Sand Samadhi, Sand Samadhi of Geejanjali Shree, Booker Prize for Sand Samadhi, Booker Award for Hindi for the first time, Introduction to Gitanjali Shree, Who is Gitanjali Shree, Sahitya Samman , Hindi literature, novel writing, novel sand samadhi, अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार, बुकर पुरस्कार, हिंदी को बुकर पुरस्कार, गीतांजलि श्री, रेत समाधि, गीजांजलि श्री की रेत समाधि, रेत समाधि को बुकर पुरस्कार, हिंदी को पहली बार मिला बुकर सम्मान, गीतांजलि श्री का परिचय, कौन हैं गीतांजलि श्री, साहित्य सम्मान, हिंदी साहित्य, उपन्यास लेखन, उपन्यास रेत समाधि

गीतांजलि श्री की ‘रेत समाधि’ को बुकर पुरस्कार दिए जने की घोषणा का ऑफिशियल ट्वीट.

गीतांजलि श्री का ‘रेत समाधि’ उनका पांचवां उपन्यास है. पहला उपन्यास ‘माई’ है. इसके बाद उनका उपन्यास ‘हमारा शहर उस बरस’ नब्बे के दशक में आया था. यह उपन्यास सांप्रदायिकता पर केंद्रित संजीदा उपन्यासों में एक है. कुछ साल बाद ‘तिरोहित’ आया. इस उपन्यास की चर्चा हिंदी में स्त्री समलैंगिकता पर लिखे गए पहले उपन्यास के रूप में भी होती रही है. उनके चौथा उपन्यास ‘खाली जगह’ है और कुछ साल पहले ‘रेत समाधि’ प्रकाशित हुआ.

हालांकि यह एक दुखद पक्ष यह है कि लगातार और महत्त्वपूर्ण लेखन के बाद भी गीतांजलि श्री को हिंदी के संसार ने तब अचानक से जाना जब बुकर पुरस्कार के लॉन्ग लिस्ट में ‘रेत समाधि’ को शामिल किया गया. इस लिस्ट के सामने आने के बाद हिंदी संसार के बीच गुमनाम सी रहीं गीतांजलि श्री अचानक चर्चा में आ गईं. फिलहाल, गीतांजलि श्री की ‘रेत समाधि’ को मिले बुकर सम्मान ने हिंदी का कद ऊंचा किया है.

Tags: Hindi Literature, Novelist

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर