होम /न्यूज /साहित्य /कथाक्रम सम्मान-2022 से सम्मानित होंगे चर्चित कथाकार हृषीकेश सुलभ

कथाक्रम सम्मान-2022 से सम्मानित होंगे चर्चित कथाकार हृषीकेश सुलभ

हृषीकेश सुलभ आपने नाटक की विधा को बिहारी ठाकुर की शैली 'बिदेशिया' पर केंद्रित किया है.

हृषीकेश सुलभ आपने नाटक की विधा को बिहारी ठाकुर की शैली 'बिदेशिया' पर केंद्रित किया है.

15 फरवरी, 1955 को बिहार के लहेजी ग्राम में जन्मे सुलभ जी उनके कहानी संग्रह "वसंत के हत्यारे" के लिए कथा यूके द्वारा 'इन ...अधिक पढ़ें

Hindi Sahitya News: इस वर्ष का आनंद सागर स्मृति कथाक्रम सम्मन चर्चित कथाकार, नाटककार और रंग समीक्षक हृषीकेश सुलभ को दिया जाएगा. कथाक्रम सम्मान समिति की बैठक में सर्वसहमति से वर्ष 2022 के पुरस्कार के लिए हृषीकेश सुलभ के नाम पर सहमति बनी. कथाक्रम सम्मान समिति में शैलेंद्र सागर, प्रसिद्ध कहानीकार शिवमूर्ति, रंगकर्मी राकेश और रजनी गुप्ता शामिल हैं. सम्मानित रचनाकार को 21 हजार रुपये की नकद राशि और सम्मान पत्र प्रदान किया जाता है. पिछले वर्ष यह सम्मान चर्चित कथाकार पंकज मित्र को प्रदान किया गया था.

कथाक्रम के आयोजक शैलेन्द्र सागर ने बताया कि ह्रषीकेश सुलभ को 30वां कथाक्रम सम्मान प्रदान किया जाएगा. उन्होंने बताया कि हिंदी कथा साहित्य पर केंद्रित अखिल भारतीय आयोजन कथाक्रम का वार्षिक समारोह लखनऊ स्थित कैफी आजमी सभागार में आयोजित किया जाता है.

शैलेंद्र सागर ने बताया कि अब तक इस सम्मान से प्रसिद्ध कथाकार संजीव, शिवमूर्ति, असगर वजाहत, भगवान दास मोरवाल, उदय प्रकाश, प्रियंवद, मधु कांकरिया, कमलकांत त्रिपाठी, चंद्रकिशोर जायसवाल, मैत्रेयी पुष्पा, दूधनाथ सिंह, ओमप्रकाश वाल्मीकि, महेश कटारे, अब्दुल बिस्मिल्ला, स्वयं प्रकाश, तेजिन्दर, जयनंदन, नासिरा शर्मा, अखिलेश, राकेश कुमार सिंह, जया जादवानी, मनोज रूपड़ा, एसआर हरनोट, नवीन जोशी और पंकज मित्र को सम्मानित किया जा चुका है.

यह भी पढ़ें- महात्मा गांधी, नाम नहीं एक पूरी दुनिया… घर बैठे आप लीजिए इसका अनुभव

हृषीकेश सुलभ
ऑल इण्डिया रेडियो में कार्यरत हृषीकेश सुलभ हिंदी के समकालीन शीर्ष लेखकों में हैं. हृषीकेश सुलभ कहानी और नाटक-लेखन की विधाओं के लिए जाने जाते हैं.

Hrishikesh sulabh and shriram Sharma

15 फरवरी, 1955 को बिहार के लहेजी ग्राम में जन्मे सुलभ जी उनके कहानी संग्रह “वसंत के हत्यारे” के लिए कथा यूके द्वारा ‘इन्दु शर्मा अंतर्राष्ट्रीय कथा सम्मान’ प्रदान किया जा चुका है. आपकी कहानियां तमाम पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रहती हैं. कई भाषाओं में उनका अनुवाद भी हो चुका है.

Tags: Hindi Literature, Hindi Writer, Literature

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें