Home /News /literature /

कलिंग साहित्य महोत्सव के 'बुक अवॉर्ड्स 2020-21' की घोषणा

कलिंग साहित्य महोत्सव के 'बुक अवॉर्ड्स 2020-21' की घोषणा

 इस वर्ष 10, 11 और 12 दिसंबर को भुवनेश्वर में आठवें कलिंगा लिटरेरी फेस्टिवल का आयोजन होने जा रहा है.

इस वर्ष 10, 11 और 12 दिसंबर को भुवनेश्वर में आठवें कलिंगा लिटरेरी फेस्टिवल का आयोजन होने जा रहा है.

'केएलएफ बुक अवॉर्ड' साहित्य की विभिन्न विधाओं जैसे- कविता संग्रह, अनुवाद, भाषा, बिजनेस, पर्यावरण, आत्मकथा/जीवनी, बच्चों की पुस्तक, खेल तथा सामरिक मामलों पर लिखी गई पुस्तकों के लिए प्रदान किया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    Kalinga Literary Festival: कलिंग साहित्य महोत्सव ने अपने ‘बुक अवॉर्ड 2020-21’ (KLF Book Awards) की घोषणा कर दी है. 10 दिसंबर से भुवनेश्वर (Bhubaneswar) में होने जा रहे साहित्य महोत्सव में ये पुरस्कार वितरित किए जाएंगे. ‘केएलएफ बुक अवॉर्ड’ साहित्य की विभिन्न विधाओं जैसे- कविता संग्रह, अनुवाद, भाषा, बिजनेस, पर्यावरण, आत्मकथा/जीवनी, बच्चों की पुस्तक, खेल तथा सामरिक मामलों पर लिखी गई पुस्तकों के लिए प्रदान किया जाता है.

    बता दें कि कलिंग साहित्य महोत्सव आयोजन समिति ने हाल ही में महोत्सव के आयोजन की तारीखों का ऐलान किया था. इस वर्ष का कलिंग लिटरेरी फेस्टिवल मंदिरों की नगरी भुवनेश्वर (Bhubaneswar) में 10, 11 और 12 दिसंबर को आयोजित किया जाएगा.

    कलिंग साहित्य महोत्सव के संस्थापक रश्मि रंजन परिदा (Rashmi Ranjan Parida) ने बताया कि कलिंग लिटरेरी फेस्टिवल में साहित्यकारों, कलाकारों, पाठकों और अन्य लोगों को कई नए अनुभव मिलेंगे. इस महोत्सव में लेखक, शिक्षाविद, नीति निर्माता, साहित्यिक-सांस्कृतिक, राजनीतिक और सामाजिक कार्यकर्ता, कानून निर्माता, सरकारी अधिकारी, कॉरपोरेट जगत के दिग्गज, आध्यात्मिक विचारक और छात्र समेत समाज के हर वर्ग के लोगों को रचनात्मक वातावरण मिलता है. यहां लोग अपने पसंदीदा लेखकों, कलाकारों से मिलते हैं और विचारों का आदान-प्रदान करते हैं.

    केएलएफ बुक अवॉर्ड
    रश्मि रंजन परिदा ने बताया कि कलिंगा लिटरेरी फेस्टिवल में बुक अवॉर्ड (KLF Book Awards) को इसी वर्ष से शामिल किया गया है. केएलएफ बुक अवार्ड्स विभिन्न शैलियों में साहित्यिक प्रतिभाओं को पहचानने, उन्हें प्रोत्साहित करने और सम्मान करने के अवसर प्रदान करता है.

    भुवनेश्वर में जुटेंगे देश-दुनिया के दिग्गज साहित्यकार, 10 दिसंबर से 8वें KLF का आगाज़

    रश्मि रंजन ने बताया कि पुरस्कार के लिए पुस्तकों का चयन एक स्वतंत्र निर्णायक मंडल करता है. इस मंडल में साहित्यकार, कलाकार तथा अन्य वर्ग के विद्वान शामिल हैं. निर्णायक मंडल 2020-21 के दौरान प्रकाशित होने वाली विभिन्न श्रेणियों की पुस्तकों का अध्ययन करने के उपरांत कुछ पुस्तकों और उनके लेखकों को सम्मानित करने का फैसला किया है.

    जिन पुस्तकों को इस वर्ष बुक ऑफ द ईयर अवॉर्ड (Book of the Year) के लिए चुना गया है वे इस प्रकार हैं-

    नॉन-फिक्शन किताबें
    – संदीप बमज़ाई की पुस्तक ‘प्रिंसिस्तान: हाउ नेहरू, पटेल एंड माउंटबेटन मेड इंडिया’ (रूपा पब्लिकेशन- 2020)
    – शशि थरूर और समीर सरन की पुस्तक ‘द न्यू वर्ल्ड डिस्ऑर्डर एंड द इंडियन इंपेरेटिव’ (एलेफ बुक कंपनी- 2020)
    – विनय सीतापति की पुस्तक ‘जुगलबंदी: द बीजेपी बिफोर मोदी’ (पेंग्विन रैंडम हाउस इंडिया- 2020)
    – पवन कुमार वर्मा की ‘द ग्रेट हिंदू सिविलाइजेशन: अचीवमेंट, नेगलेक्ट, बायस एंड द वे फॉरवर्ड’ (वेस्टलैंड-2021)
    – टीएम कृष्णा की पुस्तक ‘ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ मृदंगम मेकर्स’ (कॉन्टेक्स्ट, वेस्टलैंड- 2020)
    – प्रेम प्रकाश की पुस्तक ‘रिपोर्टिंग इंडिया’ (पेंग्विन रैंडम हाउस-2020)
    – आशुतोष भारद्वाज की पुस्तक ‘द डेथ स्क्रिप्ट’ (हार्पर कोलिंस इंडिया- 2020)

    फिक्शन
    – जाह्नवी बरुआ का उपन्यास ‘अंडरटो’ (पेंग्विन रैंडम हाउस इंडिया- 2020)
    – नमिता गोखले और मालाश्री लाल की पुस्तक ‘बिट्रेड बाय होप: ए प्ले ऑन द लाइफ ऑफ माइकल मधुसूदन दत्त’ (हार्पर कोलिंस इंडिया- 2020)
    – तराना हुसैन खान की पुस्तक ‘द बेगम एंड द दास्तान’ (वेस्टलैंड- 2021)
    – अश्विनी सांघी की पुस्तक ‘द वॉल्ट आफ विष्णु’ (वेस्टलैंड- 2020)
    – अशोक कौल की पुस्तक ‘अंडरकवर इन बांदीपोरा’ (वितास्ता पब्लिकेशन-2020)

    काव्य-गज़ल संग्रह
    – गुलज़ार का काव्य संग्रह ‘ए पोएम ए डे’ (हार्पर कोलिंस इंडिया- 2020)
    – ग्रेटा राणा की पुस्तक ‘फ्रॉम कैसलफ़ोर्ड टू काठमांडू’ (वज्र बुक्स, काठमांडू- 2021)
    – अभय कुमार के दो संग्रह ‘कालिदास: मेघदूत- द क्लाउड मैसेंजर’ और ‘कालिदास: ऋतुसंहारम- द सिक्स सीज़न्स’ (ब्लूम्सबरी-2021)
    – बसन्त चौधरी का गज़ल संग्रह ‘अनेक पल और मैं’ (वाणी प्रकाशन- 2021)

    हिंदी की किताबें
    – नीलाक्षी सिंह की पुस्तक ‘खेला’ (सेतु प्रकाशन- 2021)
    – अलका सरावगी की पुस्तक ‘कुलभूषण का नाम दर्ज कीजिए’ (वाणी प्रकाशन- 2020)
    – ममता कालिया की पुस्तक ”अंदाज़-ए-बयाँ उर्फ़ रवि कथा’ (वाणी प्रकाशन- 2020)
    – प्रवीण कुमार झा की पुस्तक ‘वाह उस्ताद’ (राजपाल एंड सन्स- 2020)
    – शिरीष खरे का रिपोतार्ज ‘एक देश बारह दुनिया’ (राजपाल एंड सन्स 2021)

    केएलएफ डेब्यू बुक अवार्ड
    – सोनू सूद और मीरा अय्यर की पुस्तक ‘आई एमे नो मसीहा’ (पेंग्विन ग्रुप)

    कूटनीति/रणनीतिक मामलों की पुस्तकें
    – एस. जयशंकर की पुस्तक ‘द इंडिया वे : स्ट्रैटेजीज फॉर एन अनसर्टेन वर्ल्ड’ (हार्पर कोलिंस इंडिया)
    – ज़ोरावर दौलत सिंह की ‘पॉवरशिफ्ट: इंडिया-चाइना रिलेशन्स इन ए मल्टीपोलर वर्ल्ड’ (पैन मैकमिलन)
    – सुब्रह्मण्यम स्वामी की ‘हिमालयन चैलेंज: इंडिया, चाइना एंड द क्वेस्ट फॉर पीस’ (रूपा पब्लिकेशंस)

    पर्यावरण की किताबें
    – शेखर पाठक की पुस्तक ‘हरी भरी उम्मीद’ (वाणी प्रकाशन- 2020)
    एवं ‘द चिपको मूवमेंट: ए प्युपल्स हिस्ट्री’ (परमानेंट ब्लैक- 2020)
    – अमिताभ घोष की पुस्तक ‘जंगलनामा’ (हार्पर कोलिंस इंडिया- 2021)

    महिला/ दलित/आदिवासी/अल्पसंख्यक लेखकों की किताबें
    – गोपीनाथ मोहंती की पुस्तक ‘हरिजन’, अनुवाद- बिक्रम दास (एलेफ बुक कंपनी- 2021)
    – सुदर्शन रामबद्रन और गुरु प्रकाश पासवान की पुस्तक ‘मेकर्स ऑफ मॉर्डन दलित हिस्ट्री’ (पेंग्विन ग्रुप)
    – बानी बसु की पुस्तक ‘ए प्लेट ऑफ व्हाइट मार्बल’, अनुवाद- नंदिनी गुहा (नियोगी बुक्स- 2020)
    – प्रदीप श्रीवास्तव की पुस्तक ‘रामविलास पासवान: संकल्प, साहस और संघर्ष’ (पेंग्विन रैंडम हाउस)
    – शाफे किदवई की पुस्तक ‘सर सैयद अहमद खान: रीजन, रिलीजन एंड नेशन (राऊटलेज, लंदन- 2021)

    आत्मकथा तथा जीवनी
    – तेनज़िन गेयचे टेथोंग की पुस्तक ‘हिज हायनेस द फोर्टीन दलाई लामा’ (रोली बुक्स- 2020)
    – गोपालकृष्ण गांधी की ‘रेस्टलेस एज मर्करी: माय लाइफ एज ए यंग मैन मोहनदास करमचंद गांधी’
    – यतीन्द्र मिश्र की पुस्तक ‘अख़्तरी: द लाइफ एंड म्युजिक ऑफ बेगम अख़्तर’ (हार्पर कोलिंस इंडिया)
    – रशीद किदवई की पुस्तक ‘भारत के प्रधानमंत्री’ (राजकमल प्रकाशन- 2021)
    – जॉन ज़ुब्रज़ीकी की ‘द हाउस ऑफ़ जयपुर: द इनसाइड स्टोरी ऑफ़ इंडियाज़ मोस्ट ग्लैमरस रॉयल फ़ैमिली’ (जगरनॉट 2020)

    बच्चों की किताबें
    – रस्किन बॉन्ड की पुस्तक ‘मिरिकल एट हैप्पी बाज़ार: माई बेस्ट स्टोरीज़ फॉर चिल्ड्रन’ (एलेफ बुक- 2020)
    – सुधा मूर्ति की पुस्तक ‘ग्रैंडपेरेंट्स बैग ऑफ स्टोरीज़’ (पेंग्विन रैंडम हाउस- 2020)

    खेल तथा खान-पान
    – रामचंद्र गुहा की पुस्तक ‘द कॉमनवेल्थ ऑफ क्रिकेट’ (हार्पर कोलिंस इंडिया- 2020)
    – रुजुता दिवाकर की पुस्तक ‘इटिंग इन द ऐज ऑफ डाइटिंग’ (वेस्टलैंड- 2020)

    Tags: Books

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर