लाइव टीवी

बुरहानपुर की 750 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मिला स्मार्टफोन, काम होगा आसान

Sharik Akhtar | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: May 21, 2017, 5:32 PM IST
बुरहानपुर की 750 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मिला स्मार्टफोन, काम होगा आसान
स्मार्टफोन के साथ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता.

यह योजना मध्य प्रदेश के पंद्रह जिलों की आंगनबाड़ी केंद्रों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू की गई है.

  • Share this:
भारत सरकार आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन देकर उन्हें स्मार्ट कार्यकर्ता बना रही है. स्मार्टफोन से हर उस बच्चे पर नजर रखी सकेगी जो आंगनवाड़ी में सरकारी पोषण आहार लेते हैं. एक सॉफ्टवेयर के जरिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता स्मार्टफोन के जरिए  प्रतिदिन की जानकारी अपलोड करेंगी.

यह योजना मध्य प्रदेश के पंद्रह जिलों की आंगनवाड़ी केंद्रों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू की गई है. इसमें से एक जिला बुरहानपुर भी है. यहां की 750 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन दिए जा चुके हैं और इनकी ट्रेनिंग भी पूरी हो चुकी है.

आंगनवाड़ी केंद्रों में बच्चों की कम उपस्थिति के बावजूद पूरा पोषण आहार पेपर पर खपाए जाने की खबरें रोज आती थीं. आंगनवाड़ी का काम दिखाई कम देता है लेकिन इन कामों की कागजी खानापूर्ति ज्यादा होती है.

बच्चों का रिकार्ड एक साथ अलग-अलग 11 रजिस्टरों में दर्ज किया जाता है. आंगनवाड़ी कार्यकर्ता इस बात से खुश हैं कि स्मार्टफोन मिलने से अब उनका काम आसान हो जाएगा और समय पर सारा डेटा एक क्लिक पर केंद्र से लेकर जिले स्तर के अधिकारियों तक पहुंच जाएगा. कार्यकर्ता शारदा नेरकर ने कहा कि इससे उनका काम आसान हो जाएगा.

बुरहानपुर के जिला कार्यक्रम अधिकारी अब्दुल गफ्फार खान ने कहा कि सरकार की योजना सभी विभागों के कामकाज को पेपरलेस बनाना है. इसके तहत की महिला और बाल विकास विभाग के तहत काम करने वाले आंगनबाड़ी केंद्रों को भी पेपरलेस बनाया जा रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बुरहानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2017, 5:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...