MP by Election 2020 : प्रचार ज़ोर पकड़ने के साथ बढ़ रहे हैं नेताओं के बिगड़े बोल

सांसद महेन्द्र सिंह सोलंकी ने तो कांग्रेस पर मनोहर ऊंटवाल की हत्या का आरोप लगा दिया.
सांसद महेन्द्र सिंह सोलंकी ने तो कांग्रेस पर मनोहर ऊंटवाल की हत्या का आरोप लगा दिया.

आगर (Agar) विधानसभा उपचुनाव (by election) में प्रचार की अभी तो सिर्फ शुरुआत ही हुई है. नेतओं के बोल और कितने बिगड़ेंगे कहा नहीं जा सकता.

  • Share this:
आगर.आगर विधानसभा सीट (Assembly by Election) पर जैसे जैसे चुनावी प्रचार जोर पकड़ रहा है वैसे वैसे नेताओ के बयानों में तल्खियां भी बढ़ने लगी हैं. यहां हो रही चुनावी सभाओं में नेताओं (Leaders) के बयानों ने माहौल का पारा गर्मा दिया. चुनाव प्रचार के लिए यहां अब तक आए नेता लगातार विवादित और अमर्यादित बयान दे रहे हैं.

यहां हुए बीजेपी सम्मेलन में देवास शाजापुर सांसद महेंद्र सोलंकी ने कांग्रेस पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा था आगर से विधायक रहे मनोहर ऊंटवाल को कांग्रेस ने सुनियोजित तरीके से मरवाया है. इसके बाद मध्यप्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने भी सभा में विवादित बयान दिया. इन सब के अलावा केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने कमलनाथ को मंच से चुनौती दी कि प्रदेश में एक भी व्यक्ति का नाम बताएं जिसका 2 लाख का कर्जा माफ हुआ हो.

ये क्या कह गए सांसद सोलंकी
सबसे पहले बात करते है बीजेपी सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी के बयान की. सोलंकी ने खुले मंच से तत्कालीन कांग्रेस सरकार पर दिवंगत भाजपा विधायक मनोहर ऊंटवाल की सुनियोजित हत्या का आरोप लगाया. सांसद सोलंकी ने कहा गांव गरीब मजदूर और दलितों की लड़ाई लड़ते हुए हमारे भाई मनोहर जी ऊंटवाल शहीद हो गए. वो बीमारी से नहीं गए. सुनियोजित तरीके से कांग्रेस की सरकार ने उनको मारा है. मीडिया ने जब सांसद सोलंकी से उनके आरोप पर सवाल किया तो सोलंकी बोले-सरकार,भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को चिन्हित करके द्वेष पूर्ण कार्रवाई कर रही थी. उसका विरोध जिस ताकत के साथ मनोहर ऊंटवाल जी ने किया था. उन्हें दबाने के लिए कांग्रेस के लोगों ने ऊंटवालजी को अपमानित किया. वह परेशान और बीमार थे इसके बावजूद जिस प्रकार से पुलिस ने पकड़ कर ऊंटवाल जी को दिन में थाने में बैठाया था, उससे उन्हें बहुत आघात हुआ था. इसी वजह से उनकी मृत्यु हुई है.
मोहन यादव भी कुछ इस तरह बोले


सांसद महेंद्र सोलंकी के बाद सभा मे प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव बोले. अपने संबोधन में कांग्रेस प्रत्याशी विपिन वानखेड़े की ओर इशारा करते हुए कहा विधायक इसलिए नहीं होते की सरपंचों का शिकार करें. शिकार करना है तुम में दम हो तो जंगल मे जाओ और जानवर मारो. कांग्रेस सरकार के समय आगर के अतिक्रमण तोड़ने का जिक्र करते हुए कहा यादव समाज की धर्मशाला तोड़ने पहुंच गए. हम दौड़े चले आएंगे, ईंट से ईंट बजा देंगे. हमारे साथ कोई बुरा करेगा तो घर से निकाल लाएंगे ओर जमीन में गाड़ने वाले लोग हम है. आगर विधानसभा सीट के लिए कांग्रेस प्रभारी जयवर्धन सिंह की ओर इशारा करते हुए कहा नकली राजा के छोरे को ले आए. हम सबको ठिकाने लगा देंगे.

गहलोत की चुनौती
आगर में बयान देने में केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत भी पीछे नहीं रहे. उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ को मंच से चुनौती दे दी. कहा मैं कमलनाथ को चुनौती देता हूं कि प्रदेश में एक भी व्यक्ति का नाम बताएं जिसका 2 लाख का कर्ज माफ हुआ हो. पूरे प्रदेश में एक का भी 2 लाख का कर्जा माफ नहीं हुआ. उन्होंने दिग्विजय सिंह को आड़े हाथों लेते हुए कहा दिग्विजय सिंह कहते थे कि चुनाव विकास से नहीं जुगाड़ से जीते जाते हैं.

कमलनाथ को बताया कपटनाथ-इन नेताओं से पहले बीजेपी के चुनाव कार्यालय का उद्घाटन करने आए बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मध्यप्रदेश में कमलनात सरकार गिरने के बारे में कहा अगर अमित शाहजी मना नहीं करते तो मैं दो माह में ही सरकार गिरा देता.वो आगे बोले कमलनाथ ने अपने पास जो भी आया उसे भोलेनाथ बनकर सब देने की हां कर दी पर बाद में लोगो को पता चला कि यह तो कमलनाथ नहीं कपटनाथ हैं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज