लाइव टीवी

आज़ादी के 72 साल बाद अलीराजपुर पहुंची ट्रेन, पटाख़ों और ढोल-नगाड़ों से स्वागत

News18 Madhya Pradesh
Updated: October 31, 2019, 3:33 PM IST
आज़ादी के 72 साल बाद अलीराजपुर पहुंची ट्रेन, पटाख़ों और ढोल-नगाड़ों से स्वागत
आज़ादी के 72 साल बाद अलीराजपुर ज़िले को मिली ट्रेन

72 साल बाद मध्य प्रदेश (madhya pradesh) के आदिवासी बहुल (Tribal area) अलीराजपुर ज़िले का सपना पूरा हुआ. अलीराजपुर को ट्रेन (train) मिल गयी है. खुशी से झूम रहे लोगों के लिए ये मौका दीवाली (diwali) का भी था और होली का भी.

  • Share this:
अलीराजपुर. एक सपना पूरा होने में सदियां लग गई. देश आज़ाद होने के बाद भी पूरे 72 साल इंतज़ार करना पड़ा. अलीराजपुर (alirajpur) को अब जाकर ट्रेन (train) मिल पाई है. छुक-छुक करता इंजन जैसे ही प्लेटफॉर्म पर पहुंचा तो लोग भावुक हो गए. आज़ादी के 72 साल बाद मध्य प्रदेश के इस आदिवासी बहुल अलीराजपुर ज़िले का सपना पूरा हुआ. अलीराजपुर को ट्रेन मिल गयी है. खुशी से झूम रहे लोगों के लिए ये मौका दीवाली का भी था और होली का भी. ट्रेन जैसे ही व्हिसिल मारती हुई स्टेशन पर पहुंची तो पटाख़े और ढोल-ढमाकों की आवाज़ से आकाश गूंज उठा. इस ऐतिहासिक मौके को अपनी आंखों से देखने के लिए सांसद गुमान सिंह डामोर सहित बड़ी संख्‍या में लोग मौजूद थे.

ड्राइवर और स्टाफ का स्वागत
सांसद गुमानसिंह डामोर ने ट्रेन के ड्राइवरों और सहयोगी स्टाफ का फूल माला से स्वागत किया. सांसद डामोर ने सबसे पहले रेलवे स्टेशन का लोकार्पण किया. फिर क्षेत्र की जनता को संबोधित किया. उसके बाद ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. ये ट्रेन बड़ौदा के प्रतापनगर से अलीराजपुर के बीच चलेगी. फिलहाल एक ही ट्रेन चलेगी. धीरे-धीरे इनकी संख्या बढ़ाई जाएगी.

हर तरफ खुशी

ट्रेन को देखने के लिए ज़िले भर से लोग यहां पहुंचे थे.  उनका कहना है कि देर आए-दुरुस्त आए. ये परियोजना पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के समय 2008 में मंजूर हुई थी. इसे पूरा होने में 11 साल लगे. इससे अब लोगों को आवाजाही और क्षेत्र के विकास में मदद मिलेगी. किसान अब अपनी सब्जी सीधे गुजरात के बड़े शहरो में जाकर बेच पाएंगे.

ऐतिहासिक मौके को अपनी आंखों से देखने के लिए सांसद गुमान सिंह डामोर सहित बड़ी संख्‍या में लोग मौजूद थे.


रेलवे से मांग
Loading...

सांसद गुमान सिंह डामोर ने कहा उन्होंने रेलवे के अधिकारियों से चर्चा की है. उन्होंने इसका समय बदलने की मांग की है. अभी ट्रेन दोपहर में अलीराजपुर से बड़ौदा के लिए रवाना होती है. सांसद और स्थानीय लोगों की मांग है कि इसका समय सुबह किया जाए. सुबह अलीराजपुर से ट्रेन रवाना होकर शाम को वापस आए. उन्होंने स्टेशन के बाहर 100 फीट ऊंचा तिरंगा झंडा लगाने की मांग की है.
(अलीराजपुर से वसीम मकरानी का इनपुट)

ये भी पढ़ें-घर के अंदर पटाख़ा फटने से वकील की मौत, विस्फोट में आधा सिर उड़ा

धार में अज्ञात वाहन ने मारी 2 कारों में टक्कर : 3 की मौत, 7 लोग घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलीराजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 2:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...