लाइव टीवी

...जब 1 साल के बेटे का शव लेकर डेढ़ घंटे तक भटकते रहे लाचार मां-बाप

News18 Madhya Pradesh
Updated: November 20, 2019, 8:43 AM IST
...जब 1 साल के बेटे का शव लेकर डेढ़ घंटे तक भटकते रहे लाचार मां-बाप
गोद में बच्चे का शव लिए पीड़ित पिता

दरअसल, कदम (पीड़ित पिता) को डॉक्टरों ने कहा था कि 1 साल के बच्चे के शव को ले जाने के लिए मुफ्त में वाहन नहीं मिलता. डॉक्टर ने कहा था कि अगर बच्चे के शव को वाहन से ले जाना है तो उसमें डीजल के पैसे देने होंगे, लेकिन कदम के पास पैसे नहीं थे.

  • Share this:
अलीराजपुर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के अलीराजपुर (Alirajpur) जिला चिकित्सालय में एक मार्मिक घटना (Affecting Incident) सामने आई है. जिले के ग्राम अजंदा के रहने वाले कदम चौहान अपने 1 साल के बच्चे को लेकर जिला चिकित्सालय अलीराजपुर आए थे, जहां बच्चे की इलाज के दौरान मौत हो गई. मौत के बाद बच्चे के शव को ले जाने के लिए कदम और उसकी पत्नी इधर-उधर भटकते रहे, लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने वाहन उपलब्ध नहीं कराया. थक हारकर जिला चिकित्सालय के सामने पार्किंग जोन में दोनों माता-पिता बच्चे के शव के साथ बैठ गए और मातम मनाने लग गए.

पूरा मामला

दरअसल, कदम (पीड़ित पिता) को डॉक्टरों ने कहा था कि 1 साल के बच्चे के शव को ले जाने के लिए मुफ्त में वाहन नहीं मिलता. डॉक्टर ने कहा था कि अगर बच्चे के शव को वाहन से ले जाना है तो उसमें डीजल के पैसे देने होंगे, लेकिन कदम के पास पैसे नहीं थे. मामला मीडिया के संज्ञान में आया तो वरिष्ठ अधिकारियों ने आनन फानन में शव को ले जाने के लिए वाहन उपलब्ध करवाया.

'सुबह के बाद डॉक्टर बच्चे को देखने नहीं आए, शाम को मृत बता दिया'

बच्चे के पिता ने बताया कि डॉक्टर सुबह आए थे, पर उसके बाद आए ही नहीं और शाम को आए तो कहा "तुम्हारे बच्चे की हालत गंभीर है. हम कुछ नहीं कर सकते, बाहर ले जाओ." फिर कुछ घंटों बाद बच्चे ने दम तोड़ दिया. बाद में बच्चे के शव को ले जाने के लिए बात की तो डॉक्टर ने कहा कि 1 साल बच्चे के शव को ले जाने के लिए कोई वाहन नहीं दिया जाता, अगर शव को वाहन से ले जाना है तो डीजल के पैसे लगेंगे.

वहीं पैसे नहीं होने के कारण दोनों पति-पत्नी अपने बच्चे के शव को लेकर इधर-उधर भटकते रहे. थक हारकर जिला चिकित्सालय के सामने बैठकर अपनी किस्मत पर रोने लगे और बच्चे की मौत का मातम करने लगे.

इस मामले में शिशु विशेषज्ञ  डॉक्टर डॉ. सचिन पाटीदार ने कहा कि बदलते मौसम के कारण आए दिन निमोनिया (Pneumonia) के मरीज आ रहे हैं. इसी क्रम में निमोनिया से ग्रसित एक बच्चे की मंगलवार को मौत हो गई, जिसे परिजन गंभीर अवस्था में अस्पताल लेकर आए थे.
Loading...

(वसीम मकरानी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें:- परिवार का दावा : पाकिस्तान में पकड़ा गया दमोह का युवक मानसिक रूप से विक्षिप्त

ये भी पढ़ें:- खुशखबरी! MP के पुलिसकर्मियों को मिलेगी वीकली ऑफ की सौगात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलीराजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 8:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...