बेटे के 'लापता' होने और पिता की आत्‍महत्‍या के बाद सोंडवा पुलिस थाने में भीड़ का बवाल, प्रशासन ने उठाया ये कदम

News18 Madhya Pradesh
Updated: September 2, 2019, 4:45 PM IST
बेटे के 'लापता' होने और पिता की आत्‍महत्‍या के बाद सोंडवा पुलिस थाने में भीड़ का बवाल, प्रशासन ने उठाया ये कदम
भीड़ ने सोंडवा पुलिस थाने में की तोड़फोड.( सांकेतिक फोटो)

धीरेंद्र के लापता होने के बाद सोंडवा थाना पुलिस के द्वारा उसके परिवार को बार बार परेशान किए जाने लगा और इस वजह से रविवार रात्रि को युवक के पिता बूटसिंह ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

  • Share this:
मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) के अलीराजपुर (Alirajpur) जिले के सोंडवा थाना (Sondwa Police Station) पर आज जमकर हुगामा हुआ और गुस्‍साई भीड़ ने थाने में तोड़फोड़ भी कर डाली. दरअसल, परिजनों का आरोप है कि 27 अगस्त को जब सोंडवा थाना पुलिस ग्राम बयड़ीया धीरेंद्र को चोरी के आरोप में पूछताछ के लिए पकड़ने गई थी, तब युवक पुलिस से घबराकर पास की नदी में कूद गया और इसके बाद से वो लापता चल रहा है.

पुलिस की वजह से पिता ने उठाया ये कदम
धीरेंद्र के लापता होने के बाद सोंडवा थाना पुलिस के द्वारा उसके परिवार को बार बार परेशान किए जाने लगा और इस वजह से रविवार रात्रि को युवक के पिता बूटसिंह ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बूटसिंह की आत्‍महत्‍या के बाद परिजन व गांव वाले थाने पर पहुंच गए और जमकर हंगामा करने लगे. मामले की गंभीरता को देखते हुए सोंडवा थाने पर भारी पुलिस बल लगाया गया, लेकिन परिजन थे कि किसी की बात को मानने को तैयार ही नहीं हुए और युवक के पिता के शव को थाने पर लाकर बैठ गए.

इस बवाल के बाद अतरिक्त पुलिस अधिक्षक ने परिजनों से मुलाकत की और गांव वालों को आश्वासन दिया कि मामले की जांच करवाई जाएगी और दोषी पुलिसकर्मी पर कार्यवाही की जाएगी, तब जाकर परिजन माने और शव को थाने से हटाकर पोस्‍टमार्टम करवाने को राजी हुए. फिलहाल थाने पर अतरिक्त संख्‍या में पुलिस बल लगाया गया है.

परिजनों ने लगाया ये आरोप
हंगामा करने वाले लोगों का कहना है कि 27 अगस्त को बिना कोई कारण के सोंडवा थाना पुलिस धीरेंद्र को पकड़ने आई और धीरेंद्र इससे घबराकर नदी में कूद गया, तब से उसका कोई पता नहीं चल रहा है. जबकि पुलिस बार-बार घर आकर धीरेंद्र के पिता को धमकाते हुए कहती थी कि धीरेंद्र कही छुपा है तुमको मालूम होगा. वहीं पुलिस के द्वारा परेशान किए जाने के बाद धीरेंद्र के पिता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

पुलिस ने कही ये बात
Loading...

इस मामले में पुलिस का कहना कि 27 अगस्त को पुलिस धीरेंद्र के घर गई थी, क्योंकि वो चोरी की शंका में था. लेकिन धीरेंद्र घर से गायब था और उसका कोई पता नहीं लग पाया था. पुलिस ने भी काफी तलाश की थी. जबकि इसी वजह से उसके पिता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. हंगामे के बारे में पुलिस का कहना कि परिजन ये चाह रहे थे कि पीएम एक पैनल से करवाया जाए और मजिस्ट्रेट के रहने की भी बता कही है. हमने उनकी मांग मान ली है और अब मजिस्ट्रेट से जांच करवाएगें.

जबकि भीड़ द्वारा बवाल मचाने पर पुलिस ने कहा कि हंगामे के समय इन लोगों ने थाने को घेर रखा था. यही नहीं, थाने के दरवाजे खिड़कियां भी तोड़ डालीं और थाना प्रभारी व स्टाफ के साथ भी अभद्र व्यवहार किया है.

ये भी पढ़ें- शिवराज के नेता प्रतिपक्ष न बन पाने के कारण BJP में बिखराव की स्थिति : गोविंद सिंह राजपूत

क्या सिंधिया एक बार फिर होंगे कमलनाथ-दिग्विजय के राजनीतिक शिकार?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलीराजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 2, 2019, 4:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...