Home /News /madhya-pradesh /

tribal will make heritage liquor manufacturing in alirajpur government is going make it international brand nodps

अब भूल जाइये टकीला, व्हिस्की और रम, देशी शराब बनेगी देश-दुनिया में ब्रांड, अलीराजपुर में तैयार हुआ प्लांट

फूल से बनाई जाने वाली दुनिया की पहली शराब का प्लांट तैयार.

फूल से बनाई जाने वाली दुनिया की पहली शराब का प्लांट तैयार.

मध्यप्रदेश के अलीराजपुर जिले में महुए के फूल से बनाई जाने वाली देशी शराब का प्लांट बनकर तैयार हो गया है. करीब 2 महीने में यह प्लांट पूरी तरह चालू हो जाएगा. इसकी टेस्टिंग शुरू हो चुकी है. अब यहां बनाई जाने वाली देशी शराब को प्रमोट किया जाएगा. साथ ही इसे हैरिटेज भी बनाया जाएगा. आबकारी विभाग ने इसकी तैयारी कर ली है. यह शराब होटलों और मंहगे रेस्टोरेंट में भी उपलब्ध कराने का प्लान बनाया जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

अलीराजपुर. अंग्रेजी शराब के सामने देशी शराब हमेशा से ही कमतर आंकी गई है. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अब अलीराजपुर की महुए से बनने वाली देशी शराब विदेशी ब्रांड्स को भी टक्कर देगी. आबकारी विभाग ने इसकी तैयारी कर ली है. अब महुए के फूल से बनने वाली देशी शराब को देश-दुनिया में ब्रांड बनाया जाएगा. आबकारी विभाग ने अलीराजपुर जिले के कटटीवाडा के जंगलों में एक प्लांट तैयार किया है. यह प्लांट 2 महीने में कंप्लीट हो जाएगा. बता दें कि महुआ का हैरिटेज प्लांट बनकर तैयार हो गया है. अब इसकी टेस्टिंग की जा रही है. आपको बता कि हर देश की अपनी एक हेरीटेज शराब है, जो उस देश की पहचान है.

जैसे टकीला, व्हिस्‍की, वोडका और रम आदि शराब. अब भारत में भी देशी पद्धति से बनने वाली महुआ शराब विदेशो में पहचानी जाएगी. बता दें कि दुनिया की नामी शराब जो किसी फल या अनाज से नहीं बल्कि महुआ के फूल से बनाई जाती है. यह दुनिया की पहली ऐसी शराब है जो किसी फूल से बनती है. मप्र सरकार के अनुदान से इस प्‍लांट को तैयार किया गया है. आदिवासी क्षेत्र के आदिवासी ही इस प्‍लांट को संचालित भी करेंगे. जिससे कि आदिवासियों को रोजगार मिलेगा जिससे वे सक्षम होंगे. इस महुआ शराब को इलाके के आदिवासी समूह ही विक्रय भी करेगे.

शराब की जाएगी होटलों में ब्रांडिंग
बता दें कि अलीराजपुर जिले में बनने वाली महुआ शराब अब प्रदेश या देश ही नहीं विदेशो में भी पहचानी जाएगी. इसके लिए आबकारी विभाग ने प्‍लानिंग कर ली है. महुआ को हेरिटेज स्‍टेटस दिलाने के लिए अब इसकी ब्रांडिग की जाएगी. इसके लिए इस शराब को एमपी टूरिस्‍म के होटलों, एयरपोर्ट व अन्‍य रेस्‍टोरेंट में भी देखा जाएगा. वहीं यह शराब अन्‍य देशों की हरीटेज शराबों की श्रेणी में आ सकती है. देशी पद्धति से बनने वाली शराब पूरी तरह कुदरती रूप से तैयार की जाएगी.

जिससे की यह शराब शरीर को ज्‍यादा हानी न पहुचा पाए. वहीं प्रशासन ने भी इस हेरीटेज प्‍लांट को लेकर तैयारीयां कर ली हैं. जानकारी के मुताबिक यह प्लांट 2 महीने में कंप्लीट हो जाएगा. इसके लिए टेंस्टिंग का दौर शुरू हो गया है. साथ ही आबकारी विभाग ने शराब की लेबलिंग से लेकर उसकी बोटलिंग तक की तैयारी कर ली है.

Tags: Madhya pradesh news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर