मां ने जिस भाजपा नेता को चुनाव में हराया, बेटी ने उसी के साथ लिए सात फेरे
Anuppur News in Hindi

मां ने जिस भाजपा नेता को चुनाव में हराया, बेटी ने उसी के साथ लिए सात फेरे
Photo- Facebook

राजनीति में यूं तो नेता एक-दूसरे के खिलाफ तीखी बयानबाजी करते हुए नजर आते है, फिर भी कई नेताओं में विरोधी दलों के होने के बावजूद एक आत्मीय रिश्ता रहता है. लेकिन दो विरोधी दलों के नेताओं ने ऐसा कुछ रिश्ता जुड़ गया, जिसकी हर कोई चर्चा कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2017, 5:48 PM IST
  • Share this:
राजनीति में यूं तो नेता एक-दूसरे के खिलाफ तीखी बयानबाजी करते हुए नजर आते हैं, फिर भी कई नेताओं में विरोधी दलों के होने के बावजूद एक आत्मीय रिश्ता रहता है. लेकिन दो विरोधी दलों के नेताओं में ऐसा कुछ रिश्ता जुड़ गया, जिसकी हर कोई चर्चा कर रहा है.

दरअसल, मध्य प्रदेश के शहडोल और अनूपपुर जिले में राजनीतिक में सक्रिय और इसी संसदीय सीट से पिछले साल लोकसभा सीट पर कांग्रेस की तरफ से चुनावी रण में उतरी हिमाद्री सिंह, भाजपा नेता और राज्य अनूसूचित जन जाति आयोग के अध्यक्ष (कैबिनेट दर्जा प्राप्त) नरेंद्र सिंह मरावी के साथ विवाह बंधन में बंध गई.

सियासी मैदान में एक-दूसरे को चुनौती देते नज़र आने वाले इन दोनों नेताओं की इसी साल 8 जून को सगाई हुई थी. करीब पांच महीने बाद दोनों नेताओं ने अनूपपुर जिले के राजेंद्रग्राम में सात फेरे लिए. दोनों को आशीर्वाद देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी पहुंचे थे.



> हिमाद्री सिंह कांग्रेस की तरफ से पिछले साल उपचुनाव भी लड़ी थीं.
> नरेंद्र मरावी 2009 में हिमाद्री की मां के खिलाफ चुनाव लड़े और हार गए थे.
> हिमाद्री के माता-पिता (दलजीत सिंह और राजेश नंदनी सिंह) दोनों कांग्रेसी थे.
> हिमाद्री के माता-पिता का निधन हो गया है.
> पिछले साल हिमाद्री बीजेपी के उम्मीदवार ज्ञान सिंह के खिलाफ चुनाव जीत ना सकीं.
> 2009 में नरेंद्र सिंह को हिमाद्री की मां ने 13,415 वोटों से शिकस्त दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading