EOW ने दर्ज कराई पीएचई घोटाले में एफआईआर

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 3, 2017, 1:21 PM IST
EOW ने दर्ज कराई पीएचई घोटाले में एफआईआर
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग

अनूपपुर जिले में करोड़ों रुपए के पीएचई घोटाले में ईओडब्लू द्वारा एफआईआर दर्ज करने के बाद जिले के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में हड़कंप मचा हुआ है.

  • Share this:
अनूपपुर जिले में करोड़ों रुपए के पीएचई घोटाले में ईओडब्ल्यू द्वारा एफआईआर दर्ज करने के बाद जिले के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. आरोपी अधिकारी-कर्मचारी एक दूसरे को इसके लिए दोषी ठहरा रहे हैं. एक आरोपी उपयंत्री ने विभाग के तत्कालीन प्रमुख सचिव को ही इसके लिए दोषी ठहरा दिया है.

जानकारी के अनुसार साल 2014 में अनूपपुर जिले के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में करोड़ों रुपए का घोटाला हुआ था. नलजल योजना के लिए करीब 10 करोड़ रुपए की मनमानी खरीदी कर शासन को 5 करोड़ रुपए का नुकसान पहुंचाया गया. इस प्रक्रिया में 29 लाख रुपये से अधिक का बंदरबांट हुवा हैअनूपपुर विधायक रामलाल रौतेल द्वारा विधानसभा में मामला उठाने के बाद इस मामले की जांच के आदेश सरकार द्वार दिए गए थे.

ईओडब्ल्यू ने जांच के बाद विभाग के 6 अधिकारी-कर्मचारी सहित कुल 13 लोगो के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. तत्कालीन कार्यपालन यंत्री वीके मरावी, इंजीनियर आरपी अहिरवार, उपयंत्री एसपी दुवेदी, तकनीकी शाखा प्रभारी डीके पचौरी, लेखा अधिकारी आरजी पनिका और बाबू बंसतलाल मामले में आरोपी बनाए गए हैं. इसके अलावा भोपाल, छतरपुर, कटनी और अनूपपुर जिले की 7 फर्मों के खिलाफ धोखाधड़ी, आपराधिक साजिश और भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है. एफआईआर दर्ज होने के बाद आरोपी कर्मचारी-अधिकारी एक दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अनूपपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2017, 1:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...