MP By-election: अनूपपुर से भाजपा के बिसाहूलाल सिंह ने कांग्रेस के विश्वनाथ सिंह को हराया, ये हैं जीत की 3 वजह!

बिसाहूलाल मध्यप्रदेश सरकार में मंत्री भी हैं और कई बार विवादित बयान दे चुके हैं
बिसाहूलाल मध्यप्रदेश सरकार में मंत्री भी हैं और कई बार विवादित बयान दे चुके हैं

अनूपपुर में आदिवासी वोट (Tribal votes) निर्णायक होते हैं, इसलिए दोनों ही प्रत्याशी (Candidates) इसी समाज से थे. हालांकि, जीत बिसाहूलाल सिंह को मिली. ऐसे में आइए जानते हैं अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र (Anuppur Assembly Constituency) से बिसाहूलाल के जीतने के 3 प्रमुख कारण...

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 10, 2020, 5:16 PM IST
  • Share this:
अनूपपुर. मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र (Anuppur Assembly Constituency) से एक बार बिसाहूलाल सिंह ने जीत दर्ज की है. इस बार वे भाजपा (BJP) से जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं. साल 2018 में कांग्रेस (Congress) के टिकट पर जीत दर्ज करने वाले बिसाहूलाल, ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के साथ भाजपा से जुड़ गए थे. 1.70 लाख मतदाता क्षेत्र वाले अनूपपुर से इस बार बिसाहूलाल छठवीं बार विधानसभा पहुंचे हैं. वे मध्यप्रदेश सरकार में मंत्री (Minister) भी हैं और कई बार विवादित बयान दे चुके हैं. अनूपपुर में आदिवासी वोट निर्णायक होते हैं, इसलिए दोनों ही प्रत्याशी इसी समाज से थे. हालांकि, जीत बिसाहूलाल सिंह को मिली. ऐसे में आइए जानते हैं अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र से बिसाहूलाल के जीतने के 3 प्रमुख कारण...

1. बिसाहूलाल सिंह इस बार मध्यप्रदेश सरकार में मंत्री हैं. ऐसे में अनूपपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में विकास की उम्मीद से मतदाताओं ने वोट दिए.

2. बिसाहूलाल सिंह ने 2018 में भाजपा के राम लाल रौतेल को हराया था, लेकिन इसके बावजूद दोनों में कोई मनमुटाव नहीं दिखा. राम लाल रौतेल ने बिसाहुलाल का भरपूर समर्थन किया. ऐसे में रामलाल रौतेल के समर्थकों ने भी बिसाहूलाल को जीत दिलाने में लग गए.



3. कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह भी बिसाहूलाल के साथ आ गए थे, ऐसे में जिले में कांग्रेस के नेतृत्व का भाजपा से जुड़ने की वजह से कांग्रेसी मतदाताओं ने भी बिसाहूलाल को अपना नेता मान उन्हें वोट किया. साथ ही यहां पर शिवराज सिंह चौहान का प्रभाव भी काफी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज