राज्य मानवाधिकार आयोग ने तीन जिला कलेक्टरों से मांगा जवाब, वजहें जानकार चौंक जाएंगे आप

मध्य प्रदेश मानवाधिकार आयोग ने शिक्षा से जुड़े तीन मामलो पर संज्ञान लेते हुए बैतूल, अनूपपुर और सीहोर कलेक्टर और जिला शिक्षा अधिकारी से जवाब तलब किया है.

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: July 28, 2017, 11:30 AM IST
राज्य मानवाधिकार आयोग ने तीन जिला कलेक्टरों से मांगा जवाब, वजहें जानकार चौंक जाएंगे आप
file photo
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: July 28, 2017, 11:30 AM IST
मध्य प्रदेश मानवाधिकार आयोग ने शिक्षा से जुड़े तीन मामलो पर संज्ञान लेते हुए बैतूल, अनूपपुर और सीहोर कलेक्टर और जिला शिक्षा अधिकारी से जवाब तलब किया है.

पहला मामला बैतूल जिले के गोबरवेल शासकीय प्राथमिक स्कूल का है, जो पिछले 15 दिनों से एक हनुमान मंदिर में चल रहा है. आयोग ने बैतूल कलेक्टर और जिला शिक्षा अधिकारी से जवाब तलब किया है. यहां स्कूल बिल्डिंग क्षतिग्रस्त होने से बच्चे मंदिर के बाहर खुले फर्श पर बैठकर पढ़ने को मजबूर हैं.

वहीं अनूपपुर जिले के राजनगर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के छात्र के साथ प्राचार्य ने बेरहमी से मारपीट की. छात्र का कसूर इतना था कि उसने उसी कक्षा में पढ़ रहे अपने भाई के लिए निःशुल्क किताबें ले ली थी. आयोग ने इस घटना पर संज्ञान लेते हुए अनूपपुर एसपी और जिला शिक्षा अधिकारी से जवाब तलब किया है.

तीसरा मामला सीहोर जिले के पतलोना बिजौरी गांव का है जिसमें तीन साल से सरकारी प्रायमरी स्कूल एक घर में चल रहा है तीन साल पहले गांव में स्कूल का सर्वे होने पर गांव के कमलेश सोलंकी को अपने घर के पास स्कूल खोलने की अनुमति दे दी थी. उस वक्त से प्रशासन ने स्कूल के भवन निर्माण की तरफ ध्यान ही नहीं दिया है. आयोग ने यहां भी कलेक्टर और जिला शिक्षा अधिकारी सीहोर को नोटिस जारी किया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अनूपपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 27, 2017, 8:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...