MP के इस जिले में मोबाइल नेटवर्क नहीं, इसलिए मंत्री जी 50 फीट ऊंचे झूले पर बिताते हैं 2 घंटे, जानें पूरा माजरा

राज्य मंत्री इस तरह झूले पर बैठकर रोज 2 घंटे बात करते हैं.

राज्य मंत्री इस तरह झूले पर बैठकर रोज 2 घंटे बात करते हैं.

शिवराज सिंह चौहान सरकार के मंत्री ब्रजेंद्र सिंह यादव को अपने क्षेत्र में मोबाइल के सिग्नल नहीं मिलते. इस वजह से उन्हें रोज 50 फीट की ऊंचाई पर चढ़ना होता है. वे वहीं आस-पास लगे इस झूले पर रोज 2 घंटे बिताते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 1:59 PM IST
  • Share this:
अशोकनगर. मुंगावली में एक अनोखा वाकया हुआ. मंत्री अपने ही क्षेत्र में थे और उन्हें जनता से किया वायदों को पूरा करना था. इसके लिए जब उन्होंने अधिकारियों से बात करनी चाही तो मोबाइल का सिग्नल ही नहीं मिला. इसका उन्होंने ऐसा अनोखा तरीका निकाला कि सबकी लिए वो मिसाल बन गया.

दरअसल, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव के गांव सुरेल के पास धार्मिक क्षेत्र में कथा का आयोजन किया गया है. मंत्री खुद यहां यजमान की भूमिका में हैं. लेकिन उनकी परेशानी यह है कि उन्हें यहां मोबाइल के सिग्नल नहीं मिल रहे. ऐसी परिस्थिति में उन्होंने एक जुगाड़ निकाली. वे मोबाइल पर बात करने पास में लगे एक झूले पर करीब 2 घंटे बैठ जाते हैं. इस झूले की ऊंचाई करीब 50 फीट है.

दो पहलुओं की है ये कहानी

इस पूरी कहानी में 2 पहलू हैं. एक दिखाता है कि कैसे एक जनप्रतिनिधि खुद की जान की परवाह न करते हुए 2 घण्टे तक 50 फीट की ऊंचाई पर हवा में झूलते रहते हैं. वहीं, दूसरा पहलू यह है कि यहां इतना विकास ही नहीं हुआ कि मोबाइल के सिग्नल भी आ सकें. कहा गए सरकार के विकास के वादे. क्या यही है 4जी से 5 जी के सफर की असलियत. गौरतलब है कि मंत्री को यहां 9 दिन रुकना है और उन्हें रोज ऐसा करना होगा.
इस विवाद में भी फंस चुके यादव

राज्य मंत्री यादव पिछले साल अक्टूबर को सिख विवाद में भी फंस चुके हैं. उनका एक वीडियो वायरल हुआ था. इसमें वो सिख समाज के लिए गलत भाषा का उपयोग कर रहे थे और किसी को धमका रहे थे. इस पर उन्होंने कहा था कि मैंने सिख समाज के लिए किसी भी तरह की गलत भाषा का उपयोग नहीं किया. ये कांग्रेस की साजिश है और उसने ये वीडियो एडिट करके वायरल किया है. उन्होंने कहा कि जिस कार्यक्रम की यह बात की जा रही है, वह सिख समाज का था. और सिख समाज ने उनके लिए ही यह कार्यक्रम आयोजित किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज