Assembly Banner 2021

चित्रकूट के बाद अब मुंगावली, बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने

विधायक महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा के निधन के बाद खाली हुई सीट पर जीत के लिए दोनों ही पार्टियों ने जोर लगाना तेज कर दिया है

विधायक महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा के निधन के बाद खाली हुई सीट पर जीत के लिए दोनों ही पार्टियों ने जोर लगाना तेज कर दिया है

विधायक महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा के निधन के बाद खाली हुई सीट पर जीत के लिए दोनों ही पार्टियों ने जोर लगाना तेज कर दिया है

  • Share this:
चित्रकूट विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद अब मुंगावली विधानसभा उपचुनाव बीजेपी और कांग्रेस के लिए अहम हो गया है. विधायक महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा के निधन के बाद खाली हुई इस सीट पर जीत के लिए दोनों ही पार्टियों ने जोर लगाना तेज कर दिया है.

चित्रकूट में बीजेपी को बड़ी पटखनी देने वाली कांग्रेस, मुंगावली चुनाव में जीत की रणनीति में जुट गई है. तो वहीं बीजेपी ने भी मंत्रियों को मुंगावली में डेरा डालने को कह दिया है. चित्रकूट उपचुनाव में जहां अजय सिंह कांग्रेस पार्टी के स्टार बनकर उभरे. वहीं मुंगावली में पूरा दारोमदार ज्योतिरादित्य सिंधिया पर होगा. पार्टी हाईकमान ने मुंगावली सीट पर जीत के लिए प्रत्याशी चयन से लेकर चुनाव की रणनीति के लिए सिंधिया को अधिकृत कर दिया है.

मुंगावाली उपचुनाव के लिए कांग्रेस की रणनीति पर नजर डालें तो, दोनों उपचुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया के जिम्में चुनाव प्रचार की कमान होगी. पार्टी प्रत्याशी का फैसला भी सिंधिया ही करेंगे. इसके अलावा पार्टी के सभी दिग्गज नेता भी प्रचार में शामिल होंगे.



दूसरी ओर चित्रकूट में हार के बाद बीजेपी को मुंगावली का टेंशन बढ़ गया है. बीजेपी ने मंत्रियों को मुंगावली पहुंचकर समस्याओं के समाधान के निर्देश दिए हैं. मुंगावली से लौटे प्रदेश के ऊर्जा मंत्री पारस जैन की रिपोर्ट के मुताबिक सूखा ग्रस्त मुंगावली में बिजली, पानी और भावांतर सरकार के लिए मुसीबत बन सकता है. और सरकार समय रहते सरकार इन समस्याओं को दूर करने का काम करेगी.
कालूखेड़ा की श्रद्धांजलि सभा के बहाने कांग्रेस दिखाएगी दम

फिलहाल मुंगावली विधानसभा सीट पर उपचुनाव की तारीख का ऐलान नहीं हुआ है. लेकिन चित्रकूट उपचुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस के सामने जहां अपनी जीत के रथ को आगे बढ़ने की चुनौती है तो वहीं चित्रकूट उपचुनाव में मिली हार के बाद बीजेपी अब मुंगावली के टेंशन में है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज