अपना शहर चुनें

States

तो यहां से सिंधिया को घेर रही है भाजपा, सरगर्मियां हुईं तेज

ज्योतिरादित्य सिंधिया
ज्योतिरादित्य सिंधिया

मध्य प्रदेश के अशोकनगर जिले की मुंगावली विधानसभा में राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ती जा रही हैं. हाल ही में हुए भाजपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में प्रदेश के कई दिग्गज नेता इसमें शामिल हुए.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के अशोकनगर जिले की मुंगावली विधानसभा में राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ती जा रही हैं. हाल ही में हुए भाजपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में प्रदेश के कई दिग्गज नेता इसमें शामिल हुए.

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, जनसम्पर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा, गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह, उच्च शिक्षा मंत्रि जयभान सिंह पवैया की उपस्थिति में संपन्न हुए इस कार्यकर्ता सम्मलेन को एक सीट के लिए जंग की तैयारी माना जा रहा है.

गौरतलब है कि मूंगावली के विधायक महेंद्र सिंह कालूखेड़ा का निधन के बाद यह सीट रिक्त हो चुकी है. इस वजह से यहां उपचुनाव की सरगर्मियां तेज हो गईं हैं. जिले की तीन विधानसभा क्षेत्रों में से 2 पर कांग्रेस है. अशोकनगर जिले को वर्तमान सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का गढ़ माना जाता है, और इसी के साथ यह भी कहा जाता है कि उन्हें टक्कर देना बहुत मुश्किल काम है.



कालूखेड़ा के निधन के बाद से मुंगावली विधानसभा मानो एक राजनीतिक अखाड़ा बनता जा रहा है. पूर्व में कालूखेड़ा की शोकसभा पर कांग्रेस के दिग्गज नेताओं द्वारा किया गया शक्तिप्रदर्शन हो या फिर कार्यकर्ता सम्मेलन के नाम पर भाजपा के 5 दिग्गज नेताओं का जमावड़ा हो रहा है.
उल्लेखनीय है कि वर्ष में मुंगावली विधानसभा चुनाव में महेंद्र सिंह कालूखेड़ा ने भाजपा के देशराज सिंह यादव को 20 हजार से अधिक मतों से हराकर विजय प्राप्त की थी. उस समय प्रदेश में भाजपा की हवा में कांग्रेस ने 2 सीटों पर कब्जा किया था. इलाके में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का खासा प्रभाव मन जाता है. ऐसे में बड़ी संख्या में दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में कार्यकर्ता सम्मेलन होना यह साफ जाहिर करता है यह सिंधिया को घेरने की तैयारी है.

सम्मेलन में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष द्वारा कार्यकर्ताओं को इस बात की शपथ भी दिलाई गई कि निष्ठा से एकजुट होकर भाजपा को विजय दिलानी है. गौरतलब है कि सिंधिया भी जिले के 3 दिवसीय भ्रमण पर हैं. इस दौरान वे 2 दिन मुंगावली विधानसभा में कई कार्यक्रमो में हिस्सा लेंगे और कार्यकर्ताओं सहित जनता से रूबरू होंगे.

कालूखेड़ा की श्रद्धांजलि सभा के बहाने कांग्रेस दिखाएगी दम

मुंगावली विधानसभा में राजनीतिक दिग्गजों के अचानक हो रहे कार्यक्रमों से यह तो साबित होता है कि एक विधानसभा सीट को लेकर भाजपा और कांग्रेस में एक जंग का आगाज हो चुका है, जबकि अभी तक दोनों ही दलों में किसी ने भी अपने प्रत्याशी घोषित नही किए हैं. निश्चित है कि मुंगावली की सीट एक साख वाली सीट के रूप में दोनों दल में चुके हैं और इसके लिए आने वाले समय मे न जाने कितने दिग्गजों का आगमन मुंगावली क्षेत्र में होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज