Assembly Banner 2021

BJP नेताओं ने सिंधिया को कहा 'श्रीमंत' तो मंत्री ने शुद्धि के लिए पिलाया गंगाजल

सिंधिया के खिलाफ लगातार बयानबाजी करने वाले मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री जयभानसिंह पवैया अब भाजपा के कार्यकर्ताओं का श्रीमंत और महाराज कहने का भी विरोध करने लगे हैं

सिंधिया के खिलाफ लगातार बयानबाजी करने वाले मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री जयभानसिंह पवैया अब भाजपा के कार्यकर्ताओं का श्रीमंत और महाराज कहने का भी विरोध करने लगे हैं

सिंधिया के खिलाफ लगातार बयानबाजी करने वाले मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री जयभानसिंह पवैया अब भाजपा के कार्यकर्ताओं का श्रीमंत और महाराज कहने का भी विरोध करने लगे हैं

  • Share this:
कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ लगातार बयानबाजी करने वाले मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री जयभान सिंह पवैया अब भाजपा के कार्यकर्ताओं का श्रीमंत और महाराज कहने का भी विरोध करने लगे हैं.

इसी तारतम्य में उन्होने भाजपा के एक कार्यक्रम में भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष अभिलाष पाण्डेय और जिलाध्यक्ष रविन्द्र लोधी को मंच पर गंगाजल पिलाया और भविष्य में कभी भी इस प्रकार के सामंतवादी शब्दो का प्रयोग न करने की शपथ दिलाई.

दरअसल, पवैया भाजयुमो के अशोकनगर युवा सम्मेलन में अतिथि के रूप में आये थे. मंच से अपने उद्बोधन के दौरान पवैया ने मंचासीन दोनों अध्यक्षों को साथ लाया हुआ गंगाजल पिलाकर उनके मुख का शुद्धिकरण किया और फिर यह शपथ दिलाई की वे पूरे संगठन को इस बात के लिए प्रेरित करें कि महाराज और श्रीमंत जैसे सामन्तवाद के प्रतीक शब्दों को बोलना छोड़ दें.



पवैया द्वारा किये गए इस कार्य से एक बात तो जाहिर होती है कि सांसद को श्रीमन्त और महाराज जैसे शब्दों से सम्बोधित करना उन्हें पसंद नही और वे यह दूसरों पर भी थोपना चाहते हैं.
पूर्व में भी पवैया द्वारा सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए थे कि शिलापत्तिका पर और भूमिपुजन के दौरान श्रीमंत शब्द नहीं लिखा दिखना चाहिए. इसके बाद हुए भूमिपूजन के कार्यक्रमो में शिलापत्तिकाओं में श्रीमंत शब्द अंकित करने से सरकारी नुमाइंदे बचते रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज