अपना शहर चुनें

States

MP पुलिस ने दुष्कर्म तब माना जब नाबालिग पीड़िता ने सीएम हाउस से लगाई गुहार

आठवीं क्लास में पढ़ने वाली एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है
आठवीं क्लास में पढ़ने वाली एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है

आठवीं क्लास में पढ़ने वाली एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है

  • Share this:
मध्य प्रदेश के अशोकनगर जिले के बहादुरपुर थाना क्षेत्र के बर्री गांव में आठवीं क्लास में पढ़ने वाली एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म किये जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. करीब 5 दिन पुराने इस मामले में बलात्कार की पीड़िता को आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए सीएम हाउस जाकर गुहार लगानी पड़ी.

सीएम हाउस के अधिकारियों द्वारा हस्तक्षेप करने के बाद पुलिस सक्रिय हुई और आरोपी के खिलाफ बलात्कार और पॉस्को एक्ट की धाराएं बढ़ाई गईं. पुलिस ने पहले इस मामले में पीड़िता द्वारा बलात्कार की शिकायत किये जाने के बावजूद भी छेड़छाड़ की साधारण धाराओं में मामला दर्ज किया था.

पीड़िता और उसके परिजनों के मुताबिक 10 जनवरी की दोपहर को जब पीड़िता अपने घर मे अकेली थी, उसी दौरान ही पड़ोस में रहने वाला दर्शन सिंह अहिरवार ने जबरन घर मे घुसकर पीड़िता के साथ बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया. परिजनों के आने पर आरोपी मौके से फरार हो गया.



घटना के बाद पीड़िता और उसके परिजन गांव से बहादुरपुर थाना पहुंचे और आरोपी की शिकायत की. पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर कार्रवाई करने की बजाए पीड़िता और उसके परिजनों को ही सारी रात थाना परिसर में बैठाए रखा. बच्ची के साथ ठंड ठिठुरते परिजनों को देखकर ग्रामीणों ने घटना की जानकारी अशोकनगर एसपी तिलक सिंह को दी. उनके हस्तक्षेप के बाद बहादुरपुर पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर छेड़छाड़ की साधारण धाराओं में मामला दर्ज कर लिया.
मामला तूल पकड़ने पर बलात्कार एवं पॉस्को एक्ट की धाराएं बढ़ाई गईं. इस संवेदनशील मामले में पुलिसिया लापरवाही को लेकर अशोकनगर एसपी तिलक सिंह से बात की, तो उनका कहना है कि मामले की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से कराई जा रही है, अगर कोई पुलिसकर्मी दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज