सिंधिया को बुलाने पर कॉलेज प्रिंसिपल सस्पेंड, कांग्रेस ने कार्रवाई को बताया दलित विरोधी

Anurag Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 13, 2017, 12:07 PM IST
सिंधिया को बुलाने पर कॉलेज प्रिंसिपल सस्पेंड, कांग्रेस ने कार्रवाई को बताया दलित विरोधी
प्रतीकात्मक तस्वीर
Anurag Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 13, 2017, 12:07 PM IST
मध्य प्रदेश के अशोक नगर जिले के मुंगावली में सरकारी कॉलेज में कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के संबोधन के बाद प्रिंसिपल को हटाने पर बवाल उठ खड़ा हुआ है.

कांग्रेस ने सरकार की कार्रवाई को राजनैतिक द्वेष से प्रेरित बताया है. कांग्रेस ने प्रिंसिपल को हटाने पर सरकार को दलित विरोधी करार दिया है.

कांग्रेस के मुताबिक सांसद के प्रोटोकॉल के नाते सिंधिया शैक्षणिक संस्थाओं में जाने के लिए अधिकृत है और बीजेपी सरकार इसे कांग्रेस का प्रचार बताकर लोगों को गुमराह करने का काम कर रही है.

क्या है पूरा मामला

अशोक नगर जिले के मुंगावली के गणेश शंकर विद्यार्थी कॉलेज में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के छात्र-छात्राओं से संवाद के बाद उच्च शिक्षा विभाग ने पूरे आयोजन को राजनैतिक करार देते हुए प्राचार्य को ही निलंबित कर दिया है.

बुधवार देर शाम जारी आदेश में प्राचार्य बीएल अहिरवार के निलंबन आदेश में उन्हें अशोक नगर से शहडोल अटैच करते हुए उन पर कॉलेज में राजनैतिक दल के जमावड़े समेत राजनैतिक दल का चुनाव चिन्ह वाले आयोजन करने संबंधी आरोप लगाए गए हैं. हालांकि, प्राचार्य ने स्पष्ट किया है कि सिंधिया छात्र-छात्राओं के आमंत्रण पर करियर काउंसलिंग के लिए आए थे.
First published: October 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर