होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Russia-Ukraine War: यहां पिता का रो-रोकर का बुरा हाल, यूक्रेन से कह रही बेटी- चिंता मत करो सब ठीक हो जाएगा

Russia-Ukraine War: यहां पिता का रो-रोकर का बुरा हाल, यूक्रेन से कह रही बेटी- चिंता मत करो सब ठीक हो जाएगा

MP Big News: यूक्रेन पर रूस के हमले के बीच अशोकनगर की ऋषिका खंतवाल फंस गई हैं. उनके परिवार को बेटी के सही सलामत लौट आने की उम्मीद है.

MP Big News: यूक्रेन पर रूस के हमले के बीच अशोकनगर की ऋषिका खंतवाल फंस गई हैं. उनके परिवार को बेटी के सही सलामत लौट आने की उम्मीद है.

MP Big News: यूक्रेन पर रूस के हमले ने अशोकनगर के खंतवाल परिवार को डरा दिया है. परिवार, खास कर पिता अनिल खंतवाल हर वक्त ...अधिक पढ़ें

अशोकनगर. रूस और यूक्रेन के बीच छिड़ी जंग (Russia Ukraine War) का असर मध्य प्रदेश के अशोकनगर जिले में भी हुआ है. यहां एक पिता परेशान है. कहीं कुछ आहट होती है तो उन्हें लगता है कि मोबाइल बज रहा है. मोबाइल रिंग बजते ही उनकी आंखें डबडबा जाती हैं और उनके दिल का हाल अपने आप पता चल जाता है. इस बीच उनकी बहादुर बेटी यूक्रेन से उन्हें हालात भी बता रही है और सबकुछ ठीक होने का ढांढस भी बंधा रही है.

बता दें, ऋषिका खंतवाल की चिंता में उनके पिता अनिल खंतवाल की आंखें पथरा गईं हैं. ऋषिका यूक्रेन के वीन्नित्स्या शहर में उच्च शिक्षा के लिए गई है. उनकी मां का भी रो-रोकर बुरा हाल है. जैसे ही वे बेटी से वीडियो कॉल पर बात करती हैं, तो उन्हें सुकून मिलता है. बाकी समय वो बेटी की चिंता में ही खोई रहती हैं. माता-पिता चाहते हैं कि उनकी बेटी जैसे भी हो भारत लौट आए.

माता-पिता को ढांढस बंधा रही बेटी

गौरतलब है कि अनिल खंतवाल अशोकनगर जिले में शिक्षा विभाग में अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक के पद पर पदस्थ हैं. उन्होंने News18 को बताया कि उनकी बेटी ऋषिका से बात हुई है. ऋषिका ने बताया है कि वहां हालात बेहद खराब हैं. रुक-रुक कर बमबारी-गोलीबारी हो रही है. चीजें महंगी हो गई हैं. हालांकि, ऋषिका यूक्रेन से ही माता-पिता को भी ढांढस बंधा रही हैं कि सब ठीक हो जाएगा. ऋषिका का कहना- मम्मी-पापा आप चिंता न करें, सब ठीक हो जाएगा. हालात खराब हैं, पर सुधर जाएंगे.

पिता को बेटी के सही सलामत आने की उम्मीद

अनिल खंतवाल ने बताया कि बेटी ऋषिका बड़े-बड़े सपने लेकर उच्च शिक्षा के लिए यूक्रेन गई है. उसे या हमें नहीं पता था कि एक दिन दो देशों के बीच जंग होगी और हम फंस जाएंगे. ऋषिका इस वक्त युक्रेन के वीन्नित्स्या शहर में स्थित नेशनल पिरोगोव मेडिकल यूनिवर्सटी (national pirogov memorial medical university) से पढ़ाई कर रही हैं. इस जंग के बाद अब माता-पिता उम्मीद में हैं कि उनकी बच्ची सकुशल देश वापस आ जाएगी. अनिल ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत सरकार और प्रशासन मदद करेगा. वे खुद अपने स्तर पर भी कोशिश कर रहे हैं. उन्हें खुद की बेटी के साथ वहां फंसे सैकड़ों छात्रों की भी फिक्र है.

Tags: Ashoknagar news, Mp news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें