होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /बालाघाट: पिंजरे में नहीं फंसा है अब तक बाघ, कैमरे में नहीं दिखा कोई मूवमेंट, डरे-सहमे हैं ग्रामीण

बालाघाट: पिंजरे में नहीं फंसा है अब तक बाघ, कैमरे में नहीं दिखा कोई मूवमेंट, डरे-सहमे हैं ग्रामीण

बाघ का आतंक इतना कि दिन में भी गाँव में पसरा रहता है सन्नाटा..

बाघ का आतंक इतना कि दिन में भी गाँव में पसरा रहता है सन्नाटा..

Wildlife News: एक हफ्ते पहले खेत में काम कर रही महिला पर एक बाघ ने अचानक से हमला कर दिया था और उसे कई मीटर तक घसीटकर ले ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट : चितरंजन नेरकर

    बालाघाट. इन दिनों वारासिवनी वनपरिक्षेत्र अंतर्गत आने वाले नांदगांव में आज से लगभग एक सप्ताह पूर्व खेत में काम कर रही महिला पर एक बाघ ने अचानक से हमला कर दिया और उसे कई मीटर तक घसीटकर ले गया, जिससे महिला की मौत हो गई थी. इस हादसे के बाद से इस पूरे इलाके में आतंक पसरा है. इलाके के नांदगांव, सिर्रा, नगसर, सिरपुर, बोटेझारी, सेरपार के ग्रामीणों में बाघ को लेकर दहशत में हैं. महिला को अपना शिकार बनाने से पहले इस क्षेत्र में बाघ ने इन गांवों की गायों और बकरियों को अपना शिकार बनाया था.

    जब से बाघ की सूचना ग्रामीणों द्वारा वन विभाग को दी है, तभी से पूरा अमला इस क्षेत्र में लगा हुआ है. जगह-जगह पिंजरे लगाए गए हैं. साथ ही दिन रात तलाशी अभियान भी चलाया जा रहा है. लेकिन अब तक अमले को सफलता नहीं मिल पाई है. अब इन गावों के ग्रामीण और भी घबराए हुए हैं. नतीजतन वे न तो अपने खेतों पर काम करने जा पा रहे हैं और न ही अपने जानवरो को जंगलों में चरने भेज रहे हैं. इतना ही नहीं दिन में भी यहां सन्नाटा पसरा रहता है. दिन में हल्की-फुल्की चहल-पहल भले देखने को मिल जा रही है पर जैसे ही शाम होती है, सब अपने घरों में कैद हो जाते हैं.

    ग्रामीण किसान इंद्रकला ने बताया कि अभी खेती का सीजन है लेकिन बाघ के दहशत की वजह से अब अपने खेत में कमा करने नहीं जा पा रहे है. वनविभाग द्वारा लगातार बाघ को जंगल की ओर भगाने के लिए प्रयास भी किए जा रहे हैं. ग्रामीण रामप्रसाद ने बताया कि जब से बाघ ने महिला पर हमला किया और उसकी मौत हो गई, साथ ही गाय व बकरी को भी अपना शिकार बनाया है, तब से हम अपने जानवरों को जंगल में चरने नहीं भेज रहे हैं और उन्हें घर के अंदर में ही बांध कर रख रहे हैं.

    वारासिवनी वन परिक्षेत्र अधिकारी हर्षित सक्सेना ने बताया कि हमारी टीम लगातार ग्राम सिर्रा, नांदगांव, सेरपार में सर्च अभियान चला रही है. इतना ही नहीं, कुछ स्थानों पर कैमरे भी लगाए गए हैं, लेकिन अभी तक बाघ का कोई मूमेंट नजर नहीं आया है. फिर भी हमारी टीम दिन-रात गश्त कर रही है.

    Tags: Balaghat S12p15, Mp news, Wildlife news in hindi

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें