स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते महिला की नवजात सहित मौत

Shrinivas choudhary | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 12, 2017, 6:26 PM IST
स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते महिला की नवजात सहित मौत
मध्य प्रदेश के बालाघाट में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है. लापरवाही के चलते एक आदिवासी महिला प्रसूता की नवजात सहित मौत हो गई.
Shrinivas choudhary | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 12, 2017, 6:26 PM IST
मध्य प्रदेश के बालाघाट में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है. लापरवाही के चलते एक आदिवासी महिला प्रसूता की नवजात सहित मौत हो गई.

समय पर अस्पताल जाने जे लिए जननी एक्सप्रेस वाहन नही मिला. जैसे तैसे निजी वाहन से अस्पताल पहुँची तो वहाँ पर डॉक्टर नदारत थे जिसके कारण नर्स द्वारा ही डिलेवरी कराई गई लेकिन डिलेवरी के बाद नवजात बच्चे की मौत हो गई. प्रसूता की हालत गंभीर होने के कारण बालाघाट जिला अस्पताल लाते समय प्रसूता की भी मौत हो गई.

कल शाम प्रसूता को डिलेवरी के लिए गढी स्वास्थ्य केंद्र ले जाना था लेकिन कई बार मोबाइल करने के बाद न ही जननी एक्सप्रेस आया न ही एम्बुलेंस. जिसके बाद निजी वाहन से गढ़ी स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहाँ पर डॉक्टर नहीं मिलने से नर्स द्वारा ही डिलेवरी कराया गया. डिलेवरी के बाद बच्चे की मौत हो गई.

प्रसूता की अत्यधिक रक्त स्त्राव होने के कारण हालत गंभीर होने के कारण बैहर स्वास्थ्य केंद्र रेफर कर दिया गया जहाँ पर फिर निजी वाहन से प्रसूता पहुँची लेकिन वहाँ भी कोई डॉ नही मिला. फिर बैहर में भी प्रसूता की दूसरी डिलेवरी कराई गई, लेकिन तब तक प्रसूता की हालत गम्भीर हो गई और आनन फानन में जिला अस्पताल रेफर किया गया लेकिन रास्ते मे ही मौत हो गई.

इस पूरे मामले में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही सामने आई. यदि समय पर एम्बुलेंस मिलता और डॉ द्वारा चेकअप किया जाता तो महिला की जान बच जाती. इस मामले में आशा कार्यकर्ता ने भी डॉ ओर एम्बुलेंस को ही जिम्मेदार ठहराया है.
First published: August 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर