समाधि लेकर प्राण त्यागने का ‘संत’ ने किया दावा, सांसे नहीं रुकी तो लगे नारे- ढोंगी है बाबा

तय समय के अनुसार संत ध्यान लगाकर बैठ गए. लेकिन काफी देर होने के बाद भी जब संत की सांसे चलती रहीं तो लोग ढ़ोंगी बाबा के खिलाफ जमकर नारे लगाने लगे.

News18 Madhya Pradesh
Updated: June 26, 2019, 8:24 AM IST
समाधि लेकर प्राण त्यागने का ‘संत’ ने किया दावा, सांसे नहीं रुकी तो लगे नारे- ढोंगी है बाबा
संत सुबोध दास उर्फ मंगल दास
News18 Madhya Pradesh
Updated: June 26, 2019, 8:24 AM IST
मध्य प्रदेश के बालाघाट में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहां मंगलवार सुबह एक कथित संत ने समाधि लेकर अपने प्राण त्यागने का ऐलान कर दिया. जिसकी खबर आस-पास के इलाके में जंगल की आग की तरह फैल गई. संत के घर के आस-पास हजारों की संख्या में लोग जुट गए. तय समय के अनुसार संत ध्यान लगाकर बैठ गए. लेकिन काफी देर होने के बाद भी जब संत की सांसे चलती रहीं तो लोग ढ़ोंगी बाबा के खिलाफ जमकर नारे लगाने लगे.

जानकारी के मुताबिक जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर हट्टा डूंडासिवनी में कबीर पंथी संत सुबोध दास उर्फ मंगल दास रहते हं. उन्होंने घोषणा किया कि वे मानव कल्याण के लिए समाधि ले रहे हैं. सपने में उनके गुरु आए थे और सुबह 10:15 मिनट पर उनके प्राण त्यागने की प्रक्रिया शुरू होगी.

ढोंगी बाबा और ढोंगी संत के लगे नारे- 

जैसे ही लोगों को पता चला कि संत सुबोध दास उर्फ मंगल दास समाधि लेने वाले हैं. हजारों की संख्या में लोग गांव में संत की समाधि प्रक्रिया देखने आ गए. तय समय से कुछ मिनट पहले संत भी समाधि लेने बैठ गए. लेकिन जब तय समय बीत गया और संत के प्राण नहीं निकले तो कुछ लोगों ने ढोंगी बाबा और ढोंगी संत के नारे लगाने लगे.

ये भी पढ़ें- शराबी पिता ने 4 महीने के बेटे को मां की गोद से छीनकर जमीन पर पटका, मौत

ये भी पढ़ें-सीरियल देख कर भाई-बहनों को डराने के लिए लगाई फांसी, हुई मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बालाघाट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 25, 2019, 4:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...