VIDEO: डॉक्‍टरों की लापरवाही से प्रसूता की मौत का आरोप, हंगामा
Barwani News in Hindi

VIDEO: डॉक्‍टरों की लापरवाही से प्रसूता की मौत का आरोप, हंगामा
महिला की मौत से आक्रोशित परिजन.

परिजनों का आरोप है कि बार-बार अस्पताल में मौजूद स्टाफ और डॉक्टर को महिला की बिगड़ती तबीयत की सूचना दी गई, लेकिन वे हर समय मोबाइल में व्यस्त रहे और दूसरे की ड्यूटी शुरू होने की बात कहकर पेशेंट को देखने से मना करते रहे.

  • Share this:
मध्‍यप्रदेश में बड़वानी के जिला महिला अस्पताल में एक प्रसूता की मौत हो गई. परिजनों ने डॉक्टर और नर्सिंग स्‍टाफ पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया. यह हंगामा घंटों चला. हंगामे के दौरान सिविल सर्जन व स्टाफ के साथ झूमाझटकी भी की गई. एसडीएम सहित पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा और परिजनों को समझाइश देकर उन्‍हें शांत करवाया. पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है.

बड़वानी जिला मुख्यालय पर महिला चिकित्सालय में एक महिला को प्रसव के लिए भर्ती किया गया था. उसने ऑपरेशन के बाद बच्ची को जन्म दिया, लेकिन कुछ ही घंटों के बाद महिला की तबीयत अचानक बिगड़ने लगी. परिजनों का आरोप है कि बार-बार अस्पताल में मौजूद स्टाफ और डॉक्टर को महिला की बिगड़ती तबीयत की सूचना दी गई, लेकिन वे हर समय मोबाइल में व्यस्त रहे और दूसरे की ड्यूटी शुरू होने की बात कहकर पेशेंट को देखने से मना करते रहे. इसी लापरवाही के चलते नवजात को जन्म देने वाली महिला सपना भावसार ने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

इससे आक्रोशित परिजनों ने हॉस्पिटल में रविवार देर रात दो बजे तक हंगामा किया. इस दौरान अस्‍पताल स्टॉफ और सिविल सर्जन के साथ झूमाझटकी भी की गई. सूचना मिलने पर पुलिस और एसडीएम अस्‍पताल पहुंचे और परिजनों को समझाया. परिजनों में इतना आक्रोश था कि वे महिला चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए उसे मारने पर उतारू हो गए थे.



परिजनों ने यह भी आरोप लगाया कि शासकीय अस्पताल होने के बावजूद उनसे दवा और इंजेक्शन बाहर से लाना पड़े. मृतका की बहन ज्योति, जो कि निजी चिकित्सालय इंदौर में कार्यरत है, ने बताया कि अस्पताल में समुचित व्यवस्था नहीं होने पर पेशेंट को रेफर कर दिया जाना था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया, जिससे उनकी बहन की मौत हो गई.
कोतवाली पुलिस ने मामले में मर्ग कायम करते हुए बयान, जांच और पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई करने का आश्वासन दिया. इसके बाद परिजनों ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने की सहमति‍ दी. बहरहाल परिजनों को निष्पक्ष जांच और कार्रवाई का इंतजार है. इस मामले को लेकर जब मीडिया ने अस्पताल प्रबंधन से बात करनी चाही तो अस्पताल प्रबंधन बात करने से बचता रहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज