अवैध संबंध को लेकर बाबा की हुई थी हत्या
Barwani News in Hindi

अवैध संबंध को लेकर बाबा की हुई थी हत्या
अवैध संबंध को लेकर बाबा की हुई थी हत्या

पुलिस ने बाबा की हत्या मामले में संलिप्त महिला, उसके पति और 2 लड़कों को गिरफ्तार कर लिया है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले में बाबा भीमपूरी की हत्या मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. अवैध संबंध बनाते देख महिला के पति और 2 लड़कों ने बाबा की हत्या की थी. बता दें कि हत्या के करीब 25 दिन बाद नर्मदा नदी के किनारे पत्थरों के बीच बाबा की लाश मिली थी. मिली जानकारी के मुताबिक बाबा कई सालों से ग्राम मोरकट्टा में आश्रम बनाकर निवास कर रहा था. वहीं पुलिस ने बाबा के हरियाणा निवासी होने की आशंका जताई है. फिलहाल, पुलिस ने मामले में संलिप्त महिला, उसके पति और 2 लड़कों को गिरफ्तार कर लिया है.

पूरा मामला

महिला की मानें तो बाबा ने उसे प्रेम जाल में फंसाया था. इसी क्रम में अवैध संबंधों के चक्कर में बाबा की हत्या कर दी गई. इतना ही नहीं प्यार के जाल में फंसने वाली महिला बाबा की मौत की वजह बनी. करीब 10 साल पहले ग्राम मोरकट्टा में रहने आए बाबा भीमपूरी ने यहां पर आश्रम बना लिया था. यहां गांव के लोगों का भी आना जाना लगा रहता था. उन्हीं आने जाने वालों में गांव की महिला नानी बाई भी शामिल थी. नानी बाई आश्रम में ही बाबा के लिए खाना भी बनाती थी. धीरे धीरे बाबा ने उस पर अपना प्यार जताना शुरू किया, जिसकी माया जाल में महिला फंस गई और बाबा के साथ अवैध संबंध बना बैठी.



यह सिलासिला लंबे समय तक जारी रहा और एक दिन इस बात की भनक महिला के परिवार वालों को लग गई. इस कारण बाबा कई दिनों तक आश्रम छोड़कर इधर उधर भटकता रहा. फिर घटना वाले दिन बाबा देर रात 12 बजे महिला नानी बाई के घर पहुंचा. तभी महिला का बेटा करण और नाबालिग भाई ने उसे बाबा भीमपूरी के साथ संदिग्ध अवस्था में देख लिया. इस पर दोनों ने बाबा को पकड़ने की कोशिश की, लेकिन बाबा भाग निकला. वहीं इसकी भनक महिला के पति को लगते ही उसने बाबा का पीछा कर उसे धर दबोच लिया. इसके बाद चारों ने मिलकर बाबा की गला घोंटकर हत्या कर दी. इसके बाद लाश को नर्मदा किनारे पत्थरों के बीच ले जाकर फेंक दिया था.
हत्या के करीब 25 दिन बाद पुलिस को एक नरकंकाल मिलने की सूचना मिली. इस पर पुलिस की एफएसएल की टीम ने मौके से साक्ष्य इकट्ठे किए. पुलिस ने पीएम रिपोर्ट का इंतजार किया, साथ ही गांव में चल रही अफवाहों पर भी छानबीन शुरू की. इस बीच पीएम रिपोर्ट आने पर उसमें बाबा की मौत का कारण गला घोंटकर हत्या करना पाया गया.

पुलिस ने तफ्तीश में यह भी पाया कि बाबा का मोबाइल और बाइक दोनों महिला के बेटे द्वारा चलाया जा रहा है. गांव की पंचायत ने बैठकर इन दोनों ही सामान को बाबा के सेवादार को सौंप दिया था. इन सभी तथ्यों को लेकर पुलिस ने जब आरोपी करण, उसकी मां नानी बाई, पिता इलाम सिंह और नाबालिग भाई से पूछताछ की, तो उन्होंने अपना सारा गुनाह कबूल कर लिया.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज