Home /News /madhya-pradesh /

doctor gangaram singoriya claims covid 19 may be treated by artemisia annua plant china who mpns

चीन से पौधा लेकर बड़वानी आए डॉक्टर, क्या कोविड-19 को लेकर वह जो कह रहे हैं, सच है?

Barwani News: बड़वानी के डॉ. गंगाराम सिंगोरिया का कहना है कि चीन का पौधा कोरोना के इलाज में फायदेमंद है.

Barwani News: बड़वानी के डॉ. गंगाराम सिंगोरिया का कहना है कि चीन का पौधा कोरोना के इलाज में फायदेमंद है.

Covid-19 News: बड़वानी के सेंधवा के डॉक्टर गंगाराम सिंगोरिया ने बड़ा दावा किया है. उनका कहना है कि चीन का पौधा 'आर्टीमीसिया अनुआ' कोरोना में भी फायदेमंद है. उन्होंने खुद इसका परिणाम उस वक्त देखा, जब कोरोना काल में कई लोगों को इसका फायदा हुआ. उन्होंने कहा कि जैसे हमारे देश में तुलसी और गिलोय है, वैसे ही चीन में ये पौधा पाया जाता है. इसका इस्तेमाल आयुर्वेदिक थैरेपी में किया जाता है. डॉ. गंगाराम ने चीन से ये पौधा मंगाकर सेंधवा में उगाया है. करीब दो एकड़ जमीन पर ये पौधे लगे हुए हैं.

अधिक पढ़ें ...

बड़वानी. वैश्विक महामारी कोविड-19 ने पूरे विश्व को झकझोर के रख दिया. इसके चलते एक ओर जहां लाखों लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा, तो वहीं कई लोग इलाज कराते-कराते पैसा गंवा बैठे. इस इलाज पर कई देशों में रोज बड़ी रिसर्च की जा रही है. बड़े-बड़े वैज्ञानिकों की इस खोच के बीच सेंधवा के डॉ. गंगाराम सिंगोरिया ने कोरोना के इलाज में फायदा देने वाली दवा खोजने का दावा किया है. ये खोज जुड़ी है चीन के पौधे ‘आर्टीफिशिया अनुआ’ से. जैसे कि हमारे देश में तुलसी और गिलोय जैसे औषधीय पौधे होते हैं, वैसे ही चीन में भी आर्टीफिशिया अनुआ का पौधा होता है. वहां कई तरह के इलाजों में हजारों सालों से इस पौधे का इस्तेमाल किया जा रहा है.

सेंधवा के डॉ. गंगाराम का कहना है कि चीन में इस पौधे से इलाज के अच्छे परिणाम देखने को मिल रहे हैं. उन्होंने बताया कि ये पौधा आयुर्वेदिक थैरेपी में इस्तेमाल होता है. गौरतलब ह कि डॉ. गंगाराम अब इस पौधे को चीन से बड़वानी लेकर आ गए हैं. उन्होंने यहां दो एकड़ से भी ज्यादा इलाके में ये पौधे लगा दिए हैं. वे इसके बीज भी बड़ी मात्रा में संग्रहित कर रहे हैं. इन बीजों की कीमत हजारों रुपये क्विंटल में है. उन्होंने बताया कि इस पौधे की पत्तियों को प्रोसेस कर दवा का निर्माण किया जाता है. उसके बाद ही ये दवा उचित मात्रा में मरीज को दी जाती है. इस दवा के लगातार इस्तेमाल से मरीज जल्द ठीक होने लगता है.

डॉ. ने किया ये दावा
डॉ गंगाराम सिंगोरिया ने यह भी कहा कि यह पौधा कैंसर, मलेरिया, बवासीर, पीलिया जैसी कई बीमारियों पर कारगर है. इसके इस्तेमाल से इन बीमारियों के रोगियों की हालत सुधर गई. आयुर्वेद चिकित्सा से किसी को साइडइफेक्ट नहीं होते है. उन्होंने यहां तक कहा कि कोरोना काल में उन्होंने ये पौधे हजारों लोगों को दिए और लोगों पर इसके अच्छे परिणाम देखने को मिले. डॉ. गंगाराम के मुताबिक, डब्ल्यूएचओ ने भी इसे कोविड में उपयोग करने की सिफारिश की थी. इसे घर के बाहर तुसली के पौधे की तरह लगाया जा सकता है. सर्दी-खांसी होने पर इसका उपयोग करने से फायदा होगा, यह सस्ता और उपयोगी है.

Tags: Mp news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर