फूड पॉइजनिंग मामला: भंडारे में बांटी गई मिठाई दो दिन पहले बनाई गई थी

खाने में दी गई आलू की बर्फी को रविवार को ही बना लिया गया था. जिसका वितरण प्रसादी के रूप मे लगभग 48 घंटे बाद किया था. जिसे खाने से लगभग 500 से अधिक लोगों की तबीयत खराब हो गई थी.

Pankaj Shukla | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 15, 2018, 3:18 PM IST
फूड पॉइजनिंग मामला: भंडारे में बांटी गई मिठाई दो दिन पहले बनाई गई थी
खाने में दी गई आलू की बर्फी को रविवार को ही बना लिया गया था. जिसका वितरण प्रसादी के रूप मे लगभग 48 घंटे बाद किया था. जिसे खाने से लगभग 500 से अधिक लोगों की तबीयत खराब हो गई थी.
Pankaj Shukla | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 15, 2018, 3:18 PM IST
बड़वानी के दही बेड़ा में मंगलावार को आयोजित भंडारे में भोजन के बाद लोगों की तबीयत बिगड़ने के मामले में नई जानकारी सामने आई है.  सीएमएचओ डॉ.वीबी जैन ने बताया कि डाक्टर और फूड विभाग के आला अधिकारियों की एक टीम मौके पर गई थी. जहां आश्रम संचालकों और अन्य लोगों से बातचीत करने पर जानकारी मिली कि खाने में दी गई आलू की बर्फी को रविवार को ही बना लिया गया था. जिसका वितरण प्रसादी के रूप मे लगभग 48 घंटे बाद मंगलवार को किया था.

दूषित मिठाई खाने से लगभग 500 से अधिक लोगों की तबीयत खराब हो गई थी. बीमार लोगों में पुरुष, महिलाओं सहित बड़ी संख्या में बच्चे भी शामिल थे. सीएमएचओ ने बताया कि कुछ घंटों बाद ही आलू व मावे में बैक्टीरिया पनपने लगते हैं. जो घातक साबित हो सकते हैं. ऐसी मिठाइयों का वितरण नहीं करना चाहिए.

गौरतलब है कि मंगलवार को शिवरात्रि के अवसर पर बड़वानी के दही बेड़ा पर भंडारे का आयोजन किया था. जिसमें साबूदाने की खिचड़ी और आलू की मिठाई का वितरण किया गया था. जिसे खाने से करीब 500 से अधिक लोगों की तबीयत बिगड़ गई थी. अधिकांश मरीजों की हालत में अब सुधार बताया जा रहा है
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर