लाइव टीवी

VIDEO: राष्ट्रपिता का अपमान! राजघाट पर जेसीबी मशीन से हटाए अस्थि कलश

Pankaj Shukla | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: July 27, 2017, 12:38 PM IST

सरदार सरोवर बांध की वजह से डूब में आ रहे 'राजघाट' में जेसीबी मशीन से खोदकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, कस्तूरबा गांधी और महादेव भाई देसाई के अस्थि कलश बाहर निकाले गए.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले में डूब प्रभावित इलाके में आ रहे गांधी स्मारक को हटाने पर भारी हंगामा हो गया. सरदार सरोवर बांध की वजह से डूब में आ रहे 'राजघाट' में जेसीबी मशीन से खोदकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, कस्तूरबा गांधी और महादेव भाई देसाई के अस्थि कलश बाहर निकाले गए.

अलसुबह चार बजे की गई इस कार्रवाई की जानकारी मिलने पर नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर और कई कार्यकर्ताओं के अलावा संत समाज के लोग भी राजघाट पर जमा हो गए.

उन्होंने बगैर विधि-विधान का पालन किए जेसीबी मशीन से अस्थि कलश निकाले जाने का विरोध किया. संतों ने सूर्योदय के पहले अंधेरे में अस्थि कलश को हटाने की प्रकिया पूरी करने को भी अनुचित करार दिया.

दरअसल, राजघाट से अस्थि कलश हटाने की बात पर संभावित विरोध को देखते हुए अधिकारियों ने सुबह होने के पहले ही विस्थापन की प्रकिया शुरू कर दी. इसके लिए जेसीबी मशीनों का सहारा लिया गया, लेकिन जैसे ही नर्मदा बचाओ आंदोलन के कार्यकर्ताओं को इस बात की जानकारी मिली, तो हंगामा शुरू हो गया.

मेधा पाटकर ने आरोप लगाया कहा कि प्रशासन ने न तो पंचनामा बनाया और न ही ग्रामसभा में इसका अनुमोदन किया. साथ ही गांधीवादी लोगों को अस्थि कलश हटाए जाने की सूचना भी नहीं दी गई.

भारी हंगामे और विरोध को देखते हुए प्रशासन बैकफुट पर आ गया. दोबारा अस्थि कलश को राजघाट पर ही स्थापित किया गया. पूरे मामले में पुलिस और प्रशासन के अफसरों ने चुप्पी साधते हुए किसी भी तरह की प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बड़वानी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 27, 2017, 12:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर