मेधा पाटकर ने ख़त्म किया अनशन, प्रवासी मज़दूरों के लिए उठायी थीं ये मांगें
Barwani News in Hindi

मेधा पाटकर ने ख़त्म किया अनशन, प्रवासी मज़दूरों के लिए उठायी थीं ये मांगें
बड़वानी में मेधा पाटकर ने अनशन खत्म किया

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है.उन्होंने नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर की मजदूरों के लिए उठायी गयी समस्याओं पर सहमति जताई है

  • Share this:
बड़वानी.नर्मदा बचाओ आंदोलन (narmada bachao andolan) की नेता मेधा पाटकर (medha patkar) ने अपना अनशन खत्म कर दिया है. प्रवासी मज़दूरों (migrant labour) को हक़ दिलाने की मांग के साथ वो बड़वानी में चार दिन से अनशन पर थीं.राज्य और महाराष्ट्र सरकार से सहयोग मिलने के बाद उन्होंने उपवास खत्म किया. पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह (digvijay singh) ने मेधा पाटकर के मुद्दों का समर्थन करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) को चिट्ठी लिखी है.

मेधा पाटकर चार दिन से अनशन पर थीं. इस बार प्रवासी मज़दूरों का मुद्दा था. लॉक डाउन में घर लौट रहे मजदूरों को हक़ दिलाने के लिए वो मुंबई आगरा नेशनल हाइवे 3 पर सेगवाल के पास अनशन पर बैठी थीं. अनशन खोलने के बाद मीडिया से उन्होंने कहा-मजदूरों के लिए राज्यों की सीमाएं बंद कर दी गई थीं आखिरकार उन्हें खोल दिया गया है. महाराष्ट्र सरकार ने भी मज़दूरों को उनके घर लौटने के लिए 10 हजार बसों की व्यवस्था की है. राज्य की सीमाओं से मजदूरों को छोड़ने का काम शुरू कर दिया गया है. उत्तर प्रदेश सीमा पर भी मजदूरों को अंदर लेना शुरू कर दिया गया है. मध्य प्रदेश भी उन्हें यूपी सीमा तक छोड़ रहा है. इसलिए उनकी मांग पूरी हो गयी है.

मेधा पाटकर ने कहा-यूपी और एमपी के अफसरों से उनकी बातचीत हुई है. मज़दूरों के लिए ट्रेन शुरू हो गयी हैं ये बड़ी बात है. यूपी और बिहार के लाखों मजदूर महाराष्ट्र में रोज़गार पाते हैं. लॉकडाउन में रोजगार बंद हैं. ऐसे हालात में सरकार ने उनके सुरक्षित घर वापसी की व्यवस्था कर दी है. यही हमारी मांग थी. मेधा ने सामाजिक कार्यकर्ताओं की ओर से मजदूरों को दी जाने वाली सुविधा और सहयोग की तारीफ की.



महाराष्ट्र सरकार का सहयोग 
मेधा पाटकर ने यह भी बताया कि जिन मुद्दों को लेकर वो उपवास पर बैठी थीं उन सभी मुद्दों पर महाराष्ट्र सरकार ने दखल लेते हुए फोन पर चर्चा की है. मेधा ने यह भी कहा कि उपसभापति नीलम गौड़े और आदिवासी विकास मंत्री के सी पाड़वी ने सभी मुद्दों पर निर्णय लेने और उनमें सामाजिक संगठनों को साथ लेकर काम करने पर समर्थन दिया है. जल्द ही में सर्वदलीय बैठक भी की जाएगी. थाणे, कल्याण, भिवंडी , पनवेल, नासिक जहाँ जहाँ मजदूरो का जत्था है उनके लिए ट्रेन और गाड़ियों की व्यवस्था की जाएगी.

दिग्विजय सिंह की शिवराज को चिट्ठी
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है.उन्होंने नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर की मजदूरों के लिए उठायी गयी समस्याओं पर सहमति जताई है. उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से मजदूरों के हित में शीघ्र आवश्यक कदम उठाने की अपील की है.

ये भी पढ़ें-

दुकान खुलते ही बेटे ने मां से मांगे शराब के लिए पैसे और फिर कर दी हत्या

Lockdown के उल्लंघन पर पुलिस का खौफ, बालकनी से कूदा युवक, जानें फिर क्या हुआ..
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज