MP News: बड़वानी-महाराष्ट्र बॉर्डर पर क्रूजर खाई में गिरी, 8 लोगों की मौत, पीएम मृतकों के परिजनों को देंगे 2 लाख

मध्य प्रदेश-महाराष्ट्र बॉर्डर पर दर्दनाक सड़क हादसा हो गया. इसमें 8 लोगों की मौत हो गई.

Barwani Tragic accident: मध्य प्रदेश-महाराष्ट्र के बॉर्डर पर दर्दनाक सड़क हादसा हो गया. हादसा महाराष्ट्र के नंदुरबार में हुआ. पर्यटकों से भरी जीप खाई में गिर गई. उस वक्त जीप में करीब 26 लोग थे. सभी मृतक बड़वानी जिले के हैं. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने हादसे पर शोक जताया है.

  • Share this:
    पंकज शुक्ला.

    बड़वानी. मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले से सड़क हादसे की दर्दनाक खबर आई है. महाराष्ट्र के पर्यटन स्थल तोरणमाल में 26 सवारियों से भरी टेंपो ट्रैक्स की क्रूजर गाड़ी (MP-14-BD-0767) खाई में 600 फीट नीचे गिर गई. हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई, जबकि 4 अन्‍य घायल हो गए.

    तोरणमाल मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर घटना पर दुख जताया है. उन्होंने प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2 लाख रुपए और घायलों को 50 हजार रुपए देने की घोषणा की है.



    सीएम शिवराज ने जताया शोक

    बता दें, घटना महाराष्ट्र के नंदुरबार में घटी, लेकिन सभी मृतक बड़वानी जिले के हैं. हादसे पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर शोक जताया है. महाराष्ट्र सीमा पर स्थित मध्य प्रदेश के खेतिया क्षेत्र के थाना प्रभारी संतोष सांवले ने बताया कि मृतक और घायल बड़वानी जिले के पाटी थाना क्षेत्र के रहने वाले थे. बड़वानी कलेक्टर और एसपी ने तहसीलदार पानसेमल को टीम के साथ मौके पर भेजा. टीम को वहां के मसावद थाना प्रभारी ने बताया कि घाट की चढ़ाई के वक्त ड्राइवर गाड़ी के गियर समय पर नहीं बदल पाया. इस वजह से गाड़ी रिवर्स जाने लगी. ड्राइवर जीप को नियंत्रित करने की बजाए उससे कूद गया.



    ड्राइवर के कूदने के बाद गाड़ी की छत पर बैठे करीब 10 यात्रियों ने कूदकर जान बचा ली. गंभीर रूप से घायल 3 लोगों को नंदुरबार के अस्पताल में भर्ती किया गया है. एक व्यक्ति को मामूली चोट के चलते मध्य प्रदेश में भर्ती करा दिया गया है. 4 लोग मामूली घायल हैं. पुलिस ने बताया कि ड्राइवर की तलाश जारी है. वह घटना के बाद से ही फरार हो गया है.

    बड़वानी की इस खबर पर भी डालें नजर
    एक ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार कोरोना की तीसरी लहर से बचने की बात कर रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर उनका परिवहन और पुलिस विभाग कोरोना को प्रदेश लाने की तैयारी कर रहा है. दोनों विभागों की नाक के नीचे प्रदेश की बसें रूट बदलकर महाराष्ट्र में प्रवेश कर रही हैं. पुलिसवालों के आगे बसें गांव के रास्तों से निकल जाती हैं और वे सिर्फ ऊपरी पूछताछ करते रह जाते हैं. जबकि, बसों के आवागमन पर 21 जुलाई तक रोक लगाई गई है. प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आदेश की न परिवहन अधिकारी सुन रहे हैं और न पुलिस अधिकारी.

    News 18 की टीम ने मध्य प्रदेश से महाराष्ट्र जा रही बसों की खबर की जांच की तो सच्चाई का पता चला. प्रतिबंध के बावजूद बस ऑपरेटरों ने मुंबई-आगरा नेशनल हाईवे 3(NH 3)को छोड़कर जिले के ग्रामीण इलाकों से महाराष्ट्र जाने का नया रूट बना लिया है. इन बसों में बड़ी सवारियां बैठकर महाराष्ट्र से आना-जाना कर रही हैं. शुक्रवार देर रात भी कई बसें यहां गुजरीं. ये बसें खासकर महाराष्ट्र के पुणे और मुंबई जा रही हैं.  इन ग्रामीण रास्तों से ये RTO बैरियर से भी बच जाती हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.