नर्मदा सत्याग्रह: मेधा पाटकर ने खत्म किया अनशन, 9 सितंबर को CM के साथ होगी चर्चा

Pankaj Shukla | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 3, 2019, 10:33 AM IST
नर्मदा सत्याग्रह: मेधा पाटकर ने खत्म किया अनशन, 9 सितंबर को CM के साथ होगी चर्चा
नर्मदा सत्याग्रह: भोपाल में CM से डूब प्रभावितों पर चर्चा के आश्वासन पर मेधा ने तोड़ा अनशन

नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेत्री मेधा पाटकर समेत अन्य डूब प्रभावितों ने अनशन खत्म कर दिया है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बड़वानी (Barwani) जिले में नर्मदा बचाओ आंदोलन (Narmada Bachao Andolan) की नेत्री मेधा पाटकर (Medha Patkar) समेत अन्य डूब प्रभावितों ने अनशन खत्म कर दिया है. कमलनाथ के प्रतिनिधिमंडल के साथ 3 घंटे तक चले सवाल-जवाब से संतुष्ट होकर उन्होंने अपना अनशन तोड़ दिया है. आगामी 9 सितंबर को भोपाल में डूब प्रभावितों और आंदोलनकारियों के साथ मुख्यमंत्री की बैठक होना तय किया गया है. आंदोलनकारियों का कहना है कि बैठक का नतीजा नहीं निकलने पर मेधा पाटकर समेत डूब प्रभावित भोपाल में ही सत्याग्रह (Satyagrah) शुरू कर देंगे.

नींबू पानी पिलाकर तुड़वाया अनशन

सोमवार रात करीब 10.30 बजे पूर्व मुख्य सचिव शरदचंद्र बेहार (Former Chief Secretary Sharad Chandra Behar) ने नींबू पानी पिलाकर मेधा पाटकर का अनशन खत्म करवाया. पूर्व मुख्य सचिव ने कहा है कि सरदार सरोवर बांध को 139 मीटर तक नहीं भरने और डूब प्रभावितों के पुनर्वास समेत सभी मुद्दों पर भोपाल में 9 सितंबर को सीएम चर्चा करने लिए तैयार हो गए हैं.

मेधा पाटकर-medha patkar
नींबू पानी पिलाकर तुड़वाया अनशन


मिली CM की चिट्ठी

मेधा पाटकर ने पूर्व मुख्य सचिव से मिले इस आश्वासन के बाद अनशन खत्म कर दिया. पूर्व मुख्य सचिव शरदचंद्र बेहार अपने साथ सीएम की एक चिट्ठी भी लेकर आए थे. चिट्ठी में 8 बिंदुओं के तहत सभी का पुनर्वास (Rehabilitation) करने और बांध के गेट खोलने का भरोसा दिलाया गया था.

सर्वे कराएगी सरकार
Loading...

सीएम द्वारा भेजी गई चिट्ठी में यह भी बताया गया है कि पहले घोषित किए अपात्र (Ineligible) परिवारों के प्रकरणों का फिर से सर्वे करवाकर उन्हें पुनर्वास संबंधित लाभ देने के लिए कलेक्टर को निर्देश दिए गए हैं. वहीं, वर्तमान सरकार ने 115 नए परिवारों को पात्र मानकर गुजरात सरकार से 60 लाख रुपए की राशि मांगी है. हालांकि अभी तक राशि नहीं मिली है. सीएम ने लिखा है कि बांध में जल भराव का स्तर नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण (Narmada Control Authority) तय करता है, लेकिन वर्तमान में प्राधिकरण निष्पक्ष रूप से काम नहीं कर रहा है.

किसान संघर्ष समिति ने PM से की मांग

वहीं, किसान संघर्ष समिति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एसडीएम को आवेदन देकर सरदार सरोवर बांध को 122 मीटर तक भरने की मांग की है.

मेडिकल जांच में डॉक्टर ने कहा- चिंता की बात नहीं 

अनशन तोड़ने के बाद डॉक्टर्स की टीम ने मेधा पाटकर की मेडिकल जांच की. डॉक्टर्स ने बताया कि 10 दिनों तक अनशन रखने के कारण पाटकर कमजोर हो गईं हैं, लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है.

ये भी पढ़ें:- मेधा पाटकर ने विजयलक्ष्मी साधौ का निवेदन भी ठुकराया

नर्मदा सत्याग्रह: मेधा पाटकर का 8वें दिन भी अनशन जारी, ठुकराया CM का आग्रह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बड़वानी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 9:31 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...