लाइव टीवी

भाजपा नेता मनोज ठाकरे हत्याकांड का खुलासा, बेटे ही करवाई थी पिता की हत्या

Pankaj Shukla | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 1, 2019, 10:59 AM IST
भाजपा नेता मनोज ठाकरे हत्याकांड का खुलासा, बेटे ही करवाई थी पिता की हत्या
पुलिस द्वारा गिरफ्तार आरोपी

मध्यप्रदेश के बड़वानी में बलवाड़ी भाजपा मंडल अध्यक्ष की हत्या के आरोप में पुलिस ने उनके बेटे दिग्विजय सिंह और उसके करीबी तारचंद को गिरफ्तार किया है. दोनों आरोपियों ने मनोज ठाकरे की हत्या के लिए 5 लाख रुपये की सुपारी दी थी.

  • Share this:
मध्यप्रदेश के बड़वानी में भाजपा नेता मनोज ठाकरे की हत्या का पुलिस ने राजफाश कर दिया है. पुलिस ने मामले में प्रदेश भाजपा कार्यकारिणी के सदस्य ताराचंद राठोड और उनके बेटे दिग्विजय सिंह को गिरफ्तार गिया है. आरोपी बेटा दिग्विजय उर्फ विजय राठौड़ खोखरी गांव का पंचायत सचिव भी है. दोनों ने आपसी रंजिश के चलते बलवाड़ी मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे को मौत के घाट उतारा था. आरोपियों ने 5 लाख रुपये में मनोज की हत्या की सुपारी दी थी. पुलिस ने मामल में पांच अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है और तीन आरोपियों की तलाश जारी है. बड़वानी एसपी यांगचेन डोलकर भूटिया ने इस मामले का खुलासा किया. मामले में ताराचंद राठौड़ के परिजनों ने सीबीआई जांच की मांग की है.

एसपी यांगचेन डोलकर भूटिया ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि 20 जनवरी को मॉर्निंग वॉक के लिए निकले भाजपा नेता मजोज ठाकरे की कुल्हाड़ी मारकर और पत्थर से सिर में वार कर हत्या की गई थी. मामले में पूर्व सीएम शिवराज सिंह से लेकर भाजपा नेताओं ने कांग्रेस सरकार को घेरा था, लेकिन यहां भी मंदसौर की तरह भाजपा के ही कद्दावर नेता हत्या को अंजाम देने वाले निकले. एसपी भूटिया ने बताया कि आपसी रंजिश के चलते दिसंबर 2018 से ही हत्या का षड़यंत्र शुरू हो चुका था. कई बार ताराचंद और मनोज के बेटे विजय ने हत्या को अंजाम देने वाले सुपारी किलरों के बीच बैठक और हत्या को अंजाम देने का प्लान बनता रहा.

यह भी पढ़ें-  बलवाड़ी मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे हत्याकांड का ख़ुलासा, बीजेपी नेता निकला मास्टर माइंड

एसपी भूटिया ने बताया कि हत्या से एक दिन पहले भी आरोपियों ने मनोज की रेकी की थी. आरोपी इतने शातिर थे कि उन्होंने वारदात के बाद पुलिस जांच के बिंदुओं को भी ध्यान में रखा और हत्याकांड को अंजाम दिया. भूटिया ने बताया कि आरोपियों ने घटना को अंजाम देते वक्त अपने मोबाइल अलग-अलग स्थानों पर रख दिए थे, जिससे लोकेशन ट्रेस नहीं हो पाए. इसके बाद आरोपियों ने वारदात के लिए उस स्थान को चुना जहां आस-पास कोई घर न हो और कोई सीसीटीवी भी न हो.

यह भी पढ़ें-  MP: BJP नेता को सिर कुचलकर मारा, 4 दिन में दूसरे भाजपा नेता की हत्‍या

पुलिस ने बताया कि मनोज ठाकरे पर सबसे पहले कुल्हाड़ी से सिर पर वार किया गया था. इसके बाद पत्थर और अन्य हथियारों से उस पर ताबड़तोड़ वार कर उसकी हत्या कर दी. मौके से कोई सबूत और सीसीटीवी व अन्य सुराग नहीं मिलने से पुलिस इस अंधे कत्ल की गुत्थी में उलझ गई. मामले में पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी की सुपारी किलर झगड़िया वारदात के दिन इलाके में दिखाई दिया था. इसके बाद पुलिस ने झगड़िया को हिरासत में लेकर पूछताछ की, जिसके बाद सारा मामला खुल गया. पुलिस ने हत्याकांड के मास्टरमाइंड मनोज ठाकरे के बेटे दिग्विजय सिंह और उसके करीबी ताराचंद को गिरफ्तार कर लिया है.

यह भी पढ़ें-  बड़वानी में भाजपा नेता की हत्या के बाद अब पार्टी के नेता से हुई लाखों की लूट
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

यूनियन बजट 2019 के लाइव अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें....

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बड़वानी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2019, 10:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...