लाइव टीवी

MP: सरकार खरीद रही 6 रुपए किलो प्याज और किसानों को पिलाया जा रहा मुफ्त में छाछ

Pradesh18
Updated: June 12, 2016, 10:33 PM IST
MP: सरकार खरीद रही 6 रुपए किलो प्याज और किसानों को पिलाया जा रहा मुफ्त में छाछ
मध्यप्रदेश में प्याज के दामों में भारी गिरावट के चलते किसानों ने अपनी उपज सड़कों पर फेंकना शुरू कर दी थी. इसके बाद सरकार ने 6 रुपए प्रति किलो के समर्थन मूल्य पर प्याज खरीदना शुरू कर दी. अब प्याज बेचने आने वाले किसान और उसके दो साथियों को छाछ पिलाने के भी निर्देश दिए गए हैं.

मध्यप्रदेश में प्याज के दामों में भारी गिरावट के चलते किसानों ने अपनी उपज सड़कों पर फेंकना शुरू कर दी थी. इसके बाद सरकार ने 6 रुपए प्रति किलो के समर्थन मूल्य पर प्याज खरीदना शुरू कर दी. अब प्याज बेचने आने वाले किसान और उसके दो साथियों को छाछ पिलाने के भी निर्देश दिए गए हैं.

  • Pradesh18
  • Last Updated: June 12, 2016, 10:33 PM IST
  • Share this:
मध्यप्रदेश में प्याज के दामों में भारी गिरावट के चलते किसानों ने अपनी उपज सड़कों पर फेंकना शुरू कर दी थी. इसके बाद सरकार ने 6 रुपए प्रति किलो के समर्थन मूल्य पर प्याज खरीदना शुरू कर दी. अब बड़वानी जिला कलेक्टर ने प्याज बेचने आने वाले किसान और उसके दो साथियों को छाछ पिलाने के भी निर्देश दिए हैं.

कलेक्टर तेजस्वी एस नायक ने प्याज खरीदी केन्द्र का निरीक्षण करते हुए उन्होंने खरीदी केन्द्र पर भीषण गर्मी में छाछ पिलाने के निर्देश खरीदी केन्द्र प्रभारी को दिए. साथ ही खरीदी केन्द्र पर नगर पालिका बड़वानी के सहयोग से चलित शौचालय रखवाने के निर्देश मौके पर ही उपस्थित एसडीएम हृदयेश श्रीवास्तव को दिए. इस दौरान उनके साथ जिला पंचायत सीईओ बी कार्तिकेयन सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे.

निरीक्षण के दौरान दिए गए अन्य निर्देश :-

- खरीदी जा रही प्याज का भण्डार उचित तरीके से किया जाए और नियमित रूप से इसकी छंटाई करवाकर खराब प्याज को अलग-अलग रखा जाए.

- छंटाई के बाद निकलने वाली खराब प्याज का संग्रहण दूर करवाया जाए, जिससे उसका प्रभाव अच्छी प्याज पर नहीं पड़ पाए.
- भण्डार स्थल पर एक्झास्ट फैन 24 घण्टे चालू रखा जाए, जिससे गर्मी में प्याज खराब न होने पाए.
- प्याज बेचने आने वाले किसानों के बैठने के लिए केन्द्र पर कुर्सियों की व्यवस्था की जाए.- प्याज खरीदी केन्द्र पर आवश्यक होने पर और टेण्ट लगवाया जाए. इससे किसान और कर्मी सीधे धूप से बच सकेंगे.
- जिले के दोनों प्याज खरीदी केन्द्र पर पेशाबघर की उचित व्यवस्था हो, अगर पक्का शौचालय नहीं है या दूर है, तो संबंधित नगरपालिका के सहयोग से चलित शौचालय की व्यवस्था कराई जाए.
-खरीदी केन्द्र पर पीने के पानी की पर्याप्त व्यवस्था हो, इसके लिये उचित आकार के घड़े या राजन रखी जाए. साथ ही इन्हें नियमित भरवाने की भी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बड़वानी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 12, 2016, 10:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर