मोबाइल चोरी के शक़ में बच्चे को 5 घंटे तक लगाया करंट और शरीर को पेंचकस से गोद दिया

Rishu Naidu | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 3, 2019, 6:43 PM IST
मोबाइल चोरी के शक़ में बच्चे को 5 घंटे तक लगाया करंट और शरीर को पेंचकस से गोद दिया
बच्चे को 5 घंटे तक करंट लगाया गया

जुआरियों ने बच्चे को उठाया और एक सुनसान जगह ले जाकर बंधक बना लिया. सारे जुआरी बच्चे से लगातार मोबाइल के बारे में पूछते रहे और यातनाएं देते रहे.

  • Share this:
बैतूल.(betul)ज़िले में 13 साल के बच्चे को करंट (current)लगाया गया और फिर पेंचकस से गोद दिया गया. आरोपी उसे अधमरा कर फेंक कर चले गए. बेहोश पड़े बच्चे पर किसी की नज़र पड़ी और तब उसकी जान बच पायी.बच्चे की हालत गंभीर है लेकिन पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर पायी है.

जुआरियों का क़हर-बैतूल ज़िले के छिंदी माथनी गांव में जुआरियों ने 13 साल के बच्चे की ये गत बनायी. जुआरियों को शक़ था कि बच्चे ने उनके मोबाइल फोन चुराए हैं. गांव में कई जुआरी बैठकर जुआ खेल रहे थे. नज़दीक ही ये बच्चा भी खेल रहा था. अचानक किसी ने पुलिस के आने की सूचना दी तो सारे जुआरी उठकर भाग गए. उनमें से कुछ के मोबाइल फोन मौके पर ही छूट गए. पुलिस के जाने के बाद जुआरी वापस लौटे तो उन्हें मोबाइल फोन नहीं दिखाई दिए.

मोबाइल चोरी का शक़-बस जुआरियों को लगा कि उनके फोन इस बच्चे ने चुराए हैं.उन्होंने नज़दीक खेल रहे इस बच्चे को उठाया और एक सुनसान जगह ले जाकर बंधक बना लिया. सारे जुआरी बच्चे से लगातार मोबाइल के बारे में पूछते रहे और उसे यातनाएं देते रहे. बच्चे के मुताबिक आरोपियों ने उसे 5 घंटे तक करंट लगाया. उसके बाद पेंचकश से बुरी तरह मारा. जब वो बेसुध होकर गिर पड़ा तो उसे वहीं छोड़कर आरोपी भाग गए.

मोबाइल चोरी के शक में बच्चे को यातना


रिश्तेदार ने बचाया- बच्चा बेहोशी की हालत में लावारिस पड़ा रहा. किसी रिश्तेदार की नज़र उस पर पड़ी और वो बच्चे को लेकर अस्पताल गए. बच्चे के शरीर पर पेंचकस से सैकड़ों घाव हैं. पुलिस ने अभी तक आरोपियों को गिरफ़्तार नहीं किया है.



ये भी पढ़ें-दिग्विजय सिंह से चर्चा के बाद CM कमलनाथ ने उमंग सिंघार को तलब किया
Loading...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बैतूल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 6:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...