एक गेंद से लेकर IPL मैच की हार-जीत लगाया जा रहा था सट्टा, सटोर‍ियों का रैकेट था पूरी तरह से पेपरलैस

मध्‍य प्रदेश की बैतूल पुलिस ने सटोरियों के एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश किया है

मध्‍य प्रदेश की बैतूल पुलिस ने सटोरियों के एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश किया है

Madhya Pradesh Crime News: आईपीएल के क्रिकेट मैचों से जुड़े एक ऐसे रैकेट का पर्दाफाश मध्‍य प्रदेश की बैतूल पुल‍िस ने क‍िया है जि‍सके तार छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर तक जुड़े हुए हैं. अब देखना होगा क‍ि आगे इस मामले में और क‍ितने लोगों की ग‍िरफ्तारी होती है.

  • Share this:
एक तरफ कोरोना महामारी ने हर तरफ कोहराम मचा रखा है और लोग अपने काम धाम छोड़कर घरों में कैद हैं, लेकिन इस दौरान अपराधियों ने आईपीएल को आपदा में अवसर बना लिया है. मध्‍य प्रदेश की बैतूल पुलिस ने सटोरियों के एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश किया है, जिनके तार बैतूल से छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर तक जुड़े हुए हैं.

पुलिस ने एक टीम बनाकर जिले के अलग अलग हिस्सों में दबिश दी, जिसमें आठ सटोरियों को गिरफ्तार किया गया है जिसमें कुछ हिस्ट्रीशीटर बदमाश और सम्भ्रांत परिवारों के युवक भी शामिल हैं. वहीं तीन आरोपी फरार हो गए हैं. गैंग के सरगना को रायपुर से गिरफ्तार किया गया है, जो बुकी का काम कर रहा था. बताया जा रहा है की इस गैंग द्वारा 17 अप्रैल को हुए मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद के आईपीएल मैच पर लगभग एक करोड़ का सट्टा लगाया गया था, लेकिन इससे पहले ही पुलिस ने सारे सटोरियों को रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया.

बैतूल के एसडीओपी नितेश पटेल ने बताया है क‍ि सटोरियों के पास से पुलिस ने एक लाख रुपये नगद, डिश टीवी, 9 एंड्रॉइड फोन और लगभग एक करोड़ का हिसाब किताब बरामद किया है. पुलिस के मुताबिक, सटोरियों का रैकेट पूरी तरह पेपरलैस डिजिटल काम कर रहा था. आईपीएल मैच के दौरान एक गेंद से लेकर हार जीत तक पर सट्टा लगाया जाता था.

उन्होंने इस गैंग में ऐसे भी कुछ आरोपी हैं, जो समाजसेवा की आड़ में सफेद कॉलर बने हुए हैं लेकिन इनका असली काम सट्टे का नेटवर्क है. फिलहाल किसी भी आरोपी को जमानत पर नहीं छोड़ा गया है और मामले की जांच जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज