लाइव टीवी

आदिवासी लोकनृत्य के साथ हेडमास्‍टर को दी गई विदाई, सभी की हो गई आंखें नम

News18 Madhya Pradesh
Updated: November 30, 2019, 12:17 PM IST
आदिवासी लोकनृत्य के साथ हेडमास्‍टर को दी गई विदाई, सभी की हो गई आंखें नम
पंढरीढाना प्राइमरी स्कूल के हेडमास्टर तुकाराम सेवतकर को मिली शानदार विदाई.

बैतूल जिले (Betul District) के पंढरीढाना गांव में एक शिक्षक को रिटायरमेंट पर ग्रामीणों ने बेहद अनूठे और शाही अंदाज में विदाई दी. हेडमास्टर तुकाराम सेवतकर (Tukaram Sevatkar) भी अपनी विदाई से भावुक नजर आए.

  • Share this:
बैतूल. मध्‍य प्रदेश के बैतूल जिले (Betul district) के पंढरीढाना गांव में एक शिक्षक को रिटायरमेंट पर ग्रामीणों ने बेहद अनूठे और शाही अंदाज में विदाई दी, जो हर किसी को नसीब नहीं होती. प्रभातपट्टन ब्लॉक के पंढरीढाना प्राइमरी स्कूल (Pandharidhana Primary School) के हेडमास्टर तुकाराम सेवतकर (Tukaram Sevatkar) पिछले 10 सालों से हेडमास्टर के पद पर थे और 29 नवंबर को वो रिटायर हुए. शिक्षा के प्रति अपनी लगन, बच्चों और ग्रामीणों के बीच अपनी साफ सुथरी लोकप्रिय छवि रखने के चलते उन्‍हें हर कोई मिसाल के रूप में देखता था और इसी के चलते पूरे गांव ने मिलकर अपने चहेते हेडमास्टर को यादगार विदाई देने का फैसला लिया.

ऐसे मिली यादगार विदाई
29 नवंबर के दिन गांव में जैसे ही शिक्षक तुकाराम सेवतकर पहुंचे तो उनका शाही स्वागत हुआ. उन्हें सिर पर साफा बांधकर घोड़ी पर बैठाया गया और घोड़ी के सामने महिलाएं पुरुष और बच्चे ढोल नगाड़ों की गूंज पर पारम्परिक आदिवासी लोकनृत्य कर रहे थे. मजेदार बात ये है कि पूरा गांव जश्न में शामिल हुआ. ये जुलूस गांव के प्राइमरी स्कूल पर खत्म हुआ जिसके बाद ग्रामीणों ने बाकायदा एक विदाई कार्यक्रम आयोजित कर शिक्षक तुकाराम सेवतकर की विदाई को यादगार बना दिया.

...जब रोने लगे लोग

जैसे जैसे हेडमास्‍टर की विदाई का कार्यक्रम आगे बढ़ रहा था वैसे वैसे ना सिर्फ बच्‍चे बल्कि गांव के लोगों की आंखें नम हो गई. यकीनन कैसे एक योग्य और कर्मठ शिक्षक को सेवा का सम्मान मिलता है, इसकी मिसाल बैतूल जिले के पंढरीढाना गांव में देखने को मिली है.

(रिपोर्ट-आर नायडू)

ये भी पढ़ें-
Loading...

कलयुग के 'श्रीकृष्ण' का बयान, कहा- आज की राजनीति में मेरी नहीं अर्जुन की जरूरत

ज्योतिरादित्य ने बदला Twitter स्टेटस, कांग्रेस नेता की जगह लिखा पब्लिक सर्वेंट!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बैतूल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 12:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...