• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • शर्मनाक: 'ठेकेदार को 2 लाख दो या लड़की उसके हवाले कर दो,' MP में पंचायत ने सुनाया फरमान

शर्मनाक: 'ठेकेदार को 2 लाख दो या लड़की उसके हवाले कर दो,' MP में पंचायत ने सुनाया फरमान

Betul News: बैतूल जिले में आदिवासी लड़की को बेचने-खरीदने का मामला सामने आया है. इस पर पंचायत ने हैरान करने वाला फैसला दिया है.

Betul News: बैतूल जिले में आदिवासी लड़की को बेचने-खरीदने का मामला सामने आया है. इस पर पंचायत ने हैरान करने वाला फैसला दिया है.

Madhya Pradesh: बैतूल जिले से हैरान करने वाला और शर्मनाक मामला सामने आया है. यहां एक आदिवासी लड़की को घरवालों ने ठेकेदार को बेच दिया. ठेकेदार लड़की को लेने गांव पहुंच गया. पंचायत का कहना है कि या तो ठेकेदार को उसके 2 लाख रुपये लौटा दो या लड़की उसे दे दो.

  • Share this:

बैतूल. मध्य प्रदेश के बैतूल जिले से शर्मनाक खबर है. यहां चाची-चाची ने अपनी आदिवासी भतीजी को केरल के एक ठेकेदार को 2 लाख रुपये में बेच दिया. ठेकेदार ने लड़की से साथ कई दिनों तक ज्यादती की. लड़की वहां से भागकर घर आ गई. अब ठेकेदार और लड़की के बीच का मामला बैतूल की पंचायत में पहुंच गया है.

पंचायत ने अजीबो-गरीब फरमान सुनाया है. पंचायत का लड़की के घरवालों से कहना है कि या तो ठेकेदार को उसके 2 लाख रुपये लौटा दो या लड़की को उसे दे दो. मामला जिले के भीमपुर गांव का है. बैतूल डीएसपी पल्लवी गौर का कहना है कि इस मामले की जांच की जा रही है. युवती के परिजनों ने पुलिस से मदद मांगी है. पुलिस पहले मामले की जांच करेगी, फिर FIR करेगी.

भाई को केरल बुलाकर मौके से भागी लड़की

भीमपुर में पंचायत के इस फरमान के बाद आदिवासी युवती को अपनी जिंदगी बचाने छिपना पड़ रहा है. पीड़ित युवती के भाई ने बताया कि लड़की अपने रिश्ते में चाचा-चाची के साथ मजदूरी करने केरल गई थी. यहां रिश्तेदारों ने उसे जबरदस्ती एक ठेकेदार के हवाले कर दिया. ठेकेदार ने युवती के साथ कई बार ज्यादती की और उसे बंधक बनाकर रखा. युवती ने पुलिस को बताया कि एक दिन मौका पाकर उसने अपने भाई को केरल बुलाया और उसके साथ भागकर बैतूल आ गई.

पंचायत ने मानी ठेकेदार की बात

युवती की तलाश में ठेकेदार भी बैतूल में गांव तक पहुंच गया. मामला पंचायत में पहुंचा तो ठेकेदार ने बताया कि उसने युवती  के परिजनों को 2 लाख उधार दिए थे. इसलिए उसे रुपये या लड़की में से एक चीज चाहिए. पंचायत ने ठेकेदार की बातों पर यकीन कर लिया और परिवारवालों से कहा कि या तो ठेकेदार को उसके दो लाख रुपये लौटा दें या फिर लड़की उसके हवाले कर दें. कानून की मदद लेने की बजाय पंचायत ने खुद ही फैसला सुना दिया. अब युवती और उसके परिजन पुलिस से मदद मांग रहे हैं. युवती को फिलहाल छिपा कर रखा गया है. युवती के परिजन ठेकेदार से रुपये लेने से इनकार कर रहे हैं.

पहली बार पंचायत ने सुनाया ऐसा फैसला

गौरतलब है कि बैतूल जिले से हर साल मजदूरी के लिए सैकड़ों बालिग-नाबालिग लड़कियां दूसरे राज्यों में जाती हैं. इनमें से कई कई लड़कियों के साथ ज्यादती होती है. कई लड़कियों को बंधक बनाकर भी रखा जाता है. लेकिन, एक बाहरी शख्स की बात पर कोई पंचायत अपने गांव की बेटी के लिए ये फैसल सुनाएगी, ऐसा पहली बार हुआ है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज