बच्चे को सांप ने काटा, बाढ़ के चलते 24 घंटे बाद ​खाट पर ले गए अस्पताल

बैतूल में भीमपुर ब्लॉक के खुज्जुढाना गांव में एक 12 साल के मासूम को खटिया पर लेटाकर अस्पताल ले जाना पड़ा. इस बच्चे को सांप ने काटा है.

Rishu Naidu | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 11, 2019, 2:03 PM IST
Rishu Naidu | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 11, 2019, 2:03 PM IST
बैतूल में भीमपुर ब्लॉक के खुज्जुढाना गांव में एक 12 साल के मासूम को खटिया पर लेटाकर अस्पताल ले जाना पड़ा. इस बच्चे को सांप ने काटा है. सूचना देने के बाद भी जब एंबुलेंस 30 घंटे तक नहीं पहुंचा तब परिजनों को मासूम को खटिया पर लेटाकर अस्पताल ले जाना पड़ा. इस बरसात में एंबुलेंस का पहुंचना भी मुश्किल था. भारी बारिश के कारण उफन रही घोघरा नदी एंबुलेंस का रास्ता रोक लेती. साथ ही गांव में कोई पक्की सड़क भी नहीं है. यानि ऐसे समय में किसी भी बीमार व्यक्ति को इसी तरह खटिया पर लेटाकर अस्पताल ले जाया जाता है. बता दें कि ऐसी विपरीत परिस्थिति का सामना केवल किसी बीमार व्यक्ति को नहीं करना पड़ता है बल्कि इलाके के आम जन रोज किया करते हैं.

एक दिन पूर्व बच्चे को सांप ने डस लिया था. लेकिन इलाके में बहुत ज्यादा बाढ़ होने के कारण उस दिन मरीज को अस्पताल नहीं ले जाया जा सका.


मरीज को अस्पताल ले जा रहे ग्रामीण सुंदर बारस्कर ने कहा कि एक दिन पूर्व बच्चे को सांप ने डस लिया था. लेकिन इलाके में बहुत ज्यादा बाढ़ होने के कारण मरीज को अस्पताल नहीं ले जाया जा सका. इसलिए अब आज ले जाया जा रहा है, क्योंकि, नदी में पानी कम हो गया है. उन्होंने कहा कि इस तरह की परिस्थिति इससे पूर्व भी उत्पन्न हुई है. ऐसी परिस्थिति में गर्भवती महिला को अस्पताल ले जाना बहुत कठिन होता है.

ग्रामीणों ने सड़क और पुल की मांग की

आधा दर्जन गांवों के स्कूली बच्चे , ग्रामीण इसी तरह पहाड़ी रास्तों और नदियों को पार करके रोज अपने मुकाम तक पहुंचते हैं.


वहीं नदी पार कर स्कूल जाने वाली छात्रा अंजली उइके ने कहा कि प्रशासन से मांग है कि उसके क्षेत्र में जल्द-से-जल्द अच्छी सड़क के साथ ही नदी पर पुल का निर्माण किया जाए.

बता दें कि इस इलाके के तकरीबन आधा दर्जन गांवों के स्कूली बच्चे , ग्रामीण इसी तरह पहाड़ी रास्तों और नदियों को पार करके रोज अपने मुकाम तक पहुंचते हैं. कई बार तो इनके गांव हफ्तों तक टापू बने रहते हैं. स्वास्थ्य सुविधाएं, सड़क, पुल रपटे, बिजली, साफ पानी और विकास जैसी मूलभूत सुविधाओं से पूरी तरह महरूम भीमपुर ब्लॉक के इस क्षेत्र में हर साल ग्रामीण मूलभूत सुविधाओं की मांग करते हैं. लेकिन आज तक इन्हें केवल आश्वासन ही मिलते रहे हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें - नेहरू पर दिए बयान पर कांग्रेस ने शिवराज को बताया 'मूर्ख'

ये भी पढ़ें - गुजरात के मोरबी में दीवार ढहने से झाबुआ के 8 लोगों की मौत
First published: August 11, 2019, 1:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...