MP News: अब वैक्सीनेशन स्लॉट बुकिंग में दलाली, एक स्लॉट से 1000 रुपये तक की वसूली!

वैक्सीन स्लॉट बुकिंग बेचने के आरोपी.

वैक्सीन स्लॉट बुकिंग बेचने के आरोपी.

Betul News: दवाओं की कालाबाज़ारी, बेड और ऑक्सीजन दिलाने के लिए एजेंटों के सक्रिय होने की खबरों के बीच वॉट्सएप पर ग्रुप बनाकर वैक्सीन स्लॉट बुकिंग में दलाली करने के आरोपी दो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

  • Share this:

बैतूल. कोरोना महामारी, मौतों, दवाओं, ऑक्सीजन सिलिंडर की कालाबाजारी (Black Marketing) की खबरें अब पुरानी हो चुकी हैं, ताजा खबर यह है कि मध्य प्रदेश में अब वैक्सीनेशन की स्लॉट बुकिंग में संगठित अपराध शुरू हो चुका है. जी हां, जैसे रेलवे रिज़र्वेशन का समय खुलते ही बड़ी संख्या में रिज़र्वेशन बुकिंग हो जाती है, ठीक उसी तरह वैक्सीनेशन के लिए सरकार ने स्लॉट की मुफ्त व्यवस्था की है. यह व्यवस्था भी दलाली की भेंट चढ़ गई है और लोगों को अब इसकी कीमत अदा करनी पड़ रही है.

18 से 44 साल की उम्र के युवाओं को इन दिनों वैक्सीनेशन के लिए स्लॉट बुकिंग में काफी परेशानी हो रही है. बैतूल में ऐसे संगठित गिरोह इस काम में उतर आए हैं, जो वैक्सीनेशन के स्लॉट खुलते ही सारे स्लॉट बुक कर लेते हैं. इस काम के लिए आरोपियों ने बाकायदा वॉट्सएप ग्रुप बना लिये हैं और हर स्लॉट की बुकिंग के एवज़ में 800 से 1000 रुपये तक वसूल रहे हैं.

Youtube Video

ये भी पढ़ें : UP ने ग्लोबल टेंडर किया आसान, फाइज़र, मॉडर्ना के लिए बना रास्ता
कैसे हुआ खुलासा और गिरफ्तारी?

बैतूल पुलिस ने इस गोरखधंधे में लिप्त बैतूल निवासी दो आरोपियों को गिरफ्तार किया. दिनेश कलमे और नरेंद्र यादव नाम के दोनों आरोपियों ने वैक्सीन स्लॉट अवेलेबल नाम से वॉट्सएप ग्रुप बना रखा था, जिसके माध्यम से वो स्लॉट बुक करके पैसे कमा रहे थे, जबकि ये बुकिंग बिल्कुल मुफ्त और आसान है.

madhya pradesh news, vaccination in madhya pradesh, vaccine slot booking. black marketing in madhya pradesh, मध्य प्रदेश न्यूज़, मध्य प्रदेश समाचार, मध्य प्रदेश में वैक्सीनेशन, वैक्सीन स्लॉट बुकिंग
बैतूल स्थित गंज पुलिस थाना भवन.



ज़िला टीकाकरण अधिकारी को जब इस वॉट्सएप ग्रुप की सूचना मिली तो उन्होंने पुलिस को इस बारे में बताया. पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया. आरोपियों से पूछताछ जारी है और पुलिस ने इन पर आईपीसी समेत आपदा प्रबंधन एक्ट व राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के उल्लंघन संबंधी मामले दर्ज किए गए हैं. आरोपियों के नेटवर्क और अब तक की गई वसूली के बारे में तफ्तीश की जा रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज